• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • रिलायंस इंडस्ट्रीज को Q4 में 10,362 करोड़ का मुनाफा, जियो के ग्राहकों की संख्या 30 करोड़ के पार

रिलायंस इंडस्ट्रीज को Q4 में 10,362 करोड़ का मुनाफा, जियो के ग्राहकों की संख्या 30 करोड़ के पार

वित्त वर्ष 2019 की चौथी तिमाही में रिलायंस इंडस्ट्रीज का मुनाफा 10,362 करोड़ रुपये रहा. वहीं वित्त वर्ष 2019 की चौथी तिमाही में RIL की आय 1.20 लाख करोड़ रुपये से बढ़कर 1.38 लाख करोड़ रुपये हो गई है.

वित्त वर्ष 2019 की चौथी तिमाही में रिलायंस इंडस्ट्रीज का मुनाफा 10,362 करोड़ रुपये रहा. वहीं वित्त वर्ष 2019 की चौथी तिमाही में RIL की आय 1.20 लाख करोड़ रुपये से बढ़कर 1.38 लाख करोड़ रुपये हो गई है.

वित्त वर्ष 2019 की चौथी तिमाही में रिलायंस इंडस्ट्रीज का मुनाफा 10,362 करोड़ रुपये रहा. वहीं वित्त वर्ष 2019 की चौथी तिमाही में RIL की आय 1.20 लाख करोड़ रुपये से बढ़कर 1.38 लाख करोड़ रुपये हो गई है.

  • Share this:
    रिलायंस इंडस्ट्रीज (RIL) ने जनवरी-मार्च तिमाही के नतीजे जारी कर दिए हैं.  रिलायंस इंडस्ट्रीज (RIL) के चौथी तिमाही के नतीजे शानदार रहे हैं. वित्त वर्ष 2019 की चौथी तिमाही में रिलायंस इंडस्ट्रीज का कंसोलिडेटेड मुनाफा 10,362 करोड़ रुपये रहा. यह पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में हुए 9,438 करोड़ रुपये के प्रॉफिट से 9.8 फीसदी अधिक है. इसकी वजह रिटेल और टेलिकॉम बिजनेस से आया अच्छा रेवेन्यू रहा. वहीं जियो ने जनवरी-मार्च के दौरान 840 करोड़ रुपये का मुनाफा दर्ज किया. (ये भी पढ़ें: SBI ग्राहक ध्यान दें: अब घर बैठे ऐसे जमा करें एफडी से जुड़ा ये जरूरी फॉर्म, ब्रांच का भी बदला नियम)

    आय बढ़कर 1.38 लाख करोड़ रुपये
    वित्त वर्ष 2019 की चौथी तिमाही में RIL की आय 1.20 लाख करोड़ रुपये से बढ़कर 1.38 लाख करोड़ रुपये हो गई है. कंपनी का EBITDA 20832 करोड़ रुपये और मार्जिन 15.02 फीसदी रहा. RIL का Q4 ग्रॉस रिफाइनिंग मार्जिन 8.20 डॉलर/bbl रहा. चौथी तिमाही में RIL को ऑयल रिफाइनिंग व पेट्रोकेमिकल सेगमेंट में कमजोर रेवेन्यू का सामना करना पड़ा. (ये भी पढ़ें: सिर्फ 5 हजार में ले सकते हैं पोस्ट ऑफिस की फ्रेंचाइजी, पहले दिन से शुरू होगी कमाई)



    रिलायंस जियो को 840 करोड़ का मुनाफा
    वित्त वर्ष 2019 की चौथी तिमाही मेंरिलायंस जियो का चौथी तिमाही का मुनाफा 64.70 फीसदी बढ़कर 840 करोड़ रुपये रहा, जो पिछले साल की समान अवधि में 510 करोड़ रुपये था. जनवरी-मार्च के दौरान जियो का रेवेन्यू 11,106 करोड़ रुपये, EBITDA 4,329 करोड़ रुपये और मार्जिन 39 फीसदी रहा. पूरे वित्त वर्ष 2018-19 में जियो ने 2,964 करोड़ रुपये का नेट प्रॉफिट दर्ज किया. जियो का Q4 एवरेज रेवेन्यू प्रति यूजर (ARPU) 126.20 रुपये रहा. रिलायंस जियो ने अपने परिचालन के ढाई साल में 300 मिलियन ग्राहकों का आंकड़ा पार कर लिया है.



    वित्तीय नतीजों पर टिप्पणी करते हुए रिलायंस के चेयरमैन और एमडी मुकेश अंबानी ने कहा, वित्त वर्ष 2019 में हमने कई बड़ी उपलब्धियां हासिल कीं और कंपनी को भविष्य का रिलायंस बनाने की दिशा में कई उल्लेखनीय प्रयास किए. रिलायंस रिटेल 1 लाख करोड़ रुपये की आय के आंकड़े को पार कर गया, जियो के 30 करोड़ से अधिक उपभोक्ता हो चुके हैं और हमारे पेट्रोकेमिकल्स के कारोबार ने अब तक की सर्वाधिक कमाई की है.

    6.5 रुपये प्रति शेयर डिविडेंड का ऐलान
    रिलायंस इंडस्ट्रीज ने बेहतर नतीजे की वजह से 6.5 रुपये प्रति शेयर डिविडेंड देने की घोषणा की है.

    डिस्क्लेमर: हिंदी न्यूज़ 18 डॉट कॉम रिलायंस इंडस्ट्रीज की कंपनी नेटवर्क18 मीडिया एंड इन्वेस्टमेंट लिमिटेड का हिस्सा है. नेटवर्क18 मीडिया एंड इन्वेस्टमेंट लिमिटेड का स्वामित्व रिलायंस इंडस्ट्रीज के पास ही है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज