RIL Q3 Results: तीसरी तिमाही में रिलायंस का मुनाफा रिकॉर्ड 41.6% फीसदी बढ़ा, शुद्ध लाभ 15 हजार करोड़ पर पहुंचा

रिलायंस इंडस्ट्रीज ने शुक्रवार को 31 दिसंबर 2020 को समाप्त तिमाही के नतीजे घोषित किए.

रिलायंस इंडस्ट्रीज ने शुक्रवार को 31 दिसंबर 2020 को समाप्त तिमाही के नतीजे घोषित किए, उम्मीद से बेहतर रहा जियो का एआरपीयू

  • Share this:
    मुंबई. रिलायंस इंडस्ट्रीज ने शुक्रवार को वित्त वर्ष 2020-21 की 31 दिसंबर को समाप्त हुई तीसरी तिमाही के आंकड़े जारी कर दिए हैं. कंपनी ने अक्टूबर-दिसंबर की तिमाही में बीते साल की समान तिमाही के मुकाबले अपने मुनाफे में रिकॉर्ड 41.6 की बढ़ोतरी दर्ज की है. कंपनी की इस ग्रोथ में O2C, रिटेल और डिजिटल कारोबार में आई जोरदार ग्रोथ का सबसे अहम योगदान रहा है.

    कंपनी का समेकित शुद्ध लाभ 15015 करोड़ रुपए रहा. जबकि बीते साल समान अवधि में यह 11,841 करोड़ रुपए रहा था. वहीं पिछली तिमाही में कंपनी का मुनाफा 9567 करोड़ रुपए रहा था. इस तिमाही में कंपनी की आय 1.18 लाख करोड़ रुपए रही है. इसके 1.26 करोड़ रुपए रहने का अनुमान था. वहीं पिछली तिमाही में कंपनी की आय 1.11 लाख रुपए रही थी.

    कंपनी के नतीजे जारी होने के इस मौके पर RIL के चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर मुकेश अंबानी ने कहा कि एक ऐसे समय जब भारतीय अर्थव्यवस्था फिर से ग्रोथ के रास्ते पर जाती दिख रही है. हम इस बात को लेकर खुशी महसूस कर रहे हैं कि रिलायंस इंडस्ट्रीज ने वित्त वर्ष 2021 की तीसरी तिमाही में देश के ग्रोथ में अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया है. उन्होंने आगे कहा कि O2C, रिटेल सेगमेंट और डिजिटल सर्विस कारोबार में जबरदस्त रिवाइवल के चलते कंपनी ने तीसरी तिमाही में दमदार नतीजे पेश किए हैं.

    उन्होंने कहा कि भारत इस समय डिजिटल क्रांति के दुनिया के अग्रणी देशों में शामिल है. इस बढ़त को बनाए रखने के लिए रिलायंस जियो अपने डिजिटल प्लेटफॉर्म के जरिए नई पीढ़ी की तकनीकी और देश में विकसित 5G को विकसित करने और देश भर में ये सेवाएं उपलब्ध कराने के लिए फोकस बनाए रखेगी. कंपनी इन सेवाओं को किफायती बनाने और आम लोगों को उपलब्ध कराने के लिए प्रतिबद्ध है. उन्होंने आगे कहा कि रिलायंस जियो की 5G सेवाएं आत्मनिर्भर भारत के विजन को पूरा करेंगी.

    एबिटा मार्जिन में 18.3 फीसदी की हुई बढ़ोतरी
    तीसरी तिमाही में कंपनी का EBITDA 21566 करोड़ रुपए रहा है. इसके 22100 करोड़ रुपए रहने के अनुमान था. वहीं, पिछली तिमाही में कंपनी का EBITDA 18945 करोड़ रुपए रहा था. इसी तरह तीसरी तिमाही में कंपनी का EBITDA मार्जिन 18.3 फीसदी रही है. इसके 17.4 फीसदी रहने का अनुमान था. वहीं, पिछली तिमाही में कंपनी का EBITDA मार्जिन 17 फीसदी रहा था.

    जियो का एआरपीयू हुआ बेहतर
    दिसंबर 2020 को समाप्त तिमाही में रिलायंस जियो का प्रदर्शन भी शानदार रहा है. तीसरी तिमाही में सब्सिडियरी कंपनी रिलायंस जियो का प्रति उपभोक्ता औसत रेवेन्यू (ARPU) 151 रुपए प्रति महीने रही है. यह 149 से 150 रुपए के अनुमान से ज्यादा रही है. जबकि पिछली तिमाही में यह 145 रुपए था. इस अवधि में तिमाही आधार पर कंपनी के मुनाफे में 15.5 फीसदी की ग्रोथ देखने को मिली है. इस तिमाही में रिलायंस जियो का मुनाफा 3489 करोड़ रुपए रहा है. जबकि इसकी आय तिमाही आधार 5.3 फीसदी की बढ़त के साथ 19475 करोड़ रुपए रही है. तीसरी तिमाही में रिलायंस जियो का EBITDA में तिमाही आधार पर 6.4 फीसदी की बढ़त देखने को मिली है और यह 8483 करोड़ रुपये पर रही है.

    (डिस्केलमर- न्यूज18 हिंदी, रिलायंस इंडस्ट्रीज की कंपनी नेटवर्क18 मीडिया एंड इन्वेस्टमेंट लिमिटेड का हिस्सा है. नेटवर्क18 मीडिया एंड इन्वेस्टमेंट लिमिटेड का स्वामित्व रिलायंस इंडस्ट्रीज के पास ही है.)

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.