Home /News /business /

Russia Ukraine War से बाजार में बिकवाली हावी, सेंसेक्स 778 अंक गिरकर बंद, जानिए गिरावट के प्रमुख कारण

Russia Ukraine War से बाजार में बिकवाली हावी, सेंसेक्स 778 अंक गिरकर बंद, जानिए गिरावट के प्रमुख कारण

यूक्रेन पर रूस द्वारा हमले (Russia Ukraine War) किए जाने के बाद शेयर बाजारों में भयंकर गिरावट देखी जा रही है.

यूक्रेन पर रूस द्वारा हमले (Russia Ukraine War) किए जाने के बाद शेयर बाजारों में भयंकर गिरावट देखी जा रही है.

कारोबार के अंत में सेंसेक्स 778.38 अंक यानी 1.38 फीसदी की गिरावट के साथ 55,468.90 के स्तर पर कारोबार कर रहा है. वहीं निफ्टी 187.95 अंक यानी 1.12 फीसदी टूटकर 16,605.95 के स्तर पर बंद हुआ. आज के कारोबार में इंट्राडे में निफ्टी 17500 के स्तर पर जाता दिखा था.

अधिक पढ़ें ...

Market Closing : रूस-यूक्रेन संकट का असर आज बुधवार को भी बाजार में हावी रहा. सेंसेक्स और निफ्टी आज भी गिरावट में बंद हुए. हालांकि कारोबारी दिन के दौरान इसमें निचले स्तर से रिकवरी आई और निफ्टी 16600 के पार बंद होने में कामयाब रहा. कारोबार के अंत में सेंसेक्स 778.38 अंक यानी 1.38 फीसदी की गिरावट के साथ 55,468.90 के स्तर पर कारोबार कर रहा है. वहीं निफ्टी 187.95 अंक यानी 1.12 फीसदी टूटकर 16,605.95 के स्तर पर बंद हुआ.

आज के कारोबार में इंट्राडे में निफ्टी 17500 के स्तर पर जाता दिखा था. आज के कारोबार में ऑटो, बैंकिंग, फार्मा, रियल्टी, FMCG, IT शेयरों पर बिकवाली देखने को मिली . वहीं मेटल, पावर, एनर्जी, तेल-गैस शेयरों में तेजी रही.

गिरावट के प्रमुख कारण

1. रूस-यूक्रेन जंग (Russia-Ukraine war)
ग्लोबल मार्केट्स में गिरावट की मुख्य वजह यूक्रेन पर रूस का हमला है. पश्चिमी देशों के प्रतिबंधों के चलते रूस में इकोनॉमिक क्राइसिस (economic crisis) की स्थिति पैदा हो गई है, जिससे हालात दूसरे विश्व युद्ध (World War II) के बाद से यूरोप के सबसे बद्तर टकराव की ओर जाते दिख रहे हैं.

यह भी पढ़ें- Income Tax बचाने के लिए इस साल आप ये कुछ सरल और आसान उपाय अपना सकते हैं, जानिए डिटेल?

SWIFT फाइनेंशियल नेटवर्स के रूस को अलग करने से उसकी अपने 630 अरब डॉलर के फाइनेंशियल रिजर्व को इस्तेमाल करने की क्षमताएं सीमित हो गई हैं. कई कंपनियों ने निवेश निकालना शुरू कर दिया है. रूसी सेनाएं यूक्रेन में खासा अंदर तक घुस गई हैं. एक्सपर्ट्स की राय में, जंग को लेकर अनिश्चितता के चलते निकट भविष्य में वॉलेटिलिटी इंडेक्स ऊंचा बना रहेगा.

2. क्रूड की कीमतों में लगी आग
Crude : एनर्जी की सप्लाई बाधित होने की आशंका से इनवेस्टर सेंटीमेंट को झटका लगा है. अमेरिका और उससे सहयोगियों द्वारा डिमांड को सपोर्ट देने के लिए अपने स्ट्रैटजिक रिजर्व (strategic reserves) से 6 करोड़ डॉलर क्रूड रिलीज करने पर सहमत होने के बावजूद ब्रेंट क्रूड 110 डॉलर प्रति बैरल से ऊपर निकल गया है.

क्रूड की कीमतें बढ़ने से पहले से बढ़ी हुई चल रही महंगाई में और आग लगेगी. भारत अपनी तेल जरूरतों का लगभग 80 फीसदी आयात करता है. इससे यहां महंगाई बढ़ने के साथ करंट आउंट डेफिसिट और फिस्कल डेफिसिट (fiscal deficit) की स्थिति और बिगड़ेगी. भारतीय कंपनियों के मार्जिन पर भी इससे दबाव बढ़ेगा.

Tags: Share market, Stock market today, Stock Markets

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर