अब ReNew Power ने दिखाया बड़ा दिल, 1500 कर्मचारियों और उनके परिजनों के टीकाकरण का खर्च उठाएगी कंपनी

देश में 1 मार्च से कोरोना वैक्सीनेशन का दूसरा चरण शुरू हो गया है.

देश में 1 मार्च से कोरोना वैक्सीनेशन का दूसरा चरण शुरू हो गया है.

कई बड़ी कंपनियों ने अपने कर्मचारियों को फ्री कोरोना का टीका लगवाने का ऐलान किया है. इनमें कैपजेमिनी, इंफोसिस, एक्‍सेंचर, टीवीएस मोटर आदि शामिल हैं.

  • Share this:
नई दिल्ली. देश में बड़े पैमाने पर कोरोना टीकाकरण (Covid-19 Vaccination) शुरू होने के बाद अब कई कंपनियां अपने कर्मचारियों के लिए कोरोना वैक्सीन का खर्च उठाने की योजना बना रही हैं. वहीं, स्वच्छ ऊर्जा कंपनी रिन्यू पावर (ReNew Power) ने अपने 1,500 कर्मचारियों और उनके परिजनों को कोविड-19 का टीका मुफ्त लगवाने का फैसला किया है. कंपनी टीकाकरण के खर्च का बोझ खुद वहन करेगी.

कंपनी करीब 7,500 लोगों के टीकाकरण का खर्च उठाएगी
कंपनी ने कहा कि यदि एक परिवार के सदस्यों की संख्या पांच मानी जाए, तो कंपनी करीब 7,500 लोगों के टीकाकरण की लागत का बोझ उठाएगी. देश में 110 गंतव्यों पर कंपनी के कर्मचारियों तथा उनके परिवार के लोगों को टीका लगवाया जाएगा.

रिन्यू पावर के चेयरमैन और एमडी सुमंत सिन्हा ने कहा कि कंपनी अपने कर्मचारियों तथा उनके आश्रितों के टीकाकरण का खर्च वहन करेगी. उन्होंने कहा कि देश में 110 गंतव्यों पर कंपनी के कर्मचारियों की संख्या 1,500 है. कर्मचारियों को भेजे ई-मेल में सिन्हा ने कहा, ''हम चाहते हैं कि हमारे सभी कर्मचारी सुरक्षित वातावरण में काम करें और टीका लगवाएं.''
ये भी पढ़ें- बहुत आसान है Credit Card Statement समझना, जानें किन-किन चीजों की मिलती है जानकारी



इंफोसिस और एक्‍सेंचर भी कर चुके हैं ऐसी घोषणा
इससे पहले, आईटी क्षेत्र की दिग्गज कंपनी इन्फोसिस इंफोसिस (Infosys) और सॉफ्टवेयर कंसल्टिंग फर्म एक्‍सेंचर (Accenture) ने कहा था कि भारत में अपने कर्मचारियों के लिए कोविड-19 टीकाकरण का पूरा खर्च स्‍वयं उठाएगी. इंफोसिस के चीफ ऑपरेटिंग ऑफ‍िसर प्रवीण राव ने कहा कि इंफोसिस अपने कर्मचारियों एवं उनके परिजनों को कोविड-19 टीका लगाने के लिए हेल्‍थकेयर प्रोवाइडर्स के साथ पार्टनरशिप करने की संभावना तलाश रही है. इसके अलावा महिंद्रा ग्रुप और आईटीसी लिमिटेड कंपनी ने भी कहा था कि वह अपने कर्मचारियों के लिए कोविड-19 टीका खरीदेगी.

ये भी पढ़ें- LPG Gas Subsidy Status: क्या आपके अकाउंट में आ रही है गैस सब्सिडी, ऐसे आसानी से करें पता

देश में शुरू हुआ 2.O Vaccination अभियान
गौरतलब है कि देश में 1 मार्च से कोरोना वैक्सीनेशन का दूसरा चरण शुरू हो गया है. वैक्सीनेशन में 60 साल से ऊपर की उम्र वालों के साथ-साथ 45 से 60 साल तक की उम्र के उन लोगों को भी वैक्सीन की डोज दी जा रही है, जो गंभीर बीमारियों से ग्रसित हैं. लोग सरकारी अस्पतालों के साथ-साथ निजी अस्पतालों में भी कोरोना लगवा रहे हैं. 1 मार्च को पीएम मोदी ने कोरोना का पहला डोज लगवाया वहीं पीएम मोदी ने सभी से बेफिक्र होकर कोरोना का टीका लगाने की बात कही.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज