RIL Q1 Result: पहली तिमाही में 13,248 करोड़ रुपये का मुनाफा, नेट प्रॉफिट 31 फीसदी बढ़ा

RIL Q1 Result: पहली तिमाही में 13,248 करोड़ रुपये का मुनाफा, नेट प्रॉफिट 31 फीसदी बढ़ा
रिलायंस इंडस्ट्रीज

गुरुवार को रिलायंस इंडस्ट्रीज (Reliance Industries) ने चालू वित्त वर्ष के पहली तिमाही (RIL Q1 Resulsts) के नतीजे जारी कर दिए हैं. अप्रैल-जून तिमाही में RIL का रेवेन्यू 88,253 करोड़ रुपये रहा है. समेकित शुद्ध मुनाफा साल-दर-साल आधार पर 31 फीसदी बढ़ा है.

  • Share this:
मुंबई. बाजार पूंजीकरण के लिहाज से देश की सबसे बड़ी कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज (Reliance Industries Limited) ने चालू वित्त वर्ष के पहली तिमाही के नतीजे (RIL Q1 Results) जारी कर दिए हैं. पहली तिमाही में RIL का कुल रेवेन्यू 88,253 करोड़ रुपये रहा. साल-दर-साल की तुलना में यह 1,56,976 करोड़ रुपये रहा था. ​कोविड-19 के असर के बाद रिलायंस जियो, रिटेल और ऑयल टू केमिकल (O2C) बिजनेस का रिजल्ट एनलिस्ट्स की उम्मीद से बेहतर रहा है. हालांकि, ऑयल टू केमिकल बिजनेस पर मांग कम होने की वजह से असर पड़ा है. RIL की ग्रॉस रिफाइनिंग मार्जिन $6.3/bbl रही. पहली तिमाही में रिलायंस इंडस्ट्रीज की समे​कित शुद्ध मुनाफा 13,248 करोड़ रुपये रही.​ पिछले वित्त वर्ष की सामान अवधि में यह 10,104 करोड़ रुपये रहा था. इस प्रकार इसमें 31 फीसदी का इजाफा हुआ है. अप्रैल-जून तिमाही में रिलांयस जियो का शुद्ध मुनाफा 2,520 करोड़ रुपये रहा.

​पहली तिमाही में ऑपरेशन से आने वाला कंसॉलिडेटेड इनकम 91,238 करोड़ रुपये रहा.​ पिछले साल की सामान अवधि में यह 1,62,353 करोड़ रुपये रहा था.

कंपनी की प्रदर्शन पर चेयरमैन व प्रबंध निदेशक मुकेश अंबानी (Mukesh Amabni) ने कहा, 'वैश्विक लॉकडाउन की वजह से मांग में भारी कमी आई, जिससे हाइड्रोकार्बन बिजनेस पर असर पड़ा. लेकिन संचालन में लचीलेपन की वजह से हमने सामान्य के करीब प्रदर्शन किया है, जोकि इंडस्ट्री में सबसे बेहतर है.'



रिलायंस इं​डस्ट्रीज की कंसॉलिडेटेड ऑपरेटिंग प्रॉफिट (EBITDA) 21,585 करोड़ रुपये रहा. कैश प्रॉफिट की बात करें तो साल-दर-साल के आधार पर इसमें 17 फीसदी का इजाफा हुआ और यह 18,893 करोड़ रुपये रहा.
लॉकडाउन के दौरान कंपनी की रिफाइनिंग और पेट्रोकेमिकल बिजनेस (RIL Refining and Petrolchem business) अपनी क्षमता के 90 फीसदी तक काम करती रही. इंडस्ट्रीज औसत की तुलना में यह तीन गुना था. कंपनी ने इस दक्षता को फीडस्टॉक ऑप्टीमाइजेशन और उच्च निर्यात के आधार पर किया. इस तिमाही के दौरान कंपनी का कुल निर्यात 32,681 करोड़ रुपये का रहा.

अप्रैल-जून तिमाही के लिए स्टैंडअलोन रेवेन्यू 52,263 करोड़ रुपये और EBITDA 11,339 करोड़ रुपये रहा. एक्सेपशनल आइटम्स के साथ नेट प्रॉफिट 9,753 करोड़ रुपये रहा. पिछले साल की सामान अवधि की तुलना में इसमें 8 फीसदी का इजाफा हुआ है. जबकि, कैश प्रॉफिट 10,350 करोड़ रुपये रहा.

लॉकडाउन के दौरान 50 फीसदी स्टोर्स पूरी तरह से बंद होने के बाद भी कंपनी के रिटेल बिजनेस का प्रदर्शन बेहतर रहा. रिलायंस रिटेल का रेवेन्यू 31,633 करोड़ रुपये और EBITDA 1,083 करोड़ रुपये का रहा. अप्रैल-​जून तिमाही में ग्रोसरी व कनेक्टिविटी बिजनेस में 21 फीसदी का इजाफा हुआ.

रिलायंस इंडस्ट्रीज का रिजल्ट गुरुवार को शेयर बाजार बंद होने के बाद आया है. गुरुवार को दिनभर के कारोबार के बाद बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) पर ​​RIL के शेयर्स 0.61 फीसदी बढ़कर 2,108.65 रुपये प्रति शेयर (RIL Share Price) पर बंद हुआ. जबकि, नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) पर यह 0.25 फीसदी बढ़कर 2,101.90 रुपये प्रति शेयर पर बंद हुआ. (डिस्केलमर- न्यूज18 हिंदी, रिलायंस इंडस्ट्रीज की कंपनी नेटवर्क18 मीडिया एंड इन्वेस्टमेंट लिमिटेड का हिस्सा है. नेटवर्क18 मीडिया एंड इन्वेस्टमेंट लिमिटेड का स्वामित्व रिलायंस इंडस्ट्रीज के पास ही है.)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading