4 लाख रुपए से फ्लिपकार्ट शुरू करने वाला यह शख्स अब खाेलेगा बैंक, जानें सब कुछ

फ्लिपकार्ट को फाउंडर सचिन बंसल ने आईआईटी दिल्ली से पढ़ाई की है.

फ्लिपकार्ट को फाउंडर सचिन बंसल ने आईआईटी दिल्ली से पढ़ाई की है.

फ्लिपकार्ट (Flipkart) के को-फाउंडर सचिन बंसल (Sachin Bansal) की फर्म चैतन्‍या इंडिया फाइनेंस ने रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआई) में बैंक खोलने के लिए आवेदन दिया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 16, 2021, 3:38 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. फ्लिपकार्ट के को-फाउंडर सचिन बंसल इन दिनों नए सेक्टर की ओर कदम बढ़ा रहे हैं. उनकी फर्म चैतन्‍य इंडिया फाइनेंस ने रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआई) में आवेदन दे दिया है.

गुरुवार को आरबीआई की उस सूची में सचिन बंसल का नाम भी शामिल है, जिसमें यूनिवर्सल बैंक या फिर स्मॉल फाइनेंस बैंक के लाइसेंस के लिए रिजर्व बैंक में आवेदन किया है. हालांकि, सचिन बंसल ने पहले भी ये बात कह दी थी कि वह बैंकिंग लाइसेंस के लिए आवेदन कर रहे हैं. गौरतलब है कि जब सचिन बंसल ऑनलाइन शॉपिंग की दुनिया में नाम कमा रहे थे, उसी दौरान वह बैंकिंग में पैर जमाने की कोशिशों में भी लगे थे. पिछले ही साल उन्होंने चैतन्य इंडिया को 739 करोड़ रुपए में खरीदा था.

यह भी पढ़ें : भारत की कंपनियां इस फार्मूले पर देती हैं जॉब, अच्छी नौकरी पाने के लिए जानें यह तरीका

फ्लिपकार्ट जैसे स्टार्टअप की वजह से बंसल का है दुनिया में नाम
सचिन बंसल की चर्चा यूं ही नहीं होती है, बल्कि उन्होंने काम ही इतने बड़े किए हैं कि उनका जिक्र अपने आप हो जाता है. सचिन बंसल ने 2007 में 4 लाख लाख रुपए के साथ फ्लिपकार्ट को एक स्टार्टअप के तौर पर शुरू किया था. 2018 में जब वॉलमार्ट ने फ्लिपकार्ट में 77 फीसदी हिस्सेदारी खरीदी, तब तक फ्लिपकार्ट की कीमत 20 अरब डॉलर यानी करीब 1.30 लाख करोड़ रुपए हो चुकी थी.

यह भी पढ़ें :  कोरोना वैक्सीन बनाने वाली सीरम ने इस बड़ी कंपनी में किया निवेश, जानें सब कुछ 

अमेजन की नौकरी छोड़ ऐसे बनाई थी फ्लिपकार्ट



5 अगस्त 1981 में चंडीगढ़ की बिजनस फैमिली में जन्मे सचिन बंसल ने आईआईटी दिल्ली से पढ़ाई की और 2005 में कंप्यूटर इंजीनियरिंग की डिग्री हासिल की. कुछ महीने तक टेकस्पैन के लिए काम करने के बाद वह 2006 में अमेजन वेब सर्विसेस में सॉफ्टवेयर इंजीनियर की तरह काम करने लगे, लेकिन मन नहीं लगा. 2007 में उन्होंने अमेजन को अलविदा कह दिया और अपना बिजनस शुरू किया. शुरुआत में उन्होंने बिन्नी बंसल के साथ मिलकर एक ऑनलाइन बुकस्टोर शुरू किया, जो अमेजन जैसा बुक स्टोर ही था, जहां से लोग किताबें ऑर्डर करते थे. धीरे-धीरे फ्लिपकार्ट अलग-अलग सेगमेंट्स में भी उतरता चला गया और उसकी वैल्यू भी बढ़ती गई.

यह भी पढ़ें : नौकरी की बात :  इंटरव्यू में नई स्किल के बेहतर प्रदर्शन से मिलेगी जॉब की गारंटी, जानिए ऐसे ही अहम मंत्र

इन 7 लोगों ने भी किया है आवेदन

बैंकिंग लाइसेंस के लिए आवेदन करने वालों में सचिन बंसल की चैतन्य इंडिया के अलावा यूएई एक्सचेंज एंड फाइनेंशियल सर्विसेस, रेपको (REPCO) बैंक, पंकज वैश एंड अदर्स, वी सॉफ्ट टेक्नोलॉजी, कैलीकट सिटी सर्विस कोऑपरेटिव बैंक, अखिल कुमार गुप्ता और दवारा क्षेत्रीय ग्रामीण फाइनेंशियल सर्विसेस भी शामिल हैं. इनमें से वी सॉफ्ट टेक्नोलॉजी, कैलीकट सिटी सर्विस कोऑपरेटिव बैंक, अखिल कुमार गुप्ता और दवारा क्षेत्रीय ग्रामीण फाइनेंशियल सर्विसेस ने स्मॉल फाइनेंस बैंक के लाइसेंस के लिए आवेदन किया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज