Home /News /business /

नवी टेक्नोलॉजीज का IPO लाने की तैयारी में सचिन बंसल, कहां तक पहुंचा काम? जानिए

नवी टेक्नोलॉजीज का IPO लाने की तैयारी में सचिन बंसल, कहां तक पहुंचा काम? जानिए

फ्लिपकार्ट (Flipkart) के को-फाउंडर रहे सचिन बंसल (Sachin Bansal) अब अपनी नई कंपनी नवी टेक्नोलॉजीज (Navi Technologies) का IPO लाने की तैयारी कर रहे हैं.

फ्लिपकार्ट (Flipkart) के को-फाउंडर रहे सचिन बंसल (Sachin Bansal) अब अपनी नई कंपनी नवी टेक्नोलॉजीज (Navi Technologies) का IPO लाने की तैयारी कर रहे हैं.

फ्लिपकार्ट (Flipkart) के को-फाउंडर रहे सचिन बंसल (Sachin Bansal) अब अपनी नई कंपनी नवी टेक्नोलॉजीज (Navi Technologies) का IPO लाने की तैयारी कर रहे हैं. मिली जानकारी के अनुसार नवी टेक्वोलॉजीज़ के आईपीओ (IPO) के लिए इन्वेस्टमेंट बैंक्स को भी चिन्हित कर लिया है. एक सूत्र ने मनीकंट्रोल को बताया कि आमतौर पर स्टार्टअप प्राइवेट इक्विटी इनवेस्टर्स के जरिए फंडिंग जुटाते हैं, मगर नवी टेक्नोलॉजीज ने पब्लिक लिस्टिंग का रास्ता चुना है. आईपीओ से मिली रकम का कंपनी के ग्रोथ में इस्तेमाल होगा. वे हाल ही में मुनाफे में आए हैं और यहां से और तेजी से ग्रोथ करना चाहते हैं."

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली. फ्लिपकार्ट (Flipkart) के को-फाउंडर रहे सचिन बंसल (Sachin Bansal) अब अपनी नई कंपनी नवी टेक्नोलॉजीज (Navi Technologies) का IPO लाने की तैयारी कर रहे हैं. सचिन बंसल ने लगभग तीन साल पहले अपने एक दोस्त अंकित अग्रवाल के साथ मिलकर इस फाइनेंशियल सर्विसेज कंपनी शुरू की थी. वित्त वर्ष 2021 में यह कंपनी मुनाफे में भी आ गई. अब जानकारी मिल रही है कि सचिन बंसल ने नवी टेक्वोलॉजीज़ के आईपीओ (IPO) के लिए इन्वेस्टमेंट बैंक्स को भी चिन्हित कर लिया है.

    मनीकंट्रोल की खबर के अनुसार, एक सूत्र ने उन्हें बताया, “उन्होंने आईपीओ के लिए इन्वेस्टमेंट बैंकों को शॉर्टलिस्ट कर लिया है और इसी हफ्ते में इस डील पर काम शुरू हो सकता है.” वहीं एक दूसरे सूत्र ने मनीकंट्रोल को बताया कि एक्सिस कैपिटल, ICICI सिक्योरिटीज, BofA सिक्योरिटीज और क्रेडिट सुइस को एडवाइजर्स के तौर पर जोड़ा गया है और जरूरत पड़ने पर और बैंकों को शामिल किया जा सकता है.

    ये भी पढ़ें – 2020 से आया IPOs का रेला, मगर 90 के दशक में आए IPOs के मुकाबले कुछ नहीं!

    तेजी से ग्रोथ करना चाहती है कंपनी
    एक तीसरे सूत्र ने बताया, “आमतौर पर स्टार्टअप प्राइवेट इक्विटी इनवेस्टर्स के जरिए फंडिंग जुटाते हैं. हालांकि इसकी जगह नवी टेक्वनोलॉजीज़ की टीम ने पब्लिक लिस्टिंग का रास्ता चुना है. आईपीओ से मिली रकम का कंपनी के ग्रोथ में इस्तेमाल होगा. वे हाल ही में मुनाफे में आए हैं और यहां से और तेजी से ग्रोथ करना चाहते हैं.”

    RBI के पास किया यूनिवर्सल बैंकिंग लाइसेंस का आवेदन
    बता दें कि नवी टेक्नोलॉजीज (Navi Technologies) वित्त वर्ष 2021 में मुनाफे में आ गई. कंपनी ने पिछले महीने एक नियामकीय फाइलिंग में बताया कि उसने वित्त वर्ष 2021 में 71 करोड़ रुपये का कंसॉलिडेटेड मुनाफा दर्ज किया. इससे पिछले वित्त वर्ष में नवी टेक्नोलॉजीज 8 करोड़ रुपये के घाटे में रही रही थी. नवी टेक्नोलॉजीज एक फिनटेक स्टार्टअप है, जो लोन, जनरल इंश्योरेंस, म्यूचुअल फंड्स और माइक्रोफाइनेंस से जुड़ी सेवाएं मुहैया कराती है. कंपनी ने रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) के पास यूनिवर्सल बैंकिंग लाइसेंस के लिए भी आवेदन दिया है.

    ये भी पढ़ें – Share Market में दो दिनों से क्यों है जबरदस्त तेजी? जानिए इसके पीछे के 5 कारण

    नवी टेक्वनोलॉजी (Navi Technologies) के कंसॉलिडेटेड बिजनेस में IT और एडवाइजरी सर्विसेज, लोन और माइक्रोफाइनेंस सहित NBFC सर्विसेज, जनरल इंश्योरेंस और म्यूचुअल फंड्स शामिल है. रेगुलेटरी फाइलिंग के मुताबिक, कंपनी ने मार्केट रेगुलेटर SEBI से स्टॉक ब्रोकिंग और इनवेस्टमेंट एडवाइजरी लाइसेंस भी हासिल कर लिया है.

    Tags: Fintech market, Investment, IPO

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर