Choose Municipal Ward
    CLICK HERE FOR DETAILED RESULTS

    रिलायंस रिटेल में 2.04% हिस्सा खरीदेगी Public Investment Fund, करेगी 9555 करोड़ का निवेश

    मुकेश अंबानी (Mukesh Ambani, Chairman Reliance Industries)
    मुकेश अंबानी (Mukesh Ambani, Chairman Reliance Industries)

    PIF-Reliance Retail Deal: Public Investment Fund रिलायंस इंडस्ट्रीज की सब्‍स‍िडियरी कंपनी रिलायंस रिटेल (Reliance Retail) में 9555 करोड़ रुपये निवेश करेगी.

    • News18Hindi
    • Last Updated: November 5, 2020, 5:39 PM IST
    • Share this:
    नई दिल्ली. सऊदी अरब की इन्वेस्टमेंट फर्म PIF (Public Investment Fund) ने रिलायंस रिटेल (Reliance Retail) में हिस्सेदारी खरीदने का ऐलान किया है. PIF 2.04 फीसदी हिस्सेदारी 9,555 करोड़ रुपये में खरीदेगी. आपको बता दें कि  PIF सऊदी अरब का सॉवेरन वेल्थ फंड है. इससे पहले ये (पब्लिक इन्वेस्टमेंट फंड) जियो प्लेटफॉर्म्स में भी निवेश कर चुका है. पीआईएफ ने इसमें 2.32 फीसदी हिस्सेदारी के लिए 11367 करोड़ का निवेश किया है.

    रिलायंस रिटेल ने अभी तक जुटाए 47265 करोड़ रुपये-रिलायंस रिटेल को कुछ महीनों में विदेशी निवेशकों से फंड जुटाने में बड़ी कामयाबी मिली है. देश की सबसे बड़ी रिटेल बिजनेस कंपनी ने कुछ महीनों के भीतर कुल 47265 करोड़ रुपये से ज्‍यादा जुटाए हैं.

    रिलायंस रिटेल और PIF की डील को लेकर  रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी ( Mukesh Ambani, Chairman and Managing Director of Reliance Industries) का कहना है कि सऊदी अरब के साम्राज्य के साथ हमारे (रिलायंस) लंबे रिलेशंस हैं. वहीं, PIF सऊदी अरब की इकोनॉमी को आगे बढ़ाने में सबसे आगे है.



    मैं रिलायंस रिटेल में एक महत्वपूर्ण भागीदार के रूप में पीआईएफ का स्वागत करता हूं. रिलायंस रिटेल के साथ-साथ भारतीय रिटेल सेक्टर को आगे बढ़ाने में पीएएफ की गाइडेंस बहुत मददगार साबित होगी.



    देश के संगठित रिटेल कारोबार में रिलायंस ने 2006 में कदम रखा था. सबसे पहले इस कंपनी ने हैदाराबद में रिलायंस फ्रेश स्टोर खोला था.

    कंपनी का आइडिया था कि वो नजदीकी बाजार से ग्राहकों को ग्रॉसरीज और सब्जियां उपलब्ध कराए. 25,000 करोड़ रुपये की शुरुआत से कंपनी कंज्यूमर ड्यूरेबल्स, फार्मेसी और लाइफस्टाइल प्रोडक्ट्स उपलब्ध कराना शुरू किया. इसके बाद कंपनी ने इलेक्ट्रॉनिक्स, फैशन और कैश एंड कैरी बिजनेस में भी कदम रखा.

    इलेक्ट्रॉनिक रिटेल चेन को कंपनी ने 2007 में लॉन्च किया था. इसके बाद 2008 और 2011 में रिलायंस ने फैशन और होलसेल बिजनेस में रिलायंस ट्रेंड्स और रिलायंस मार्केट के जरिए कदम रखा. साल 2011 तक रिलायंस रिटेल की सेल्स के जरिए कमाई 1 अरब डॉलर के पार पहुंच गई थी.

    रिलायंस रिटेल की नजर लाखों ग्राहकों और सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यमों (MSME) को सशक्त बनाने और पसंदीदा साझेदार के रूप में वैश्विक और घरेलू कंपनियों के साथ मिलकर काम करते हुए भारतीय खुदरा क्षेत्र को फिर से संगठित करने पर है.

    (डिस्केलमर- न्यूज18 हिंदी, रिलायंस इंडस्ट्रीज की कंपनी नेटवर्क18 मीडिया एंड इन्वेस्टमेंट लिमिटेड का हिस्सा है. नेटवर्क18 मीडिया एंड इन्वेस्टमेंट लिमिटेड का स्वामित्व रिलायंस इंडस्ट्रीज के पास ही है.)
    अगली ख़बर

    फोटो

    टॉप स्टोरीज