होम /न्यूज /व्यवसाय /

अगर आपका भी है इस बैंक में खाता तो अब आप सिर्फ 1000 रुपये ही निकाल सकेंगे, जानिए क्या है वजह?

अगर आपका भी है इस बैंक में खाता तो अब आप सिर्फ 1000 रुपये ही निकाल सकेंगे, जानिए क्या है वजह?

रिजर्व बैंक के निर्देशों के अनुसार, यह बैंक RBI की अनुमति के बिना न तो कोई लोन दे पाएगा या ही कर्ज का नवीकरण करेगा. साथ ही बैंक न तो कोई निवेश करेगा और न ही किसी तरह का भुगतान करेगा या भुगतान की सहमति देगा.

रिजर्व बैंक के निर्देशों के अनुसार, यह बैंक RBI की अनुमति के बिना न तो कोई लोन दे पाएगा या ही कर्ज का नवीकरण करेगा. साथ ही बैंक न तो कोई निवेश करेगा और न ही किसी तरह का भुगतान करेगा या भुगतान की सहमति देगा.

रिजर्व बैंक के निर्देशों के अनुसार, यह बैंक RBI की अनुमति के बिना न तो कोई लोन दे पाएगा या ही कर्ज का नवीकरण करेगा. साथ ही बैंक न तो कोई निवेश करेगा और न ही किसी तरह का भुगतान करेगा या भुगतान की सहमति देगा.

    नई दिल्ली. भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने लक्ष्मी सहकारी बैंक लि. सोलापुर (Laxmi Coop Bank Solapur) पर कई अंकुश लगा दिए हैं. बैंक की खराब होती वित्तीय स्थिति के मद्देनजर केंद्रीय बैंक ने यह कदम उठाया है.

    बैंक के ग्राहकों के लिए अपने खातों से निकासी की सीमा 1,000 रुपये तय की गई है. रिजर्व बैंक ने शुक्रवार को बयान में कहा कि बैंकिंग नियमन अधिनियम, 1949 के तहत लगाए गए अंकुश 12 नवंबर, 2021 को कारोबार के घंटे बंद होने के बाद छह महीने तक लागू रहेंगे. इस दौरान अंकुशों की समीक्षा की जाएगी.

    ये भी पढ़ें- क्या आप भी मृत परिजन के बैंक खाते या ATM से निकाल रहे हैं पैसे? तो जान लें अंजाम

    RBI ने दिया निर्देश
    रिजर्व बैंक के निर्देशों के अनुसार, लक्ष्मी सहकारी बैंक केंद्रीय बैंक की अनुमति के बिना न तो कोई ऋण दे पाएगा या ही कर्ज का नवीकरण करेगा. साथ ही बैंक न तो कोई निवेश करेगा और न ही किसी तरह का भुगतान करेगा या भुगतान की सहमति देगा.
    आरबीआई ने कहा, विशेष रूप से सभी बचत बैंक या चालू खातों या जमाकर्ता के किसी अन्य खाते में कुल शेष राशि के एक हजार रुपये से अधिक की राशि को निकालने की अनुमति नहीं दी जा सकती है.

    ये भी पढ़ें- खुशखबरी! इस तारीख को किसानों के खाते में क्रेडिट हो जाएंगे 4000 रुपये, यहां चेक करें स्टेटस

    RBI इस बैंक पर भी लगा चुका है पाबंदी
    भारतीय रिजर्व बैंक ने कहा आगे कहा कि आरबीआई द्वारा निर्देशों के मुद्दे को बैंकिंग लाइसेंस रद्द करने के रूप में नहीं माना जाना चाहिए. बैंक अपनी वित्तीय स्थिति में सुधार होने तक प्रतिबंधों के साथ बैंकिंग कारोबार करना जारी रखेगा. बता दें कि इससे पहले भी आरबीआई ने बाबाजी दाते महिला सहकारी बैंक, यवतमाल, महाराष्ट्र पर भी इसी तरह की पाबंदी लगाई थीं.

    लोन की किस्त पर RBI ने क्या कहा? 
    RBI ने कहा कि जिन ग्राहकों के खाते से लोन की किस्त कटती हैं, उन्हें शर्तों के तहत इसके सेटलमेंट की इजाजत दी जा सकती है. इसके साथ ही बैंक ने साफ शब्दों में कहा कि बैंक पर लागू की गई इन पाबंदियों को बैंकिंग लाइसेंस रद्द होने के रूप में नहीं देखा जाना चाहिए. बैंक अपनी वित्तीय सेहत में सुधार होने तक पाबंदियों के साथ बैंकिंग कारोबार करना जारी रखेगा.

    Tags: ATM transactions, Bank account, Bank branches, Bank fraud, Money, RBI

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर