Future के साथ हुई डील के बाद रिटेल मार्केट की बादशाह कंपनी बन जाएगी Reliance!

Future के साथ हुई डील के बाद रिटेल मार्केट की बादशाह कंपनी बन जाएगी Reliance!
Future के साथ हुई डील के बाद रिटेल मार्केट की बादशाह कंपनी बन जाएगी Reliance

फ्यूचर ग्रुप (Future Group) से डील के बाद रिलायंस इंडस्ट्रीज (Reliance Industries) की ताकत बढ़ना तय है. क्योंकी इस डील से ऑर्गेनाइज्ड रिटेल बिजनेस में दूसरे नंबर पर मौजूद कंपनी के मुकाबले रिलायंस रिटेल सात गुना बड़ी हो जाएगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 31, 2020, 7:21 PM IST
  • Share this:
मुंबई: फ्यूचर ग्रुप (Future Group) से डील के बाद रिलायंस इंडस्ट्रीज (Reliance Industries) की ताकत बढ़ना तय है. क्योंकी इस डील से ऑर्गेनाइज्ड रिटेल बिजनेस में दूसरे नंबर पर मौजूद कंपनी के मुकाबले रिलायंस रिटेल सात गुना बड़ी हो जाएगी. लाइफस्टाइल और अपैरल रिटेलिंग में यह इस क्षेत्र की सभी पांच सूचीबद्ध कंपनियों के मुकाबले पांच गुनी होगी.

अब रिटेल बाजार में रिलायंस की हिस्सेदारी 30 फीसदी होगी
रिलायंस रिटेल 1,62,936 करोड़ रुपये की बिक्री के साथ पहले से इलेक्ट्रॉनिक्स, एफएमसीजी और अपैरल क्षेत्र की सबसे बड़ी कंपनी है. फ्यूचर ग्रुप के 30,000 करोड़ रुपये के रेवेन्यू को जोड़ देने पर रिलायंस रिटेल की बिक्री 1,93,000 करोड़ रुपये पहुंच जाएगी. इस तरह देश के संगठित रिटेल बाजार में इसकी हिस्सेदारी 30 फीसदी हो जाएगी. देश का रिटेल बिजनेस 89 अरब डॉलर का है.

ये भी पढ़ें:- चीन के साथ सीमा पर तनाव के बीच छह महीने के हाई से फिसला रुपया, आप होगा ये असर
इस डील में फ्यूचर ग्रुप को सलाह देने वाली मेट्टा कैपिटल एडवाइजर्स के संस्थापक पंकज जाजू ने ET को बताया कि यह बेमिसाल ट्रांजेक्शन है, क्योंकि यह देश के रिटेल सेक्टर में कंसॉलिडेशन की सबसे बड़ी कवायद है. इससे रिटेल वैल्यू चेन के अलग-अलग हिस्सों से जुड़ी कई कंपनियां शामिल हैं. यह ईकोसिस्टम के लिए अच्छा है, क्योंकि बिजनेस मजबूत हाथ में जा रहा है. ऐसा सही वक्त पर हो रहा है, क्योंकि इस सेक्टर पर कोरोना का असर पड़ा है.



रिटेल कैटेगरी में भी रिलायंस-फ्यूचर के 13,600 स्टोर के नेटवर्क के तहत 5.3 करोड़ वर्ग फीट जगह होगी. यह रिटेल सेगमेंट में सूचीबद्ध सभी कंपनियों के कुल एरिया से ज्यादा है. एडलवाइज सिक्योरिटीज के सीनियर वाइस प्रेसिडेंट अबनीश रॉय ने इकोनॉमिक्स टाइम को बताया कि भारत में मॉडर्न रिटेल में रिलायंस की हिस्सेदारी अमेरिकी बाजार में वॉलमार्ट की हिस्सेदारी से ज्यादा होगी. अपैरल रिटेलिंग अभी बंटा हुआ है, लेकिन इस डील से लो-मार्जिन वाले इस बिजनेस सोर्सिंग और अच्छी कीमतों पर प्रोडक्ट्स बेचने में मदद मिलेगी.

ये भी पढ़ें:- Ayushman Bharat के तहत अब सरकारी और निजी अस्पतालों को मिलेगी स्टार रेटिंग

यूरोमीटर के मुताबिक, भारत में रिटले बिजनेस का आकार करीब 42 लाख करोड़ रुपये है. इसमें ग्रॉसरी और अन्य चीजों का अनुपात 59:41 है. अन्य चीजों में अपैरल, फुटवीयर और इलेक्ट्रॉनिक्स शामिल हैं. रिलायंस रिटेल के पास ग्रॉसरी सेगमेंट में करीब 800 स्टोर हैं. यह इसके कुल स्टोर नेटवर्क का सिर्फ 7 फीसदी है, लेकिन 34,600 करोड़ रुपये की कुल बिक्री में इसकी हिस्सेदारी 20 फीसदी है.

रिलायंस का ग्रॉसरी रिटेल बिजनेस फ्यूचर रिटेल के 1350 सुपर मार्केट्स से 22,000 करोड़ रुपये की सालाना रेवेन्यू जोड़ देने पर एवेन्यू सुपरमार्ट का दोगुना हो जाएगा. एवेन्यू सुपरमार्ट डीमार्ट नाम से रिटेल स्टोर नेटवर्क चलाती है. पिछले वित्त वर्ष में इसकी बिक्री 24,675 करोड़ रुपये थी.

(डिस्केलमर- न्यूज18 हिंदी, रिलायंस इंडस्ट्रीज की कंपनी नेटवर्क18 मीडिया एंड इन्वेस्टमेंट लिमिटेड का हिस्सा है. नेटवर्क18 मीडिया एंड इन्वेस्टमेंट लिमिटेड का स्वामित्व रिलायंस इंडस्ट्रीज के पास ही है.)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज