होम /न्यूज /व्यवसाय /रिलायंस इंडस्ट्रीज ने डेनमार्क की Stiesdal के साथ पार्टनरशिप की, मिलकर बनाएंगी हाइड्रोजन इलेक्ट्रोलाइजर्स

रिलायंस इंडस्ट्रीज ने डेनमार्क की Stiesdal के साथ पार्टनरशिप की, मिलकर बनाएंगी हाइड्रोजन इलेक्ट्रोलाइजर्स

रिलायंस इंडस्‍ट्रीज भारतीय बाजार के लिए एक रणनीतिक डील की है

रिलायंस इंडस्‍ट्रीज भारतीय बाजार के लिए एक रणनीतिक डील की है

रिलायंस इंडस्ट्रीज ने एनर्जी के क्षेत्र में एक और बड़ी डील की है. RIL ने 12 अक्टूबर को ऐलान किया कि उसकी सोलर यूनिट रिल ...अधिक पढ़ें

    मुंबई. रिलायंस इंडस्ट्रीज (RIL) ने एनर्जी के क्षेत्र में एक और बड़ी डील की है. RIL ने 12 अक्टूबर को ऐलान किया कि उसकी सोलर यूनिट रिलायंस न्यू एनर्जी सोलर लिमिटेड (RNESL) ने डेनमार्क की Stiesdal A/S के साथ पार्टनरशिप की है. दोनों कंपनियां मिलकर हाइड्रोजन इलेक्ट्रोलाइजर्स (HydroGen Electrolyzers) बनाएंगी. रिलायंस न्यू एनर्जी सोलर लिमिटेड (RNESL) ने मंगलवार को एक्सचेंज को दी गई जानकारी में यह बताया.

    Stiesdal A/S डेनमार्क की कंपनी है. यह क्लाइमेट चेंज मिटिगेशन से जुड़ी कमर्शियलाइज टेक्नोलॉजी बनाती है. Stiesdal की स्थापना हेनरिक स्टाइसडल (Henrik Stiesdal) द्वारा की गई है. पवन ऊर्जा (wind power) के क्षेत्र में यह दुनिया की अग्रणी कंपनी है. साथ ही वैश्विक नवीकरणीय उद्योग (global renewable industry में यह अलग सोच रखने वाली कंपनी है.

     इस तकनीक से लागत में आएगी कमी 
    Stiesdal जलवायु संकट का मुकाबला करने के लिए कई तकनीकों के विकास और व्यावसायीकरण में लगी हुई है. हाइड्रोजेन इलेक्ट्रोलाइजर्स के लिए इस नई तकनीक में ऊर्जा उत्पादन की लागत में महत्वपूर्ण कमी लाने की क्षमता है.

    यह भी पढ़ें- Reliance ने की बड़ी सोलर एनर्जी डील, 5792 करोड़ रुपये में नॉर्वे के REC Group का किया अधिग्रहण

    वर्तमान में उपलब्ध तकनीकों के मुकाबले इस तकनीक से सस्ती ग्रीन हाइड्रोजन बनाने का रास्ता खुलता है. साथ ही भारत के हरित ऊर्जा (green energy) के क्षेत्र में निर्धारित लक्ष्य को प्राप्त करने में यह एक महत्वपूर्ण कदम होगा.

    रविवार को हुई थी एक और डील
    रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड की सहयोगी कंपनी रिलायंस न्यू एनर्जी सोलर लिमिटेड (आरएनईएसएल) ने रविवार को भी ऊर्जा क्षेत्र में एक बड़ी डील की थी. रिलायंस न्यू एनर्जी सोलर लिमिटेड (Reliance New Energy Solar Ltd.) ने रविवार 10 अक्टूबर को कहा था कि उसने 5792 करोड़ रुपए (771 मिलियन डॉलर) में आरईसी सोलर होल्डिंग्स (REC Solar Holdings ) का अधिग्रहण किया है. रिलायंस इंडस्ट्रीज की सहायक कंपनी रिलायंस न्यू एनर्जी सोलर लिमिटेड (RNESL) ने चाइना नेशनल ब्लूस्टार (ग्रुप) कंपनी लिमिटेड से आरईसी सोलर होल्डिंग्स एएस (REC Group) की 100 फीसदी हिस्सेदारी के अधिग्रहण की घोषणा की थी.

    रिलायंस के लिए अहम सौदा था
    वैश्विक स्तर पर फोटोवोल्टिक मैन्युफैक्चरिंग प्लेयर बनने के लिए रिलायंस के न्यू एनर्जी विजन में यह अधिग्रहण काफी महत्वपूर्ण है. यह अधिग्रहण रिलायंस ग्रुप के लिए साल 2030 तक सोलर एनर्जी के 100 गीगावाट उत्पादन के लक्ष्य को पाने में मददगार साबित होगा. इसी साल तक भारत का भी लक्ष्य नवीन ऊर्ज (Renewable energy) के 450 गीगावाट उत्पादन का है.

    (डिस्क्लेमर- नेटवर्क18 और टीवी18 कंपनियां चैनल/वेबसाइट का संचालन करती हैं, जिनका नियंत्रण इंडिपेंडेट मीडिया ट्रस्ट करता है, जिसमें रिलायंस इंडस्ट्रीज एकमात्र लाभार्थी है.)

    Tags: Chairman of Reliance Industries Limited, Nuclear Energy, Reliance, Reliance industries, Reliance news, Solar power plant, Solar system

    टॉप स्टोरीज
    अधिक पढ़ें