लाइव टीवी

रिटायरमेंट के बाद बैंक देगा आपको हर महीने पैसा! जानिए इस खास स्कीम के बारें में...


Updated: May 9, 2019, 1:09 PM IST
रिटायरमेंट के बाद बैंक देगा आपको हर महीने पैसा! जानिए इस खास स्कीम के बारें में...
प्रतीकात्मक फोटो

Reverse Mortgage Loan in Hindi: इस स्कीम के तहत मालिक को बैंक को पैसा वापस नहीं करना होता है. बैंक आपके घर को गिरवी रखने के हर महीने पैसा देता रहता है. इस स्कीम के तहत बैंक 60 साल की उम्र से अधिक लोगों को ही लोन देता है.

  • Share this:
उम्र बढ़ने के साथ ही बुढ़ापे में काम करने की क्षमता भी घट जाती है. ऐसी स्थिति में घर चलाने के लिए बुजुर्गों पास बहुत ही सीमित विकल्प होते हैं. साथ ही उन्हें कई वित्तीय समस्याओं का भी सामना करना पड़ता है. आज हम आपको बताते हैं रिवर्स मॉर्गेज लोन (Reverse Mortgage Loan) के बारे में. भारत में इस लोन को बहुत कम लोग लेते हैं. कई सीनियर सिटीजंस इस स्कीम के बारे में जानकारी नहीं होती या फिर उनके परिवार के लोग उनका खर्च चलाते हैं जिससे सीनियर सिटीजन्स को ऐसे लोन की जरूरत ही नहीं पड़ती. (ये भी पढ़ें: भारतीय अमीरों ने बदला कमाई का तरीका, अब यहां लगा रहे हैं पैसा)

जैसा कि यह नाम से ही रिवर्स लग रहा है, मतलब वापस. इसे अच्छे तरीके से समझने के लिए चलिए हम होम लोन का सहारा लेते हैं. होम लोन में हमें घर के सारे दास्तावेज जमा करने पर लोन मिल जाता है. फिर उस लोन को चुकाने के लिए महीने की किस्त भरते रहते हैं. जिसे ईएमआई कहते हैं. मतलब एक मुश्त रकम मिल गई. फिर उसे किश्तों में भरते रहते हैं. अब रिवर्स मॉर्गेज लोन में होता यह है कि बैंक आपका घर गिरवी रख लेते हैं. फिर हर महीने बैंक आपको पैसे देते रहते हैं. आवेदक की जब मृत्यु हो जाती है तो ये घर बैंक का हो जाता है.

किसे मिल सकता है...
यह सही है कि यह कार लोन, पर्सनल लोन, एजुकेशन लोन से अलग है. इस लोन को पाने के लिए ही 60 साल से अधिक की उम्र होना जरूरी है. वहीं महिलाओं के लिए 58 साल की उम्र होना आवश्यक है. ये भी पढ़ें: आप में स्किल है तो अब घर बैठे मिलेगी नौकरी, मोदी सरकार की है ये प्लानिंग



बाकी लोन से इस प्रकार है अलग...
इस स्कीम के तहत मालिक को बैंक को पैसा वापस नहीं करना होता है. बैंक आपके घर को गिरवी रखने के हर महीने पैसा देता रहता है. इस स्कीम के तहत बैंक 60 साल की उम्र से अधिक लोगों को ही लोन देता है. कुछ बैंक हैं जो 72 साल की उम्र पार करने पर ये लोन नहीं देते. यह लोन 15 साल तक के लिए ही मिलता है. यदि पति-पत्नी दोनों लोग इस लोन के लिए अप्लाई करते हैं तो पति की उम्र 60 साल और पत्नी की उम्र 58 साल होना जरूरी है.
Loading...

हर महीने कितना पैसा मिलेगा?
यह सवाल ही सबसे महत्वपूर्ण है. आपको हर महीने कितना पैसा मिलेगा, यह घर की कीमत पर निर्भर करता है. घर की कीमत पर 60 फीसदी लोन मिल सकता है. इसके साथ ही मालिक अपने घर पर रह सकता है. रिवर्स मॉर्गेज स्कीम के तहत अपना घर गिरवी रखने वाले व्यक्ति की मृत्यु के बाद घर बैंक का हो जाता है. अब यदि उस व्यक्ति के परिजन घर लेना चाहें तो घर की कीमत देकर घर को खरीदा जा सकता है.

ये भी पढ़ें: SBI की अलर्ट सर्विस ऐसे करें शुरू, खाते में पैसा रहेगा सेफ

किनके लिए फायदेमंद..
यह लोन उन सीनियर सिटीजन्स के लिए उपयोगी है, जिनकी देखभाल करने वाला कोई नहीं है. परिवार में उनके बच्चे उनसे अलग रहते हैं. साथ ही खर्च करने के लिए पैसे भी नहीं देते. या फिर आप सिंगल हैं आपने कोई पेंशन स्कीम भी नहीं ली है. ऐसे में अगर कोई सीनियर सिटीजंस बेसहारा हो जाये तो उसके लिए रिवर्स मॉर्गेज लोन किसी संजीवनी से कम नहीं है.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 9, 2019, 11:55 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...