इसलिए आपका टिकट चेक नहीं कर सकती रेलवे पुलिस!

टिकट चेक करने का अधिकार रेलवे पुलिस को कभी नहीं था. इसलिए यदि आरपीएफ का कोई जवान टिकट चेक करता है तो वह गलत है, इसका अधिकार सिर्फ टीटीई को है

News18Hindi
Updated: June 29, 2019, 4:18 PM IST
इसलिए आपका टिकट चेक नहीं कर सकती रेलवे पुलिस!
रेलवे में सिर्फ टीटीई ही चेक कर सकता है टिकट
News18Hindi
Updated: June 29, 2019, 4:18 PM IST
क्या आपको रेलवे टिकट चेकिंग के उन प्रावधानों की जानकारी है जिसके तहत आपका टिकट सिर्फ पुलिस नहीं चेक कर सकती. रेलवे पुलिस की मनमानी से यात्रियों के लिए राहत भरी खबर है. आरपीएफ को चलती ट्रेन या फिर प्‍लेटफार्म पर टिकट चेक करने का अधिकार नहीं है. यह काम केवल टीटीई ही करेगा. अवैध उगाही और धमकाने की शिकायतों को देखते हुए रेलवे बोर्ड ने टिकट चेकिंग को लेकर पहले एक निर्देश जारी किया था लेकिन उसका पालन कम ही होता है, क्योंकि आप इसे जानते ही नहीं. जानेंगे तो विरोध कर पाएंगे.

बेटिकट यात्रियों को जुर्माना करने की पावर सिर्फ अधिकृत टिकट चेकिंग स्‍टाफ को ही है. आमतौर पर ट्रेनों में और प्‍लेटफार्म पर रेलवे पुलिस टिकट चेक करके भोले-भाले लोगों से उगाही करती है. पूर्वांचल के रूट पर चलने वाली गाड़ियों के जनरल बोगी में यह आए दिन का खेल है. जमकर उगाही चलती है और रेलवे प्रशासन उनका कुछ नहीं कर पाता.

लेकिन अब आपको उनकी धमकी पर डरने और पैसे देने की जरूरत नहीं है. यदि टिकट नहीं बना है या फिर उसमें कोई दिक्‍कत है तो टीटीई से ही बात करें. आरपीएफ वाला उसमें कुछ नहीं करेगा. कोई पुलिसकर्मी यदि आपका टिकट चेक करने की जिद करे या धमकाए तो उसके वरिष्ठ अधिकारी से इसकी शिकायत कर सकते हैं.

rpf, आरपीएफ, train ticket checking, ट्रेन टिकट चेकिंग, TTE, टीटीई, indian railway, भारतीय रेल, railway ticket availability, रेलवे टिकट उपलब्धता, ट्रेन टिकट की जांच, Ministry of Railways, Railway Protection Force, रेलवे सुरक्षा बल़, railway police, रेलवे पुलिस बिहार, पूर्वांचल की ओर जाने वाली ट्रेनों के लोकल डिब्बों में ऐसे नजारे आम हैं (file photo)

रेलवे सिक्‍योरिटी से जुड़े एक वरिष्‍ठ अधिकारी ने कहा है कि अगर कोई पुलिसकर्मी टिकट चेकिंग या जुर्माना वसूलते पाया जाता है तो उसके खिलाफ सख्‍त कार्रवाई की जाएगी. टिकट चेक करने का अधिकार रेलवे पुलिस को कभी नहीं था. इसलिए यदि कोई वर्दीवाला टिकट चेक करता है तो वह गलत है. इसे बर्दाश्‍त नहीं किया जाएगा.

 रेलवे के बड़े अधिकारियों को यदि अवैध टिकट चेकिंग की जानकारी मिलती है तो वे आरोपी पर सस्‍पेंड करने तक की कार्रवाई कर देते हैं. इसलिए अपने अधिकारों को लेकर सचेत रहिए. रेलवे अधिकारी ने बताया कि मजिस्‍ट्रेट छापे जैसी कार्रवाई के दौरान ही रेलवे पुलिस सिर्फ टिकट चेक करने में सहायता कर सकती है. वरना इसके लिए सिर्फ कॅमर्शियल स्‍टाफ अधिकृत है.

ये भी पढ़ें:
Loading...

केंद्र सरकार की नौकरियों में कितनी हो गई ओबीसी की भागीदारी?

मायावती ने नेता नहीं कलेक्शन एजेंट रखे हुए हैं: राज बहादुर

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 29, 2019, 1:10 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...