रिलायंस इंडस्ट्रीज का Q4 मुनाफा 6,348 करोड़ रुपये, आमदनी 1.36 लाख करोड़ रुपये, राइट्स इश्यू को मंजूरी

रिलायंस इंडस्ट्रीज का Q4 मुनाफा 6,348 करोड़ रुपये, आमदनी 1.36 लाख करोड़ रुपये, राइट्स इश्यू को मंजूरी
रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी

रिलायंस इंडस्ट्रीज (RIL-Reliance Industries Q4 Results) का चौथी तिमाही मुनाफा 6,348 करोड़ रुपये रहा है. वहीं, इस दौरान आमदनी 1.36 लाख करोड़ रुपये हो गई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 30, 2020, 8:05 PM IST
  • Share this:
मुंबई. मार्केट कैप के लिहाज से देश की सबसे बड़ी कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज (RIL-Reliance Industries Q4 Results) का चौथी यानी जनवरी-मार्च तिमाही में मुनाफा 6,348 करोड़ रुपये रहा है. वहीं, इस दौरान आमदनी 1.36 लाख करोड़ रुपये हो गई है. इसके अलावा बोर्ड ने राइट्स इश्यू को भी मंजूरी दे दी है. इससे पहले कोरोना वायरस महामारी के इस संकट में रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी (Reliance Industries Chairman Mukesh Ambani) ने सैलरी नहीं लेने का फैसला किया है. RIL के बोर्ड मेंबर्स ने भी अपनी सैलरी में 50 फीसदी तक कटौती करने का फैसला किया है.

रिलायंस इंडस्ट्रीज के तिमाही नतीजे- साल 2020 की जनवरी-मार्च तिमाही में कंपनी को 6348 करोड़ रुपये का मुनाफा हुआ है. जबकि पिछली तिमाही यानी साल 2019 में दिसंबर तिमाही के दौरान कंपनी को 11640 करोड़ रुपये का मुनाफा हुआ था. वहीं, साल 2019 की चौथी तिमाही में कंपनी को 10362 करोड़ रुपये का मुनाफा हुआ था. मार्च तिमाही में कंपनी की आय 1,36,000 करोड़ रुपये रही जो पिछली तिमाही में 1,52,939 करोड़ रुपये रही थी. वहीं पिछले साल की मार्च तिमाही में कंपनी की आय 1,38,659 करोड़ रुपये रही थी.

रिजल्ट पर टिप्पणी करते हुए, रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने कहा, “हमें खुशी है कि हमने इन कठिन समय में अपने ग्राहकों के लिए कनेक्टिविटी और कामकाज को आसान बना दिया है. जियो का हर कर्मचारी 'ग्राहक पहले’ की सोच से काम करने को प्रशिक्षित है. इससे ग्राहकों का भरपूर आशीर्वाद हमें मिल रहा है.हम अब लगभग 40 करोड़ भारतीयों की सेवा कर रहे हैं.



जियो भारत में डिजिटल क्रांति का नेतृत्व कर रहा है. हमारी सेवाओं को ग्राहकों द्वारा तहेदिल से अपनाया जाना हमें और अधिक बेहतर बनने के लिए प्रेरित करता है. जियो दुनिया की सबसे बड़ी डिजिटल कंपनियों में से एक, फेसबुक के साथ विकास के अगले चरण पर चल पड़ी है. हम साथ मिलकर भारत को वास्तव में डिजिटल समाज बनाने के लिए दृढ़ संकल्प हैं.
हम मनोरंजन, वाणिज्य, संचार, वित्त, शिक्षा और स्वास्थ्य के क्षेत्रों में दुनिया की सर्वश्रेष्ठ तकनीकी क्षमताओं और सर्वश्रेष्ठ कनेक्टिविटि नेटवर्क के साथ बेहतरीन डिजिटल प्रौद्योगिकी प्लेटफार्म प्रदान करेंगे. हमारा फोकस भारत के 6 करोड़ सूक्ष्म, लघु और मझोले व्यवसायों, 12 करोड़ किसानों, 3 करोड़ छोटे व्यापारियों और अनौपचारिक क्षेत्र के लाखों छोटे और मध्यम उद्यमों पर होगा.



रिलायंस जियो के मुनाफे पर एक नज़र- चौथी तिमाही में रिलायंस जियो को 2331 करोड़ रुपये का मुनाफा हुआ है जबकि इस दौरान जियो की आमदनी 14,835 करोड़ रुपये रही है.

Reliance JIO की आय पिछली तिमाही के 13998 करोड़ रुपये से बढ़कर 14835 करोड़ रुपये रही है. चौथी तिमाही में Reliance JIO का एबिटडा 5601 करोड़ रुपये से बढ़कर 6201 करोड़ रुपये रहा है.

वहीं एबिटडा मार्जिन पिछली तिमाही के 40.1 फीसदी से बढ़कर 41.8 फीसदी रही है. चौथी तिमाही में Reliance JIO का ARPU पिछली तिमाही के 128 रुपये से बढ़कर 130.60 रुपये रहा है.

चौथी तिमाही में Reliance JIO के उपभोक्ताओं की संख्या तीसरी तिमाही के 37 करोड़ से बढ़कर 38.75 करोड़ रुपये पर पहुंच गई है.

पेट्रोकेमिकल्स कारोबार के तिमाही नतीजे- तिमाही आधार पर चौथी तिमाही में कंपनी की पेट्रोकेमिकल्स कारोबार से होने वाली आय 36909 करोड़ रुपये से घटकर 32206 करोड़ रुपये पर आ गई है.

तिमाही आधार पर चौथी तिमाही में कंपनी की पेट-केम एबिट 7239 करोड़ रुपये से घटकर 5938 करोड़ रुपये रही है जबकि पेट-केम एबिट मार्जिन 19.6 फीसदी से घटकर 18.4 फीसदी रही है.

चौथी तिमाही में कंपनी की रिफाइनिंग कारोबार से होनेवाली आय पिछली तिमाही के 1.03 लाख करोड़ रुपये से घटकर 84854 करोड़ रुपये रही है.

तिमाही आधार पर चौथी तिमाही में कंपनी की रिफाइनिंग एबिट 6808 करोड़ रुपये से घटकर 6614 करोड़ रुपये और रिफाइनिंग एबिट मार्जिन 6.6 फीसदी से बढ़कर 7.8 फीसदी रही है.



रिटेल कारोबार -चौथी तिमाही में कंपनी की रिटेल कारोबार से होनेवाली आय पिछली साल की चौथी तिमाही के 36663 करोड़ रुपये से बढ़कर 38211 करोड़ रुपये रही है. सालाना आधार पर चौथी तिमाही में कंपनी की रिटेल एबिट 1923 करोड़ रुपये से बढ़कर 2556 करोड़ रुपये रहा है. वहीं रिटेल एबिट मार्जिन पिछले साल के 5.2 फीसदी से बढ़कर 7 फीसदी रही है.

निवेशकों के लिए दो बडे़ फैसले- बोर्ड बैठक में राइट इश्यू को भी मंजूरी दे दी है. ये राइट इश्यू 1257 रुपये प्रति शेयर के भाव पर लाया जायेगा. राइट इश्यू की साइज 53125 करोड़ रुपये की होगी. इस राइट इश्यू के तहत 15 शेयर पर एक राइट शेयर जारी होगा.

इसके अलावा कंपनी के बोर्ड ने 6 रुपये 50 पैसे प्रति शेयर डिविडेंड के प्रस्ताव को भी मंजूरी दे दी है. कंपनी प्रबंधन की तरफ से कहा गया है कि सउदी अरामको डील पर बातचीत सही दिशा में है. वित्त वर्ष 2021 की पहली तिमाही में कंपनी की 1.04 लाख करोड़ रुपये जुटाने की योजना है.

पिछले हफ्ते हुई जियो फेसबुक डील-पिछले हफ्ते दुनिया की बड़ी सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक (Facebook) ने देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी रिलायंस जियो (Reliance Jio) में 43,574 करोड़ रुपये के निवेश का ऐलान किया. फेसबुक ने जियो प्लेटफॉर्म में 9.99 फीसदी हिस्सेदारी खरीदेगी. भारत में टेक्नॉलजी सेक्टर में यह एफडीआई (FDI) के तहत अबतक का सबसे बड़ा निवेश है.

 
डिस्केलमर- न्यूज18 हिंदी, रिलायंस इंडस्ट्रीज की कंपनी नेटवर्क18 मीडिया एंड इन्वेस्टमेंट लिमिटेड का हिस्सा है. नेटवर्क18 मीडिया एंड इन्वेस्टमेंट लिमिटेड का स्वामित्व रिलायंस इंडस्ट्रीज के पास ही है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading