होम /न्यूज /व्यवसाय /Reliance ने की बड़ी सोलर एनर्जी डील, 5792 करोड़ रुपये में नॉर्वे के REC Group का किया अधिग्रहण

Reliance ने की बड़ी सोलर एनर्जी डील, 5792 करोड़ रुपये में नॉर्वे के REC Group का किया अधिग्रहण

रिलायंस इंडस्‍ट्रीज के CMD मुकेश अंबानी ने कहा कि यह सौदा भारत को जलवायु संकट से उबारने और ग्रीन एनर्जी में वर्ल्ड लीडर बनने में मदद करेगा.

रिलायंस इंडस्‍ट्रीज के CMD मुकेश अंबानी ने कहा कि यह सौदा भारत को जलवायु संकट से उबारने और ग्रीन एनर्जी में वर्ल्ड लीडर बनने में मदद करेगा.

रिलायंस न्यू एनर्जी सोलर (Reliance New Energy Solar) ने रविवार 10 अक्टूबर को कहा कि आरईसी सोलर होल्डिंग्स (REC Solar Ho ...अधिक पढ़ें

    मुंबई. रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (RIL) ने सौर ऊर्जा के क्षेत्र में एक बड़ा सौदा किया है. रिलायंस न्यू एनर्जी सोलर लिमिटेड (Reliance New Energy Solar Ltd.) ने रविवार 10 अक्टूबर को कहा कि उसने 5792 करोड़ रुपए (771 मिलियन डॉलर)  में आरईसी सोलर होल्डिंग्स (REC Solar Holdings ) का अधिग्रहण किया है. रिलायंस इंडस्ट्रीज की सहायक कंपनी रिलायंस न्यू एनर्जी सोलर लिमिटेड (RNESL) ने चाइना नेशनल ब्लूस्टार (ग्रुप) कंपनी लिमिटेड से आरईसी सोलर होल्डिंग्स एएस (REC Group) की 100 फीसदी हिस्सेदारी के अधिग्रहण की घोषणा की है.

    रिलायंस के लिए अहम सौदा
    वैश्विक स्तर पर फोटोवोल्टिक मैन्युफैक्चरिंग प्लेयर बनने के लिए रिलायंस के न्यू एनर्जी विजन में यह अधिग्रहण काफी महत्वपूर्ण है. यह अधिग्रहण रिलायंस ग्रुप के लिए साल 2030 तक सोलर एनर्जी के 100 गीगावाट उत्पादन के लक्ष्य को पाने में मददगार साबित होगा. इसी साल तक भारत का भी लक्ष्य नवीन ऊर्ज (Renewable energy) के 450 गीगावाट उत्पादन का है.

    1996 में स्थापित हुई थी REC 
    नार्वे स्थित REC 1996 में स्थापित हुई थी. इसका ऑपरेशनल हेडक्‍वार्टर सिंगापुर में है. साथ ही उत्तरी अमेरिका, यूरोप, ऑस्ट्रेलिया और एशिया प्रशांत में इसके रीजनल सेंटर्स हैं. इस कंपनी के पास 600 से अधिक उपयोगिता और डिजाइन पेटेंट (utility and design patents) हैं, जिनमें से 446 को मंजूरी मिल गई है. आरईसी विशेष रूप से शोध व विकास पर फोकस कंपनी है.

    रिलायंस ने जामनगर में धीरूभाई अंबानी ग्रीन एनर्जी गीगा कॉम्प्लेक्स में अपने सिलिकॉन-टू-पीवी-पैनल गीगाफैक्ट्री में आरईसी सोलर की तकनीक का उपयोग करने की योजना बनाई है. इसकी शुरुआत 4GW प्रति वर्ष की क्षमता के साथ होगी. इसे समय के साथ 10GW प्रति वर्ष क्षमता तक बढ़ाया जाएगा. आरईसी सोलर की भारतीय उपमहाद्वीप में 5,000 मेगावाट की स्थापित क्षमता है. आरईसी की वेबसाइट का दावा है कि इसके रूफ माउंटेड पैनल कम से कम 25 साल तक चल सकते हैं.

    क्लीन और ग्रीन एनर्जी लक्ष्य पाने में मिलेगी मदद
    रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड के चेयरमैन व प्रबंध निदेशक मुकेश अंबानी (CMD Mukesh Ambani) ने अधिग्रहण पर कहा, ‘मैं आरईसी के अधिग्रहण से बेहद खुश हूं क्योंकि यह सूर्यदेव की असीमित और सालभर मिलने वाली सौर शक्ति का दोहन करने में मदद करेगा. यह अधिग्रहण दशक के अंत से पहले 100 गीगावाट क्लीन और ग्रीन एनर्जी बनाने के रिलायंस के लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए, नई व एडवांस्ड टेक्नोलॉजीज और परिचालन क्षमताओं में निवेश करने की हमारी रणनीति के अनुरूप है.’

    सीएमडी मुकेश अंबानी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का लक्ष्य 2030 तक भारत में 450 गीगावाट रिन्युएबल ऊर्जा का उत्पादन है. इसे प्राप्त करने में किसी एकल कंपनी का यह सबसे बड़ा योगदान होगा. यह भारत को जलवायु संकट से उबारने और ग्रीन एनर्जी में वर्ल्ड लीडर बनने में मदद करेगा.

    44वीं एजीएम में  NEW ENERGY पर चर्चा
    रिलायंस इंडस्ट्रीज के सीएमडी मुकेश अंबानी ने 44वीं एजीएम में नवीन ऊर्जा को लेकर कई महत्वपूर्ण बातें कही थीं. उन्होंने कहा था कि कंपनी अपने environment-friendly initiatives के तहत 4 गीगावाट सालाना उत्‍पादन क्षमता वाली फैक्ट्ररी लगाएगी. इसके अलावा 2021 में कंपनी की NEW ENERGY BIZ लॉन्च करने की योजना है, जिसमें रिलायंस की लीडरशिप होगी. योजना के तहत कंपनी धीरूभाई अंबानी ग्रीन एनर्जी गीगा कॉम्प्लेक्स की भी स्थापना करेगी, जिसके तहत 4 फैक्ट्रियां लगाई जाएंगी.

    बता दें कि ये गीगा फैक्ट्रियां न्यू एनर्जी इको सिस्टम (new energy ecosystem) से संबंधित सभी तरीके के अहम कलपुर्जों का उत्पादन और उनका इंटिग्रेशन करेंगी. इस वर्चुअल एजीएम में शेयरधारकों को संबोधित करते हुए उन्होंने आगे कहा था कि कंपनी अपने ग्रीन इनिशिएटिव (green initiatives) के तहत 60,000 करोड़ रुपये का निवेश करेगी. इसके अलावा कंपनी ग्रीन इनिशिएटिव के वैल्यू चैन के विकास से संबंधित पार्टनरशिप और फ्यूचर टेक्नोलॉजी पर 15000 करोड़ रुपये का अतिरिक्त निवेश करेगी.

    (डिस्क्लेमर- नेटवर्क18 और टीवी18 कंपनियां चैनल/वेबसाइट का संचालन करती हैं, जिनका नियंत्रण इंडिपेंडेट मीडिया ट्रस्ट करता है, जिसमें रिलायंस इंडस्ट्रीज एकमात्र लाभार्थी है.)

    Tags: Chairman of Reliance Industries Limited, Deals of the Day, Mukesh ambani, Reliance, Reliance digital, Reliance industries, Reliance news, Solar power plant

    टॉप स्टोरीज
    अधिक पढ़ें