vidhan sabha election 2017

रिलायंस इंडस्‍ट्रीज का प्रॉफिट 13% बढ़ा, अनुमानों से काफी अच्‍छा रहा प्रदर्शन

News18Hindi
Updated: October 13, 2017, 7:00 PM IST
रिलायंस इंडस्‍ट्रीज का प्रॉफिट 13% बढ़ा, अनुमानों से काफी अच्‍छा रहा प्रदर्शन
रिलायंस इंडस्‍ट्री को वर्तमान वित्‍त वर्ष की दूसरी तिमाही में 8,097 करोड़ रुपए का प्रॉफिट हुआ है. यह आंकड़ा पहली तिमाही के 9,079 करोड़ रुपए से 10.8 फीसदी कम है. हालांकि कंपनी का ऑपरेशनल परफॉर्मेंस एनालिस्‍ट की उम्‍मीदों से काफी अच्‍छा रहा है. एबिटडा यानी कुल आय 15,565 करोड़ रुपए और दूसरी तिमाही में मार्जिन 16.4 फीसदी है.
News18Hindi
Updated: October 13, 2017, 7:00 PM IST
रिलायंस इंडस्‍ट्री को वर्तमान वित्‍त वर्ष की दूसरी तिमाही में 8,097 करोड़ रुपए का प्रॉफिट हुआ है. यह पिछले साल की इस अवधि की तुलना में 12.8 फीसदी अधिक है. हालांकि वर्तमान वित्‍त वर्ष की पहली तिमाही में यह आंकड़ा 9,079 करोड़ रुपए था, जिससे यह 10.8 फीसदी कम है. वैसे कंपनी का ऑपरेशनल परफॉर्मेंस एनालिस्‍ट की उम्‍मीदों से काफी अच्‍छा रहा है.

रिलायंस इंडस्‍ट्री के चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्‍टर मुकेश अंबानी ने कंपनी के अच्‍छे प्रदर्शन पर कहा, ‘लगातार दूसरी‍ तिमाही में कंपनी के जोरदार प्रदर्शन में रिलायंस जियो के शानदार फाइनेंशियल परफॉर्मेंस का भी अहम योगदान है. जियो के कमर्शियल ऑपरेशन के पहले क्‍वार्टर में अच्‍छे नतीजे आए हैं.

अंबानी ने आगे कहा कि जियो के मजबूत वित्‍तीय नतीजों से साफ है कि जियो का बिजनेस मॉडल दमदार है. उनके अनुसार, नवीनतम 4जी टेक्‍नोलॉजी में निवेश और उचित बिजनेस रणनीति के दम पर कंपनी को अच्‍छे नतीजे मिले हैं.

वैसे रिलायंस जियो को इस क्‍वार्टर में 270.6 करोड़ रुपए का नुकसान हुआ है, जबकि पहले क्‍वार्टर में यह 21.3 करोड़ रुपए था. इस क्‍वार्टर के लिए कंपनी का रेवेन्‍यू 6,147.06 करोड़ रुपए रहा है. हालांकि दूसरी तिमाही में कंपनी का घाटा विशेषज्ञों के अनुमानों से काफी कम है.

विशेषज्ञों का अनुमान था कि जियो को इस तिमाही में लगभग 2000 करोड़ रुपए का नुकसान हो सकता है. दूसरी तिमाही में जियो की कुल आय 1442 करोड़ रुपए और मार्जिन 23.45 फीसदी रहा है.

दूसरी तिमाही में कंपनी का रेवेन्‍यू साल दर साल आधार पर 16.5 फीसदी बढ़कर 95,085 करोड़ रुपए हो गया. इस ग्रोथ में पेट्रोकेमिकल, रिफाइनिंग, संगठित रिटेल और डिजिटल बिजनेस का सबसे अधिक योगदान रहा है.

तिमाही आधार पर पेट्रोकेमिकल बिजनेस में 10 फीसदी और सालाना आधार पर 24.87 फीसदी ग्रोथ दर्ज की गई और यह 27,999 करोड़ रुपए का रहा. कंपनी का रिफाइनिंग बिजनेस तिमाही आधार पर 4.2 फीसदी और साल दर साल आधार पर 15.3 फीसदी बढ़कर 69,766 करोड़ रुपए हो गया.

डिस्क्लेमरः न्यूज 18 हिंदी नेटवर्क 18 समूह का हिस्सा है. न्यूज 18 हिंदी और अन्य डिजिटल, प्रिंट और टीवी चैनल नेटवर्क 18 के अंतर्गत आते हैं. नेटवर्क 18 का स्वामित्व और प्रबंधन रिलायंस इंडस्ट्रीज के हाथ में है.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर