Home /News /business /

reliance retail to launch dedicated artisan only stores to boost handmade in india programme nodvkj

हैंडमेड इन इंडिया प्रोग्राम को बढ़ावा देगा रिलायंस रिटेल, खोले जाएंगे 'स्वदेश' स्टोर्स

रिलायंस रिटेल ने 'हैंडमेड इन इंडिया' कार्यक्रम की घोषणा की है.

रिलायंस रिटेल ने 'हैंडमेड इन इंडिया' कार्यक्रम की घोषणा की है.

रिलायंस रिटेल ने 'हैंडमेड इन इंडिया' कार्यक्रम की घोषणा की है. इसके तहत Authentic Handcrafted Products को प्रदर्शित करने और विश्व स्तर पर भारतीय कला को बढ़ावा देने के लिए “स्वदेश” नाम से रिटेल स्टोर्स खोले जाएंगे.

नई दिल्ली. रिलायंस रिटेल ने ‘हैंडमेड इन इंडिया’ कार्यक्रम की घोषणा की है. इसके तहत प्रामाणिक दस्तकारी उत्पादों (Authentic Handcrafted Products) को प्रदर्शित करने और विश्व स्तर पर भारतीय कला को बढ़ावा देने के लिए रिलायंस रिटेल “स्वदेश” नाम से रिटेल स्टोर्स खोलेगा. इससे हजारों कारीगरों और शिल्पकारों को न केवल स्थायी आजीविका मिलेगी, साथ ही भारतीय कला को दुनियाभर के बाजार भी उपलब्ध होंगे.

स्वदेश स्टोर्स में भारतीय कारीगरों का बनाया सामान “स्वदेश ब्रांड” के तहत बाजार में उतारा जाएगा. पहला स्वदेश स्टोर इसी वर्ष की दूसरी छमाही में खुलने की उम्मीद है. इसमें कारीगरों से सीधे प्राप्त माल जैसे कि हाथ से बनाए गए वस्त्र, हस्तशिल्प, कृषि उत्पादों की एक बड़ी सीरीज शामिल होगी. स्वदेश भारतीय कारीगरों और प्रामाणिक हस्तनिर्मित उत्पादों (Authentic Handcrafted Products) के विक्रेताओं को दुनियाभर के उपभोक्ताओं से जोड़ने के लिए एक वैश्विक बाज़ार का निर्माण भी करेगा.

ये भी पढ़ें- रिलायंस ने खरीदा एक और फैशन ब्रांड, 35 साल पुराने अबू जानी संदीप खोसला फैशन हाउस में होगी 51 फीसदी हिस्‍सेदारी

लुप्त होती कलाएं होंगी पुनर्जीवित
रिलायंस रिटेल वेंचर्स लिमिटेड की निदेशक ईशा अंबानी ने कहा, “भारतीय कला और शिल्प का भविष्य एक रोमांचक चरण में है. लुप्त हो रहे कला के अलग-अलग रूपों को पुनर्जीवित करने और स्थानीय कारीगरों, बुनकरों और शिल्पकारों के लिए इको-सिस्टम बनाने और एक मजबूत बुनियादी ढांचे के विकास की दिशा में हमारे पिछले प्रयासों के उत्साहजनक परिणाम मिले हैं. हमारा स्टैंडअलोन हैंडीक्राफ्ट डेस्टिनेशन स्टोर फॉर्मेट, “स्वदेश” अब तैयार है. यह परिधान, होम टेक्सटाइल्स, होम डेकोर, फर्नीचर, ज्वैलरी, वेलनेस उत्पादों सहित काफी कुछ प्रदर्शित करेगा.”

ईशा अंबानी ने अपने बयान में कहा कि यह देश के कारीगरों के लिए एक बड़ा मौका है. इसे साकार करने के लिए रिलायंस रिटेल विभिन्न सरकारी संगठनों के साथ साझेदारी कर रहा है, ताकि विभिन्न स्थानीय कला के रूपों को राष्ट्रीय और विश्व स्तर पर पहचान दिलाने में मदद मिल सके. इसके साथ ही रिलायंस रिटेल ने रिलायंस फाउंडेशन के साथ विभिन्न स्वदेशी शिल्पों के लिए मुख्य उपकेंद्रों की पहचान करने के लिए टाय-अप किया है.

ये भी पढ़ें- Reliance Retail की एक और डील, लग्जरी फैशन ब्रांड अब्राहम एंड ठाकोर में किया बड़ा निवेश

राज्य सरकारों के साथ साझेदारी
कारीगर समुदायों से सीधे 100% ऑथेंटिक हैंडक्राफ्टड प्रॉडक्ट्स को खरीदने के लिए “स्वदेश” विभिन्न सरकारी उपक्रमों और राज्य सरकारों के साथ साझेदारी कर रहा है और कपड़ा मंत्रालय के साथ एक समझौता पहले ही कर चुका है. इसके अलावा पश्चिम बंगाल सरकार के एमएसएमई और कपड़ा विभाग के साथ भी एक समझौते पर साइन किए हैं. इस साझेदारी का उद्देश्य एक स्वस्थ, गतिशील इको-सिस्टम का निर्माण करना है. एमओयू पर आज कोलकाता में बंगाल ग्लोबल बिजनेस समिट में हस्ताक्षर किए गए.

(डिस्क्लेमर – नेटवर्क18 और टीवी18 कंपनियां चैनल/वेबसाइट का संचालन करती हैं, जिनका नियंत्रण इंडिपेंडेट मीडिया ट्रस्ट करता है, जिसमें रिलायंस इंडस्ट्रीज एकमात्र लाभार्थी है.)

Tags: Reliance, Reliance Retail

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर