लाइव टीवी

राजस्व सचिव ने कहा - अगले साल 12 प्रतिशत बढ़ सकता है टैक्स कलेक्शन

भाषा
Updated: February 9, 2020, 2:17 PM IST
राजस्व सचिव ने कहा - अगले साल 12 प्रतिशत बढ़ सकता है टैक्स कलेक्शन
राजस्व सचिव अजय भूषण पांडेय

राजस्व सचिव अजय भूषण पांडेय ने कहा कि अर्थव्यवस्था की बाजार मूल्य आधारित वृद्धि दर 10 प्रतिशत रहने का अनुमान है. उसे देखते हुए यह लक्ष्य हासिल हो सकता है. इस समय अर्थव्यवस्था की वृद्धि दर कुल मिलाकर 11 साल के निचले स्तर पर आ गई.

  • Share this:
नई दिल्ली. अगले वित्त वर्ष 2020-21 में कर संग्रह में 12 प्रतिशत की वृद्धि के लक्ष्य को कुछ लोग महत्वाकांक्षी मान रहे हैं, लेकिन राजस्व सचिव अजय भूषण पांडेय इसे हासिल होने योग्य लक्ष्य मानते हैं. पांडेय ने कहा कि अर्थव्यवस्था की बाजार मूल्य आधारित वृद्धि दर 10 प्रतिशत रहने का अनुमान है. उसे देखते हुए यह लक्ष्य हासिल हो सकता है. इस समय अर्थव्यवस्था की वृद्धि दर कुल मिलाकर 11 साल के निचले स्तर पर आ गई.

चालू वित्त वर्ष में नहीं पूरा हो सकेगा टैक्स लक्ष्य
कंपनी या कॉरपोरेट कर की दर में कटौती की वजह से सरकार के कर संग्रह के लक्ष्य से भारी अंतर से चूकने की आशंका है. कर संग्रह में कमी की वजह से सरकार लगातार तीसरे साल राजकोषीय घाटे के लक्ष्य से चूक सकती है. पांडेय ने बताया कि 2020-21 में 24.23 लाख रुपये के कर संग्रह के लक्ष्य को हासिल करने की उम्मीद है.



यह भी पढ़ें: बैंक ने लोन देने से किया मना तो सीधे सरकार से कर सकेंगे शिकायत

अगले वित्त वर्ष में टैक्स कलेक्शन बढ़ने का अनुमान
पांडेय ने कहा, 2020-21 में बाजार मूल्य आधारित जीडीपी की वृद्धि दर 10 प्रतिशत रहने का अनुमान है. ऐसे में इस पर कर राजस्व में 12 प्रतिशत की वृद्धि का लक्ष्य हासिल किया जा सकता है. बजट 2020-21 में सकल कर संग्रह का लक्ष्य 24.23 लाख करोड़ रुपये रखा गया है, जो चालू वित्त वर्ष के 21.63 लाख करोड़ रुपये के लक्ष्य से 12 प्रतिशत अधिक है. अगले वित्त वर्ष में व्यक्तिगत आयकर संग्रह 6.38 लाख करोड़ रुपये रहने का अनुमान है, जो 2019-20 के 5.59 लाख करोड़ रुपये से 14.13 प्रतिशत अधिक होगा.

चालू वित्त वर्ष के लिए क्या है लक्ष्य
इसके अलावा कंपनी कर संग्रह के 11.63 प्रतिशत बढ़कर 6.81 लाख करोड़ रुपये पर पहुंचने का अनुमान है. इसके चालू वित्त वर्ष में 6.10 लाख करोड़ रुपये रहने का अनुमान है. चालू वित्त वर्ष के लिए सरकार ने कर संग्रह के लक्ष्य को 24.61 लाख करोड़ रुपये के बजट अनुमान से घटाकर 21.63 लाख करोड़ रुपये कर दिया है.

यह भी पढ़ें: लगातार 5 दिन बंद रहेंगे बैंक और ATM, पहले ही कर लें कैश का इंतजामनौकरी करने

वालों के लिए बेहद जरूरी है पैन कार्ड, आज ही जान लें इससे जुड़े नियम

इस स्कीम में 10 हजार रुपये का शुरुआती निवेश कर महीने होगी ₹80 हजार की कमाई

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 9, 2020, 2:15 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर