Home /News /business /

reforms in income tax department strengthening of economy led to record tax collections cbdt chairman nodvkj

CBDT के चेयरमैन बोले- आईटी डिपार्टमेंट में सुधार और इकोनॉमी में मजबूती से हुआ रिकॉर्ड टैक्स कलेक्शन

चालू वित्त वर्ष में इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने रिकॉर्ड टैक्स कलेक्शन किया है.

चालू वित्त वर्ष में इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने रिकॉर्ड टैक्स कलेक्शन किया है.

टैक्स कलेक्शन पर प्रभाव डालने वाले डिपार्टमेंट्स में किए गए सुधारों से भी कलेक्शन बढ़ा है. महापात्र ने कहा कि ऐसे कई नीतिगत उपाय हैं, जो बजट में या बजट के बाहर उठाए गए हैं और अब इन उपायों का 'प्रभाव' या 'लाभ' अब दिख रहा है.

नई दिल्ली. सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्ट टैक्सेज (CBDT) के चेयरमैन जेबी महापात्र ने कहा कि सरकार के इनकम टैक्स डिपार्टमेंट (Income Tax Department) में सुधार और घरेलू इकोनॉमी को ‘मजबूत’ करने के निणर्यों से रिकॉर्ड डायरेक्ट टैक्स कलेक्शन (Direct Tax Collections) हुआ है. उन्होंने कहा कि कोविड-19 से प्रभावित इकोनॉमी संबंधित आशंकाओं को खारिज कर दिया गया और टैक्स का पेमेंट करने के लिहाज से कंपनियों ने चालू वित्तीय वर्ष 2021-22 के दौरान अच्छा प्रदर्शन किया.

महापात्र ने कहा, ‘यह कहना बहुत मुश्किल होगा कि अगले साल स्थिति कैसी होंगी लेकिन यह कहने के लिए कोई जगह नहीं है कि अच्छा समय केवल चार तिमाहियों तक रहता है.’ उन्होंने बातचीत के दौरान रिकॉर्ड टैक्स कलेक्शन के कारणों का भी जिक्र किया. उन्होंने कहा, ‘सबसे पहले भारतीय इकोनॉमी को मजबूत करना है. इकोनॉमी जितनी अच्छी होगी, टैक्स कलेक्शन उतना ही अच्छा होगा, जो अभी हो रहा है.’

ये भी पढ़ें- अब टाटा ग्रुप भी करेगा अपना डिजिटल पेमेंट ऐप लॉन्च, Google Pay और Paytm जैसे ऐप को मिलेगी टक्कर

डिपार्टमेंट्स में किए गए सुधारों से भी बढ़ा है कलेक्शन

टैक्स कलेक्शन पर प्रभाव डालने वाले डिपार्टमेंट्स में किए गए सुधारों से भी कलेक्शन बढ़ा है. महापात्र ने कहा कि ऐसे कई नीतिगत उपाय हैं, जो बजट में या बजट के बाहर उठाए गए हैं और अब इन उपायों का ‘प्रभाव’ या ‘लाभ’ अब दिख रहा है. टैक्स कलेक्शन में वृद्धि का तीसरा कारण विभाग के भीतर सुधार की दिशा में पिछले चार वर्ष से उठाए जा रहे कदम हो सकते हैं.’

आईटी डिपार्टमेंट में टेक्नोलॉजी शामिल

महापात्र ने कहा, ‘चौथा कारण छोटा लेकिन महत्वपूर्ण है और यह इनकम टैक्स डिपार्टमेंट में टेक्नोलॉजी शामिल करने से संबंधित है.’

ये भी पढ़ें- P&O Ferries : अब इस कंपनी ने जूम कॉल पर निकाले 800 कर्मचारी, Better.com की दिलाई याद

रेगुलर असेसमेंट टैक्स से आए 54,000-55,000 करोड़ रुपये

उन्होंने बताया कि 13.63 लाख करोड़ रुपये से अधिक के टैक्स कलेक्शन (16 मार्च को) में से केवल 54,000-55,000 करोड़ रुपये ही रेगुलर असेसमेंट टैक्स (Regular Assessment tax) से आया है.  सीबीडीटी चेयरमैन ने कहा शेष कलेक्शन स्वैच्छिक अनुपालन (Voluntary Compliance) के माध्यम से आ रहा है और ऐसा इसलिए हो रहा है क्योंकि टैक्सपेयर्स उन्हें मिल रही वित्तीय जानकारी से सशक्त हो रहे हैं.

Tags: Direct tax, Income tax, Income tax department

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर