अपना शहर चुनें

States

नकदी संकट से जूझ रहे पाकिस्‍तान को राहत! एडीबी ने 30 करोड़ डॉलर का कर्ज किया मंजूर

एशियन डेवलपमेंट बैंक ने पाकिस्तान की इमरान खान सरकार को राहत देते हुए बड़ा कर्ज मंजूर कर ि‍दिया है.
एशियन डेवलपमेंट बैंक ने पाकिस्तान की इमरान खान सरकार को राहत देते हुए बड़ा कर्ज मंजूर कर ि‍दिया है.

कोविड-19 ने पाकिस्तान (Coronavirus in Pakistan) को उस समय चोट पहुंचाई है, जब वह आर्थिक सुधार (Economic Reforms) की दिशा में काम कर रहा था. उसकी ओर से स्थिरता सुनिश्चित करने के लिए किए जा रहे प्रयासों के नतीजे दिखने लगे थे. एशियन डेवलपमेंट बैंक (ADB) के विशेषज्ञ हिरण्य मुखोपाध्याय ने कहा कि कर्ज (Loan) से पाकिस्तान का चालू खाता घाटा (Current Account Deficit) ठीक करने में मदद मिलेगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 28, 2020, 7:54 PM IST
  • Share this:
इस्लामाबाद. एशियन डेवलपमेंट बैंक (ADB) ने नकदी संकट से जूझ रहे पाकिस्तान (Pakistan) को 30 करोड़ अमेरिकी डॉलर के नीति आधारित कर्ज (Loan) की मंजूरी दे दी है. इससे संकटग्रस्‍त देश में आर्थिक स्थिरता (Economic Stability) को बढ़ावा दिया जा सकेगा. पाकिस्तान ने जी-20 (G-20) के 14 सदस्य देशों से 80 करोड़ डॉलर की कर्ज राहत हासिल की थी, जिसके एक सप्ताह बाद एडीबी ने यह घोषणा की है. दुनिया के धनी देशों के समूह जी-20 देशों का पाकिस्तान पर अगस्त 2020 तक 25.4 अरब डॉलर बकाया था. एडीबी के विशेषज्ञ हिरण्य मुखोपाध्याय ने कहा कि 30 करोड़ डॉलर के कर्ज से व्यापार प्रतिस्पर्धा और निर्यात विविधीकरण में सुधार किया जाएगा.

इस कर्ज से चालू खाता घाटा ठीक करने में मिलेगी मदद
मुखोपाध्याय ने कहा कि कोविड-19 ने पाकिस्तान को उस समय चोट पहुंचाई है, जब वह व्यापक आर्थिक सुधार के अहम बिंदु पर था. उसकी ओर से स्थिरता सुनिश्चित करने के लिए किए जा रहे प्रयासों के अच्‍छे नतीजे दिखने लगे थे. उन्होंने कहा कि एडीबी के कार्यक्रम से पाकिस्तान की निर्यात प्रतिस्पर्धा में सुधार होगा, जिसके उसके चालू खाते के घाटे (Current Account Deficit) को ठीक करने में मदद मिलेगी. दरअसल, पाकिस्तान को कोरोना वायरस महामारी का मुकाबला करने के लिए मदद की दरकार थी, जबकि सरकार का खजाना कर्ज के कारण तेजी से बदहाल हो रहा था.

ये भी पढ़ें- छोटे कर्जदारों के लिए बड़ा झटका! केंद्र ने लोन मोरेटोरियम फिर बढ़ाने का किया विरोध, कहा-बढ़ेगी मुश्किल
जी-20 के मुकाबले ज्‍यादा था एडीबी से मांगा गया कर्ज


पाकिस्तान ने विश्व बैंक (World Bank) और एडीबी से जो कर्ज मांगा था, वह जी-20 देशों से मांगे कर्ज के मुकाबले ज्‍यादा है. बता दें कि इस्लामाबाद ने जी-20 देशों से 1.8 अरब डॉलर मांगे थे. एडीबी और पाकिस्तान के बीच 30.5 करोड़ रुपये के कोविड-19 आपातकालीन कर्ज पर सहमति बनी थी. इनसे पाकिस्‍तान चिकित्सा उपकरण खरीदेगा और गरीब महिलाओं को धन बांटेगा. पाकिस्तान को पिछले महीने अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) से 1.39 अरब अमरीकी डॉलर का आपातकालीन कर्ज और विश्व बैंक से 20 करोड़ डॉलर की सहायता मिली थी.

ये भी पढ़ें- ज्‍यादा प्रीमियम वाली लाइफ इंश्‍योरेंस पॉलिसी पर भी मिलेगी इनकम टैक्‍स में छूट! ICAI ने केंद्र को दिया सुझाव

पाकिस्‍तान पर अगस्त तक 25.4 अरब डॉलर बकाया
दुनिया के धनी देशों के समूह जी-20 देशों का पाकिस्तान पर अगस्त 2020 तक 25.4 अरब डॉलर बकाया था. अनुमान के मुताबिक, पाकिस्तान सिर्फ इस साल ही कर्ज चुकाने पर 2,800 अरब रुपये खर्च करेगा. बता दें कि दो साल पहले जब पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (PTI) की सरकार सत्ता में आई थी, तब सार्वजनिक कर्ज 24,800 लाख करोड़ रुपये था, जो तेजी से बढ़ रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज