होम /न्यूज /व्यवसाय /

रिवेंज टूरिज्म : कोरोना से ऊबे लोग अब घूमने की तैयारी में , 2 महीनों के लिए हुई 70% एडवांस बुकिंग

रिवेंज टूरिज्म : कोरोना से ऊबे लोग अब घूमने की तैयारी में , 2 महीनों के लिए हुई 70% एडवांस बुकिंग

 टूर सेक्टर में डिमांड इस बार प्री-कोविड लेवल पर जाती हुई दिख सकती है, लेकिन इस बार अक्सर मिलने वाले ऑफर्स और डिस्कोउंट्स बाजार से नदारद है.

टूर सेक्टर में डिमांड इस बार प्री-कोविड लेवल पर जाती हुई दिख सकती है, लेकिन इस बार अक्सर मिलने वाले ऑफर्स और डिस्कोउंट्स बाजार से नदारद है.

लॉकडाउन और कोरोना के डर से मुक्त लोग इस बार गर्मियों की छुट्टियों का पूरा मजा लेने के मूड में हैं. गर्मियां हैं तो ठंडी जगह लिस्ट में सबसे ऊपर है. इस बार मेघालय खासकर शिलॉन्ग और चेरापूंजी, लद्दाख, रानीखेत के लिए जोरदार डिमांड है.

नई दिल्ली . कोरोना से 2 साल से घरों में बंद लोग अब घूमने के लिए व्याकुल हो गए हैं. 2 साल के बाद अब रिवेंज टूरिज्म चर्चा में है. हिल स्टेशन से लेकर पॉपुलर टूरिस्ट डेस्टिनेशन पर धकाधक बुकिंग हो रही है. होटल्स और रेजॉर्ट में अगले 2 महीनों के लिए 70% से ज्यादा एडवांस बुकिंग हो चुकी है. इससे आप अंदाजा लगा सकते हैं कि क्या स्थिति है.

लॉकडाउन और कोरोना के डर से मुक्त लोग इस बार गर्मियों की छुट्टियों का पूरा मजा लेने के मूड में हैं. गर्मियां हैं तो ठंडी जगह लिस्ट में सबसे ऊपर है. इस बार मेघालय खासकर शिलॉन्ग और चेरापूंजी, लद्दाख, रानीखेत के लिए जोरदार डिमांड है.

केरल के लिए अच्छी बुकिंग आ रही 
इसके अलावा अब तक कोरोना से सबसे ज़्यादा प्रभावित रहे केरल के लिए अच्छी बुकिंग आ रही है. खास कर हिल स्टेशन मुन्नार को सबसे ज्यादा पसंद किया जा रहा है. कोरोना के बाद हेल्दी लाइफस्टाल के प्रति लोगों का रुझान बढ़ा है. ऐसे में लोग एडवेंचर और वैलनेस टूरिज्म को भी अपना रहे हैं.

30% तक ज़्यादा कारोबार की उम्मीद 
टूर सेक्टर में डिमांड इस बार प्री-कोविड लेवल पर जाती हुई दिख सकती है, लेकिन इस बार अक्सर मिलने वाले ऑफर्स और डिस्कोउंट्स बाजार से नदारद है. उल्टा आपको जेब पहले से ज़्यादा ढीली करनी पड़ सकती है और अब महँगे एयरफेअर का असर भी पैकेजेज पर दिख सकता है. जानकारों का मानना है कि टूरिज्म इंडस्ट्री को इस साल 30% तक ज़्यादा कारोबार की उम्मीद है.

यह भी पढ़ें- धरती के स्वर्ग कश्मीर में पर्यटकों ने तोड़ा 10 वर्षों का रिकॉर्ड, समझिए पर्यटन के बदलते ट्रेंड को

रिवेंज ट्रेवल का मतलब होता है कि जब आप किसी तरह की बंदिश को तोड़कर बड़ी संख्या में निकलते हैं जिसमें नियमों की अनदेखी किसी बडे़ खतरे की ओर इशारा करती है. इसके अलावा वैक्सीन के आने के साथ, बहुत से लोग यात्रा को लेकर आशान्वित हैं, इस तथ्य के बावजूद कि अभी तक सभी को टीका नहीं लगाया गया है. एक साल से अधिक समय तक लॉकडाउन में रहने के बाद यात्रा करने की यह इच्छा, इसके खतरों के बावजूद इस तरह के पर्यटन को रिवेंज ट्रवेल कहा जा रहा है.

बड़ी संख्या में पर्यटन केंद्रों की ओर निकले लोग
कोरोना केस की वजह से सरकार की तरफ से अलग -अलग अवधि में लॉकडाउन लगाया गया और उसका असर यह हुआ कि ज्यादातर लोगों को घरों में कैद होना पड़ा. घरों में कैद होने की वजह से नीरसता आ गई और लोगों ने मानसिक परेशानी की शिकायत बताई. अब जबकि देश अनलॉक हो चुका है तो लोग बड़ी संख्या में पर्यटन केंद्रों की तरफ निकल पड़े.

Tags: Free Tourism, Manali tourism, Tourism, Tourism business, Uttarakhand Hill Station Photo, Uttarakhand Tourism

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर