होम /न्यूज /व्यवसाय /

₹9 से ₹3,721 तक: मल्टीबैगर फार्मा स्टॉक ने 1 लाख रुपये को बना दिया 4 करोड़ से अधिक

₹9 से ₹3,721 तक: मल्टीबैगर फार्मा स्टॉक ने 1 लाख रुपये को बना दिया 4 करोड़ से अधिक

Divi's Lab फार्मा सेक्टर की एक लार्ज कैप कंपनी है. इसका मार्केट कैप ₹98,972 करोड़ रुपये है.

Divi's Lab फार्मा सेक्टर की एक लार्ज कैप कंपनी है. इसका मार्केट कैप ₹98,972 करोड़ रुपये है.

डिविज़ लैबोरेट्री लिमिटेड के शेयर ने पिछले 19 वर्षों में 41 हजार फीसदी से अधिक रिटर्न दिया है. यदि किसी ने 19 साल पहले इस स्टॉक में 1 लाख रुपये का निवेश किया होता तो आज उसका निवेश 4.13 करोड़ रुपये हो चुका होता.

हाइलाइट्स

पिछले एक साल के दौरान यह 24.04 फीसदी गिरा है. 2022 में अब तक यह 20 फीसदी गिर चुका है.
18 अक्टूबर 2021 को ₹5,425.10 रुपये का उच्चतम स्तर बनाया था. यही इसका 52 वीक हाई भी है.
फिलहाल यह अपने 52 वीक हाई से लगभग 32 फीसदी नीचे चल रहा है.

नई दिल्ली. आज से 19 साल पहले एक शेयर 9 रुपये पर था. आज वही शेयर 3,721 रुपये का हो चुका है. इन 19 वर्षों में यह स्टॉक 41,000 फीसदी से अधिक का रिटर्न दे चुका है. इस शेयर का नाम है डिविज़ लैबोरेट्री लिमिटेड (Divi’s Laboratories Ltd). इतने तगड़े रिटर्न का मतलब ये है कि अगर किसी ने 19 साल पहले इस स्टॉक में 1 लाख रुपये का निवेश किया होता तो आज उसका निवेश 4.13 करोड़ रुपये हो चुका होता.

Divi’s Lab फार्मा सेक्टर की एक लार्ज कैप कंपनी है. इसका मार्केट कैप ₹98,972 करोड़ रुपये है. कंपनी के प्रॉडक्ट्स 95 देशों में एक्सपोर्ट होते हैं. एक्टिव फार्मास्यूटिकल इंग्रेडिएंट्स (API) बनाने वाली दुनियाभर की 3 बनड़ी कंपनियों में इस कंपनी का नाम भी शुमार है. वेल्यू रिसर्च के आंकड़ों के हिसाब से यह कंपनी इस समय पूरी तरह कर्ज मुक्त है.

ये भी पढ़ें – पिछला एक साल रहा चुनौतीपूर्ण, फिर भी 13 स्टॉक और 1 इंडेक्स ने दिया मल्टीबैगर रिटर्न

Divi’s Lab की शेयर प्राइस हिस्ट्री
लाइव मिंट की एक रिपोर्ट के अनुसार, शुक्रवार को यह शेयर बंद ₹3,721.10 रुपये पर बंद हुआ. इस दिन इसमें 5.75 फीसदी की गिरावट हुई थी. इससे एक दिन पहले यह ₹3,948.05 रुपये पर बंद हुआ था. 13 मार्च 2003 को यह स्टॉक 9 रुपये का था. अगर आज के प्राइस से तुलना करें तो यह 41,245.56 फीसदी का मल्टीबैगर रिटर्न दे चुका है. 18 अगस्त 2017 की बात करें तो यह 485.82 फीसदी बढ़ चुका है. तब इसका प्राइस 635.20 रुपये था.

हालांकि पिछले एक साल के दौरान यह 24.04 फीसदी गिरा है. 2022 में अब तक यह 20 फीसदी गिर चुका है. NSE पर इस स्टॉक ने 18 अक्टूबर 2021 को ₹5,425.10 रुपये का उच्चतम स्तर बनाया था. यही इसका 52 वीक हाई भी है. इस शेयर ने 26 मई 2022 को अपना 52 वीक लो बनाया, जोकि ₹3,365.55 है. इस हिसाब से देखा जाए तो यह अपने 52 वीक हाई से लगभग 32 फीसदी नीचे चल रहा है और 52 वीक लो से लगभग 11 फीसदी ऊपर.

ये भी पढ़ें – एक साल में इन शेयरों ने खूब भरी निवेशकों की झोली, दिया 115 फीसदी तक रिटर्न

क्या अब इसे खरीदना ठीक रहेगा?
शेयरखान के रिचर्स एनालिस्ट ने अपने नोट में कहा है कि रेवेन्यू ग्रोथ अच्छी रही है. कम टैक्स के चलते इसका PAT (प्रॉफिट अफ्टर टैक्स) दो अंकों में रहा है. हालांकि एस्टीमेट से कम रहा है. आने वाली तिमाहियों में इसकी पर्फॉर्मेंस में सुधार हो सकता है. अन्य कुछ फंडामेंटल एनालिसिस के आधार पर शेयरखान के रिचर्स एनालिस्ट्स ने इसे बाय रेटिंग दी है. उन्हें लगता है कि लॉन्ग टर्म में यह शेयर ऊपर ही तरफ ही बढ़ेगा और यहां से 4,450 रुपये का टार्गेट हासिल कर सकता है.

(Disclaimer: यहां बताए गए स्‍टॉक्‍स ब्रोकरेज हाउसेज की सलाह पर आधारित हैं. यदि आप इनमें से किसी में भी पैसा लगाना चाहते हैं तो पहले सर्टिफाइड इनवेस्‍टमेंट एडवायजर से परामर्श कर लें. आपके किसी भी तरह के लाभ या हानि के लिए News18 जिम्मेदार नहीं होगा.)

Tags: Investment, Money Making Tips, Multibagger stock, Stock tips

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर