रिलायंस देशभर में कोविड एंबुलेंस को 30 जून तक देगी मुफ्त डीजल, गुरुग्राम में शुरू किया मोबाइल फ्यूल बाउचर

Reliance ने कोविड एंबुलेंस को मुफ्त डीजल योजना के तहत ग्ररुग्राम में मोबाइल फ्यूल बाउजर की शुरुआत की है.

Reliance ने कोविड एंबुलेंस को मुफ्त डीजल योजना के तहत ग्ररुग्राम में मोबाइल फ्यूल बाउजर की शुरुआत की है.

रिलायंस फाउंडेशन (Reliance Foundation) और रिलायंस बीपी मोबिलिटी लिमिटेड (Reliance BP Mobility Ltd.) की पहल के तहत पूरे देश में कोविड एंबुलेंसों (Covid Ambulances) को 31 जून 2021 तक मुफ्त डीजल (Free Diesel) मुहैया कराया जाएगा. योजना के तहत मई 2021 में 21,080 एंबुलेंस को कुल 7.30 कोड़ रुपये मुफ्त ईंधन उपलब्‍ध कराया जा चुक है.

  • Share this:

नई दिल्‍ली. कोरोना संकट के बीच रिलायंस इंडस्‍ट्रीज लिमिटेड (RIL) देशभर में अलग-अलग तरह से मदद मुहैया करा रही है. इसी कड़ी में रिलायंस फाउंडेशन (Reliance Foundation) और रिलायंस बीपी मोबिलिटी लिमिटेड (RBML) ने मई 2021 में देशभर के अपने पेट्रोल पंपों से कोविड एंबुलेंसों (Covid Ambulances) को मुफ्त डीजल (Free Fuel) उपलब्‍ध कराने की योजना शुरू की थी. अब इस पहल के तहत गुरुग्राम (Gurugram) के सेक्‍टर-9 में बसई रोड पर गवर्नमेंट पीजी कॉलेज के पास मोबाइल फ्यूल बाउजर (Mobile Fuel Bowser) खड़ा किया गया है. दरअसल, गुरुग्राम में कंपनी के फ्यूल स्‍टेशन शहर की सीमा के बाहर हैं. ऐसे में कोविड सेवाओं के लिए तैनात आपातकालीन वाहनों के लिए योजना का विस्‍तार करने के लिए मोबाइल फ्यूल बाउजर का गठन किया गया है.

रिलायंस फाउंडेशन और आरबीएमएल की इस पहल के तहत मई 2021 में 21,080 कोविड आपातकालीन वाहनों को कुल 7.30 करोड़ रुपये का मुफ्त ईंधन उपलब्‍ध कराया जा चुका है. इस दौरान कोविड एंबुलेंसों में करीब 811.07 किलोलीटर ईंधन फ्री में डाला गया. यह कार्यक्रम 30 जून 2021 तक चलेगा. वहीं, जरूरत महसूस किए जाने पर इस योजना को आगे भी बढ़ाया जा सकता है. योजना के तहत हर दिन 50 से 60 किलोलीटर मुफ्त ईंधन आपातकालीन वाहनों को उपलब्‍ध कराए जाने की उम्‍मीद की जा रही है. इस योजना के तहत निजी और सरकारी अस्‍पतालों के रजिस्‍टर्ड आपातकालीन वाहन देशभर में रिलायंस के 1,421 फ्यूल स्‍टेशनों से बिना कोई भुगतान किए ईंधन भरा सकते हैं.

ये भी पढ़ें- भारत में Cryptocurrency खरीदने पर नहीं है रोक! RBI ने कहा- केवाईसी समेत सभी नियमों का सख्‍ती से पालन करें बैंक

ये सभी वाहन भरवा सकते हैं मुफ्त ईंधन
>> सरकारी और निजी अस्‍पताल के वाहन, जिनमें कोविड-19 के मरीजों को लाने-ले जाने में इस्‍तेमाल होनी वाली एंबुलेंस भी शामिल हैं.

>> मेडिकल ऑक्‍सीजन को ढोने वाले सरकारी और निजी वाहन इस योजना का फायदा ले सकते हैं.

>> कोविड देखभाल के लिए आपातकालीन सेवा पर मुख्‍यमंत्री कार्यालय की ओर से तैनात सभी अधिकृत वाहन.



'हम 24 घंटे काम कर रहे लोगों के सहयोग के लिए प्रतिबद्ध'

रिलायंस बीपी मोबिलिटी लिमिटेड की ओर से कहा है कि महामारी को एक साल से ज्‍यादा समय हो चुका है. फिर भी इसका काफी बुरा असर लोगों पर नजर आ रहा है. ऐसे में हम देश की हरसंभव मदद करने के लिए प्रतिबद्ध हैं. हम अपने संसाधनों का इस्‍तेमाल स्‍वास्‍थ्‍य सेवाओं के साथ ही हर उस व्‍यक्ति के सहयोग के लिए करेंगे, जो इस मुश्किल वक्‍त में देशवासियों की सुरक्षा के लिए चौबीसों घंटों काम कर रहे हैं. कोरोना संकट के बीच रिलायंस ने ऑक्‍सीजन आपूर्ति, कोविड अस्‍पताल तैयार करने से लेकर हरसंभव मदद उपलब्‍ध कराने की कोशिश की है.

ये भी पढ़ें- Paytm का शेयर 21 हजार रुपये के पार पहुंचा, जानें IPO आने से पहले ग्रे मार्केट में कैसे बिक रहे हैं कंपनी के स्‍टॉक

अस्‍पताल बनाने और ऑक्‍सीन आपूर्ति का भी उठाया बीड़ा

रिलायंस फाउंडेशन ने अप्रैल 2021 में अचानक बढ़े संक्रमण के मामले और अस्‍पतालों की कमी को देखते हुए महाराष्‍ट्र ही नहीं गुजरात में भी हॉस्पिटल बनाने का बीड़ा उठाया. यही नहीं, अब तक रिलायंस हजारों मीट्रिक टन ऑक्‍सीजन की आपूति कोविड से बुरी तरह प्रभावित कई राज्‍यों को कर चुकी है. बता दें कि कंपनी ऑक्‍सीजन आपूर्ति मुफ्त करने के साथ ही राज्‍यों से ढुलाई भी नहीं ले रही है. खास बात यह है कि इन अस्पतालों में इलाज की सुविधाएं मुफ्त देनी का ऐलान किया गया.

(डिस्क्लेमर- नेटवर्क18 और टीवी18 कंपनियां चैनल / वेबसाइट का संचालन करती हैं, जिनका नियंत्रण इंडिपेंडेट मीडिया ट्रस्ट करता है, जिसमें रिलायंस इंडस्ट्रीज एकमात्र लाभार्थी है.)

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज