• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • RBI का बड़ा ऐलान, लक्ष्मी विलास बैंक का DBS Bank के साथ होगा विलय

RBI का बड़ा ऐलान, लक्ष्मी विलास बैंक का DBS Bank के साथ होगा विलय

रिजर्व बैंक ने ऐलान कर दिया है कि लक्ष्‍मी विलास बैंक का डीबीएस बैंक के साथ विलय होगा.

रिजर्व बैंक ने ऐलान कर दिया है कि लक्ष्‍मी विलास बैंक का डीबीएस बैंक के साथ विलय होगा.

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने कहा कि बैंकिंग और फाइनेंशियल स्टेबिलिटी के लिए यह फैसला लेना पड़ा है. इसके साथ ही केंद्रीय बैंक ने मोरेटोरियम (Moratorium) में डाले गए लक्ष्‍मी विलास बैंक (Lakshmi Vilas Bank) के बोर्ड ऑफ डायरेक्‍टर्स की पावर सीज कर दी हैं.

  • Share this:
    नई दिल्‍ली. केंद्र सरकार (Central Government) की ओर से मोरेटोरियम (Moratorium) में डाले गए लक्ष्‍मी विलास बैंक (Laxmi Vilas Bank) को लेकर रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने बड़ा ऐलान किया है. रिजर्व बैंक ने कहा है कि लक्ष्मी विलास बैंक का डीबीएस बैंक इंडिया लिमिटेड (DBS Bank India Ltd.) के साथ विलय होगा. इससे पहले मोरेटोरियम लागू करते हुए आरबीआई ने कहा था कि बैंक के रिवाइवल का कोई दमदार प्लान नहीं होने के कारण यह फैसला लेना पड़ा. वहीं, आरबीआई ने बैंक के बोर्ड ऑफ डायरेक्‍टर्स (BoD) की पावर भी सीज कर दी हैं.

    DBS Bank करेगा 2,500 करोड़ रुपये का तगड़ा निवेश
    रिजर्व बैंक ने कहा कि बैंकिंग और फाइनेंशियल स्टेबिलिटी के लिए लक्ष्‍मी विलास बैंक को पहले मोरेटोरियम में डालने और फिर डीबीएस बैंक के साथ विलय का फैसला लेना पड़ा. विलय स्कीम (Merger Scheme) का ऐलान करते हुए आरबीआई ने कहा कि डीबीएस बैंक 2,500 करोड़ रुपये का निवेश (Investment) करेगा ताकि नई इकाई के क्रेडिट ग्रोथ (Credit Growth) को सपोर्ट मिल सके. लक्ष्मी विलास बैंक पर लागू किया गया मोरेटोरियम यस बैंक (Yes Bank) से अलग है. दरअसल, यस बैंक के रीकंस्ट्रक्शन के लिए मोरेटोरियम लागू किया गया था, लेकिन लक्ष्मी विलास बैंक के मामले में केंद्रीय बैंक ने दबाव बनाकर डीबीएस बैंक के साथ विलय कराने का ऐलान किया है.

    ये भी पढ़ें- लक्ष्मी विलास बैंक के ग्राहकों को तगड़ा झटका, 16 दिसंबर तक निकाल पाएंगे ज्‍यादा से ज्‍यादा 25,000 रुपये

    क्लिक्‍स ग्रुप के साथ विलय की तैयारी में था लक्ष्‍मी विलास बैंक
    इससे पहले वित्‍त मंत्रालय ने बैंक की खराब हालत को देखते हुए इस पर 16 दिसंबर तक के लिए मोरेटोरियम लागू करने का फैसला किया था. रिजर्व बैंक ने कहा कि डीबीएस बैंक इंडिया लिमिटेड के पास पर्याप्त पूंजी है और विलय के बाद भी उसकी वित्तीय स्थिति मजबूत रहेगी. लक्ष्मी विलास बैंक पर मोरेटोरियम लागू करना काफी अहम फैसला है क्योंकि पिछले कुछ दिनों से खबर आ रही थी कि बैंक क्लिक्‍स ग्रुप के साथ विलय की तैयारी में था.

    ये भी पढ़ें- यस बैंक ने नियोक्रेड के साथ लॉन्‍च किया प्रीपेड कार्ड, कैशलेस पेमेंट समेत मिलेंगी ये सुविधाएं

    लक्ष्मी विलास बैंक की वित्तीय स्थिति खराब हो चुकी है. लिहाजा बैंक को चलाते रहने के लिए पूंजी की सख्त जरूरत है. चेन्नई के इस बैंक के शेयरहोल्डर्स की 25 सितंबर की बैठक में सभी सात डायरेक्टर्स की दोबारा नियुक्ति खारिज कर दी गई थी. इनमें बैंक के मैनेजिंग डायरेक्टर और सीईओ एस. सुंदर भी शामिल थे.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज