लाइव टीवी

माइक्रोसॉफ्ट के साथ पार्टनरशिप पर हम बेहद उत्साहित, ये दशक की निर्णायक साझेदारी होगी- मुकेश अंबानी

News18Hindi
Updated: February 24, 2020, 2:51 PM IST
माइक्रोसॉफ्ट के साथ पार्टनरशिप पर हम बेहद उत्साहित, ये दशक की निर्णायक साझेदारी होगी- मुकेश अंबानी
भारत में हमारे पास एक प्रमुख डिजिटल समाज बनने का मौका

रिलायंस इंडस्ट्रीज (RIL) के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने कहा, 'माइक्रोसॉफ्ट (Microsoft) के साथ RIL की साझेदारी दशक की निर्णायक साझेदारी होगी.' अंबानी ने मुंबई में फ्यूचर डिकोडेड सीईओ 2020 समिट (Future Decoded CEO 2020 Summit) में माइक्रोसॉफ्ट के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (CEO) सत्य नडेला से बातचीत के दौरान यह बात कही.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 24, 2020, 2:51 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. रिलायंस इंडस्ट्रीज (Reliance Industries) के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने कहा कि माइक्रोसॉफ्ट (Microsoft) के साथ रिलायंस इंडस्ट्रीज (RIL) की साझेदारी दशक की निर्णायक साझेदारी होगी. अंबानी ने मुंबई में फ्यूचर डिकोडेड सीईओ 2020 समिट (Future Decoded CEO 2020 Summit) में माइक्रोसॉफ्ट के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (CEO) सत्य नडेला से बातचीत के दौरान यह बात कही. अंबानी ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के भारत दौरे पर भी टिप्पणी की. उन्होंने कहा, 'ट्रंप जो भारत देखेंगे, वह पिछले अमेरिकी राष्ट्रपतियों से बहुत अलग होगा.'

मुंबई में आयोजित फ्यूचर डिकोडेड सीईओ 2020 समिट में मुकेश अंबानी ने सत्य नडेला से बातचीत के दौरान कहा, 'भारत में हमारे पास एक प्रमुख डिजिटल समाज बनने का मौका है. भारत में जमीनी स्तर पर उद्यमिता की विराट ताकत है. इस बात में कोई संदेह नहीं है कि हम जल्द दुनिया की शीर्ष तीन अर्थव्यवस्थाओं में होंगे.'



अंबानी ने कहा, 'भारत में मोबाइल नेटवर्क दुनिया में किसी से बेहतर या बराबर है. मौलिक रूप से, भारत की प्रगति प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में आगे बढ़ी है. शुरुआती दिनों में टीसीएस (TCS), इन्फोसिस (Infosys) ने तकनीक सुधारों को आगे बढ़ाया.'



RIL चेयरमैन ने कहा, 'प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हमें डिजिटल इंडिया का वीजन दिया और Jio के लॉन्च के साथ डिजिटल इंडिया में हमें एक बहुत छोटी भूमिका निभायी. जियो से पहले देश में डेटा की कीमत 300 से 500 रुपये प्रति जीबी थी, जो जियो आने के बाद 12 से 14 रुपये प्रति जीबी हो गई. 38 करोड़ लोग अब जियो की 4जी प्रौद्योगिकी का इस्तेमाल कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि जियो से पहले डेटा की रफ्तार 256 kbps थी. जियो के बाद यह 21 mbps तक पहुंच गई है. डेटा की खपत में भी इजाफा हुआ है. डिजिटल इंडिया एक जन आंदोलन बन गया है.'



अंबानी ने नडेला से बातचीत के दौरान कहा, 'रिलायंस इंडस्ट्रीज की स्थापना बतौर स्टार्टअप हुई थी, जब स्टार्टअप एक इंडस्ट्री नहीं बनी थी, हर छोटे बिजनेस और आंत्रप्रेन्योर में ये क्षमता होती है कि वो धीरूभाई अंबानी या बिल गेट्स बन सके. स्मॉल, मीडियम और माइक्रो इंडस्ट्री भारत की जीडीपी का अहम हिस्सा है. हमारे पिताजी ने एक टेबल, कुर्सी और एक हजार रुपये से रिलायंस की स्थापना की थी. जियो और माइक्रोसॉफ्ट के पास एमएसएमई को पूरी तरह से सक्षम करने के लिए अवसर है. एमएसएमई भारत के एक्सपोर्ट में 40% योगदान करते हैं.



माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ सत्य नडेला का कहना है कि भारतीय कंपनियों के सीईओ को तकनीकी रूप से सक्षम बनने की जरूरत है. यह भी तय करना होगा कि समाधान संयुक्त रूप से सामने आएं. नडेला ने मुंबई में माइक्रोसॉफ्ट के फ्यूचर डिकोडेड सीईओ कॉन्क्लेव में ये बात कही. सोमवार को भारत दौरे पर पहुंचे नडेला यहां तीन दिन रहेंगे.

नडेला ने बताया कि साइबर अपराधों की वजह से दुनिया के कारोबारों को 1 ट्रिलियन डॉलर का नुकसान हुआ है. दुनिया की जरूरतों को देखते हुए हम चाहते हैं कि सबसे ओपन इन्फ्रास्ट्रक्चर तैयार करें. 2030 तक हमारे पास 50 अरब कनेक्टेड डिवाइस होंगी. हमें यह सुनिश्चित करना होगा कि प्रोडक्टिविटी बढ़ाने में डिजिटल की प्रमुख भूमिका हो. भारत में सॉफ्टवेयर इंजीनियर के लिए 72% नौकरियां टेक्नोलॉजी इंडस्ट्री के बाहर मौजूद हैं.

डिस्क्लेमर: न्यूज़18 हिंदी रिलायंस इंडस्ट्रीज की कंपनी नेटवर्क18 मीडिया एंड इन्वेस्टमेंट लिमिटेड का हिस्सा है. नेटवर्क18 मीडिया एंड इन्वेस्टमेंट लिमिटेड का स्वामित्व रिलायंस इंडस्ट्रीज के पास ही है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 24, 2020, 1:42 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर