Home /News /business /

ब्रोकरेज कंपनी Barclays का अनुमान- FY22 में बढ़ सकता है करंट अकाउंट डेफिसिट, जानिए वजह

ब्रोकरेज कंपनी Barclays का अनुमान- FY22 में बढ़ सकता है करंट अकाउंट डेफिसिट, जानिए वजह

रिपोर्ट में कहा गया कि वर्तमान स्थिति के आधार सीएडी सालाना आधार पर तीन फीसदी के करीब चल रहा है.

रिपोर्ट में कहा गया कि वर्तमान स्थिति के आधार सीएडी सालाना आधार पर तीन फीसदी के करीब चल रहा है.

विदेशी ब्रोकरेज कंपनी बार्कलेज (Barclays) ने भारत के लिये 2021-22 में करंट अकाउंट डेफिसिट यानी सीएडी (CAD) के अनुमान को बढ़ाकर 60 अरब अमेरिकी डॉलर कर दिया है, जो ग्रॉस डोमेस्टिक प्रोडक्ट यानी जीडीपी (GDP) का 1.9 फीसदी है. देश में नवंबर के दौरान व्यापार घाटे यानी ट्रेड डेफिसिट (Trade Deficit) के रिकॉर्ड 23.27 अरब डॉलर पर पहुंचने के बीच यह अनुमान बढ़ाया गया है. इससे पहले, बार्कलेज ने पहले चालू वित्त वर्ष के लिए 45 अरब डॉलर के सीएडी का अनुमान जताया था.

अधिक पढ़ें ...

    मुंबई. विदेशी ब्रोकरेज कंपनी बार्कलेज (Barclays) ने भारत के लिए 2021-22 में करंट अकाउंट डेफिसिट यानी सीएडी (CAD) के अनुमान को बढ़ाकर 60 अरब अमेरिकी डॉलर कर दिया है, जो ग्रॉस डोमेस्टिक प्रोडक्ट यानी जीडीपी (GDP) का 1.9 फीसदी है. देश में नवंबर के दौरान व्यापार घाटे यानी ट्रेड डेफिसिट (Trade Deficit) के रिकॉर्ड 23.27 अरब डॉलर पर पहुंचने के बीच यह अनुमान बढ़ाया गया है. इससे पहले, बार्कलेज ने पहले चालू वित्त वर्ष के लिए 45 अरब डॉलर के सीएडी का अनुमान जताया था.

    बुधवार को जारी सरकारी आंकड़े के अनुसार नवंबर, 2021 के दौरान निर्यात (Exports) सालाना आधार पर 26.5 फीसदी बढ़कर 29.88 अरब अमेरिकी डॉलर रहा. वहीं आयात (Imports) भी 57.2 फीसदी बढ़कर 53.15 अरब डॉलर पर पहुंच गया जिससे ट्रेड डेफिसिट 23.27 अरब डॉलर हो गया है.

    बढ़ रहा है ट्रेड डेफिसिट
    बार्कलेज की रिपोर्ट के अनुसार देश का आयात और निर्यात के बीच अंतर यानी ट्रेड डेफिसिट बढ़ रहा है और अस्थिर बना हुआ है. ऐसा कमजोर निर्यात और घरेलू गतिविधियों में वृद्धि और जिंसों की ऊंची कीमतें के कारण हो रहा है.

    2 फीसदी के करीब रह सकता है करंट अकाउंट डेफिसिट
    वहीं, कच्चे तेल की कीमतों में हालिया सुधार से घाटे की प्रवृत्ति को हल्का समर्थन मिल सकता है. औसत आधार पर स्थायी व्यापारिक घाटा (Merchandise Deficit) प्रति माह लगभग 16 से 17 अरब डॉलर का है, जिससे सीएडी दो फीसदी के करीब रह सकता है.

    ये भी पढ़ें- Twitter पर गायब हो रहे हैं फॉलोअर्स, नाराज यूजर्स ने नए भारतीय CEO Parag Agarwal को सुनाईं खरी-खोटी

    रिपोर्ट में कहा गया कि वर्तमान स्थिति के आधार सीएडी सालाना आधार पर तीन फीसदी के करीब चल रहा है. छोटी अवधि में कुछ कटौती को ध्यान में रखते हुए हम अपने सीएडी पूर्वानुमान को बढ़ाकर 60 अरब डॉलर कर रहे हैं. यह जीडीपी का 1.9 फीसदी है. पहले यह अनुमान 45 अरब डॉलर का था.

    क्या होता है करंट अकाउंट डेफिसिट
    करंट अकाउंट डेफिसिट किसी देश के ट्रेड की माप है जहां आयात होने वाली वस्तुओं और सेवाओं का मूल्य उसके द्वारा निर्यात की जाने वाली वस्तुओं और सेवाओं के मूल्य से ज्यादा हो जाता है.

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर