होम /न्यूज /तकनीक /5G है 5 बड़े लक्ष्‍यों का छोटा नाम, जिनको हासिल कर भारत बनेगा दुनिया की इंटेलीजेंस कैपिटल: RIL CMD मुकेश अंबानी

5G है 5 बड़े लक्ष्‍यों का छोटा नाम, जिनको हासिल कर भारत बनेगा दुनिया की इंटेलीजेंस कैपिटल: RIL CMD मुकेश अंबानी

इंडियन मोबाइल कांग्रेस में जियो के 5जी रोलआउट प्लान पर बोलते रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी. (Photo: PM Modi Youtube)

इंडियन मोबाइल कांग्रेस में जियो के 5जी रोलआउट प्लान पर बोलते रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी. (Photo: PM Modi Youtube)

IMC 2022: रिलायंस इंडस्‍ट्रीज के चेयरमैन व प्रबंध निदेशक मुकेश अंबानी ने कहा, 'मुझे लगता है कि 5G तकनीक 21वीं सदी की अन ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

इंडिया मोबाइल कांग्रेस 2022 में रिलायंस इंडस्ट्रीज के CMD मुकेश अंबानी ने अपने विचार रखे.
सीएमडी अंबानी ने कहा, 5G तकनीक से 21वीं सदी की अन्य टेक्नोलॉजी का लाभ उठाने में मिलेगी मदद.
इस कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश में 5G मोबाइल टेक्‍नोलॉजी सेवाओं की शुरुआत की.

नई दिल्ली. देश में 5G सर्विस की शुरुआत के बाद रिलायंस इंडस्‍ट्रीज के चेयरमैन व प्रबंध निदेशक मुकेश अंबानी ने कहा कि 5G कनेक्टिविटी नेक्सट जेनेरेशन की तुलना में बहुत ज्यादा तेज है. इस सर्विस के जरिये 21वीं सदी में आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस और मेटावर्स जैसी तकनीक का पूरा लाभ उठाया जा सकेगा. आरआईएल के सीएमडी मुकेश अंबानी ने नई दिल्ली में आयोजित इंडिया मोबाइल कांग्रेस 2022 में यह बात कही. इस कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश में 5G नेटवर्क सेवा की शुरुआत की.

रिलायंस इंडस्‍ट्रीज के सीएमडी मुकेश अंबानी ने इस मौके पर कहा, ‘मुझे लगता है कि 5G तकनीक 21वीं सदी की अन्य टेक्नोलॉजी जैसे आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस, इंटरनेट ऑफ थिंग्स, रोबोटिक्स, ब्लॉकचैन और मेटावर्स का पूरी क्षमताओं के साथ लाभ उठाने का अवसर देगी.’ साथ ही कहा, ‘5G एक ऐसा संक्षिप्त शब्द है, जिसके जरिये 5 बड़े लक्ष्यों को निर्धारित कर देश में बड़ा बदलाव लाया जा सकता है. इससे भारत दुनिया की इंटेलीजेंस कैपिटल बन सकता है.’

ये भी पढ़ें- PM नरेंद्र मोदी ने लॉन्च किया 5G नेटवर्क, कहा- पहले 1GB डेटा की कीमत थी 300 रुपये, अब है सिर्फ 10 रुपये

  1. 5G तकनीक से सक्षम डिजिटल सुविधाएं आम भारतीयों तक पहुंचेगी. इसके जरिए लोगों को उच्च गुणवत्ता वाली शिक्षा और कौशल विकास में मदद मिलेगी. यह तकनीक विश्‍वस्तरीय क्षमताओं और प्रतिस्पर्धा के अवसर प्रदान करके भारतीय युवाओं को उन्हें उनकी क्षमताओं का अहसास कराएगी ताकि वे भारत को विश्‍वस्तर पर प्रतिस्पर्धी बना सकें.
  2. 5G सर्विस बिना किसी अतिरिक्त निवेश के मौजूदा अस्पतालों को स्मार्ट हॉस्पिटल में बदलकर ग्रामीण और दूरदराज के क्षेत्रों में उच्च गुणवत्ता वाली स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान कर सकती है. इससे भारत में कहीं भी टॉप डॉक्टर्स की सेवाएं डिजिटल रूप से उपलब्ध होंगी. इससे इलाज की गति और उससे जुड़े फैसलों में सुधार होगा. साथ ही इलाज को लेकर तुरंत उचित ​​​​निर्णय लेने में मदद मिलेगी. इससे सभी भारतीयों की सेहत और खुशियों में वृद्धि होगी.
  3. 5G टेक्नोलॉजी से शहरी और ग्रामीण भारत के बीच की खाई को कम किया जा सकता है. कृषि, सेवा, व्यापार, उद्योग, अनौपचारिक क्षेत्र, परिवहन और ऊर्जा के बुनियादी ढांचे के डिजिटलीकरण व इंटेलीजेंस डेटा मैनेजमेंट में तेजी लाकर ऐसा करना संभव है. यह सभी आर्थिक गतिविधियों में भारी दक्षता पैदा करेगा. भारत को नवाचारों का केंद्र बनाएगा. इससे हमें जलवायु संकट को कम करने में भी मदद मिलेगी.
  4. 5G तकनीक छोटे पैमाने के उद्योग और वाणिज्यिक उद्यमों को उतने ही शक्तिशाली प्रॉडेक्टिविटी टूल्स उपलब्ध करा सकता है, जो बड़े कमर्शियल एंटरप्राइजेस द्वारा उपयोग में लाए जाते हैं. इससे भारत की अर्थव्यवस्था के सभी क्षेत्रों के आधुनिकीकरण को बढ़ावा मिलेगा.
  5. हर क्षेत्र में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस लाकर 5G तकनीक भारत को दुनिया की इंटेलीजेंस कैपिटल के रूप में उभरने में मदद कर सकती है. इससे भारत को हाई-वैल्यू डिजिटल सॉल्युशन और सर्विसेज का एक प्रमुख निर्यातक बनने में मदद मिलेगी.

(डिस्क्लेमर:- न्यूज18 हिंदी, रिलायंस इंडस्ट्रीज की कंपनी नेटवर्क18 मीडिया एंड इन्वेस्टमेंट लिमिटेड का हिस्सा है. नेटवर्क18 मीडिया एंड इन्वेस्टमेंट लिमिटेड का स्वामित्व रिलायंस इंडस्ट्रीज के पास ही है.)

Tags: 5G Technology, Chairman of Reliance Industries Limited, Mukesh ambani, PM Modi

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें