अपना शहर चुनें

States

Reliance Retail ने 'वोकल फॉर लोकल' के तहत जोड़े 30 हजार कारीगर, ग्राहकों तक पहुंचाए 40,000 से ज्‍यादा प्रोडक्‍ट्स

RIL की रिटेल कंपनी रिलायंस ने फेस्टिव सीजन में स्‍थानीय कारीगरों की मदद के लिए बड़ा कदम उठाया था.
RIL की रिटेल कंपनी रिलायंस ने फेस्टिव सीजन में स्‍थानीय कारीगरों की मदद के लिए बड़ा कदम उठाया था.

रिलायंस इंडस्‍ट्रीज (RIL) की सहयोगी कंपनी रिलायंस रिटेल (Reliance Retail) ने फेस्टिव सीजन में 30,000 से ज्‍यादा कारीगरों, बुनकरों और शिल्पकारों (Artisans) को अपने साथ जोड़ा. इस दौरान कंपनी ने उनके 40,000 से ज्‍यादा उत्पादों (Artisanal Products) को ग्राहकों तक पहुंचाया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 23, 2020, 10:39 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. रिलायंस इंडस्‍ट्रीज की सहयोगी कंपनी रिलायंस रिटेल (Reliance Retail) ने फेस्टिव सीजन के दौरान स्‍थानीय स्‍तर पर बनाए गए उत्‍पादों (Local Products) को प्रोत्‍साहित करने के लिए बड़ा कदम उठाया. रिलायंस रिटेल ने त्‍योहारी सीजन (Festive Season) में 30,000 से ज्‍यादा कारीगरों, बुनकरों और शिल्पकारों (Artisans) को अपने साथ जोड़ा. इस दौरान कंपनी ने उनके 40,000 से ज्‍यादा उत्पादों (Artisanal Products) को ग्राहकों तक पहुंचाया. कंपनी ने इन प्रोडक्‍ट्स को 50 से ज्‍यादा जीआई क्लस्टर (GI Clusters) से चुना था. कंपनी की तीन साल पुरानी पहल Indie by AJIO और Swadesh ने स्थानीय कारीगरों की मदद के लिए ये कदम उठाया .

600 से ज्‍यादा तरह के उत्‍पादों को किया गया शामिल
रिलायंस रिटेल की इस पहल से जहां कारीगरों, बुनकरों और शिल्पकारों को उनके उत्‍पादों के अच्‍छे दाम मिले. वहीं, ग्राहकों में उत्‍पादों की क्‍वालिटी को लेकर भरोसा बना रहा. बता दें कि कपड़े, हस्तशिल्प और हस्तनिर्मित प्राकृतिक सामानों की बड़ी रेंज में 600 से ज्‍यादा तरह के उत्‍पादों को शामिल किया गया है. रिलायंस फैशन एंड लाइफस्टाइल के अध्यक्ष अखिलेश प्रसाद ने कहा कि पिछले कुछ साल के दौरान शिल्प क्षेत्र में हमारे विकास के प्रयास से अच्छे नतीजे हासिल हुए हैं. कारीगरों और उत्पादों की संख्या लगातार बढ़ी है. साथ ही ग्राहकों ने भी इन उत्‍पादों को तेजी से अपनाया है. उन्‍होंने बताया कि इंडी बाय एजियो स्थानीय कारीगरों और दस्तकारी उत्पादों के लिए ऑनलाइन बाजार है.

ये भी पढ़ें- कोरोना संकट के बीच अर्थव्‍यवस्‍था के लिए अच्‍छी खबर! वित्त वर्ष 2020-21 में मुनाफे में रह सकता है चालू खाता
AJIO प्लेटफॉर्म पर उपलब्ध कराए गए हैं प्रोडक्‍ट्स


प्रसाद ने कहा कि भारत के शानदार कपड़ा उत्पादों और हथकरघा परंपराओं को सावधानी व खूबसूरती के साथ चुना गया है. परिधान से लेकर होम फर्निशिंग और सहायक उपकरण जैसे व्यापक जीवन शैली के उत्पाद, आभूषण व जूते AJIO प्लेटफॉर्म पर उपलब्ध हैं. तेजी से विस्तार करने वाले पोर्टफोलियो के साथ AJIO भारतीय ग्राहकों को सबसे बेहतरीन भारतीय फैशन और शिल्प को खोजने में मदद करता है. इसके बाद उनके चुने गए प्रोडक्‍ट्स को घर के दरवाजे तक पहुंचाने की सुविधा उपलब करता है. इससे कारीगरों की आमदनी बढ़ाने में काफी मदद मिल रही है.



ये भी पढ़ें- 2024 में नहीं डाला वोट तो बैंक अकाउंट से कट जाएंगे 350 रुपये! जानिए क्‍या है सच्‍चाई

उत्‍पादों के चुनाव में क्षेत्र विशेष की दिखती है झलक
इंडी रेंज (Indie Range) में इकत, शिबोरी, बनारसी, अजरख से जामदानी, तांगड़, बाग, चंदेरी जैसे क्राफ्ट्स शामिल हैं. इन्‍हें देशभर में 50 से ज्‍यादा जीआई शिल्प समूहों से चुनकर पेश किया गया है. इसमें गुजरात, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, बिहार, ओडिशा, बिहार, झारखंड, तेलंगाना, आंध्र प्रदेश और पश्चिम बंगाल शामिल हैं. इनमें प्राकृतिक उत्पाद, हस्तशिल्प या किसी क्षेत्र या क्षेत्र के मूल निवासी के बाए सामान शामिल किए गए हैं. इनमें ध्‍यान रखा गया है कि प्रोडक्‍ट में क्षेत्र विशेष की झलक स्‍पष्‍ट नजर आनी चाहिए.

(डिस्केलमर- न्यूज18 हिंदी, रिलायंस इंडस्ट्रीज की कंपनी नेटवर्क18 मीडिया एंड इन्वेस्टमेंट लिमिटेड का हिस्सा है. नेटवर्क18 मीडिया एंड इन्वेस्टमेंट लिमिटेड का स्वामित्व रिलायंस इंडस्ट्रीज के पास ही है.)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज