1000 लोगों की छंटनी की अटकलों पर सैमसंग इंडिया की सफाई

कोरिया की दिग्गज कंपनी सैमसंग भारत में अपने कर्मचारियों की संख्या कम करने वाली है. कंपनी एम्प्लाइज की संख्या में 1000 तक की कटौती करने वाली है.

News18Hindi
Updated: July 2, 2019, 5:50 PM IST
1000 लोगों की छंटनी की अटकलों पर सैमसंग इंडिया की सफाई
सैमसंग भारत में कर्मचारियों की संख्या कम करेगा
News18Hindi
Updated: July 2, 2019, 5:50 PM IST
चीनी मोबाइल कंपनियां बाकी मोबाइल कंपनियों को कड़ी टक्कर दे रही है. इसका असर अब दिखने भी लगा है. कोरिया की दिग्गज कंपनी सैमसंग भारत में अपने कर्मचारियों की संख्या कम करने वाली है. कंपनी एम्प्लाइज की संख्या में 1000 तक की कटौती करने वाली है. इससे पहले सैमसंग को अपने मार्जिन और मुनाफे में कटौती करने को मजबूर होना पड़ा था. वहीं, सैमसंग इंडिया ने छंटनी की खबर पर अपनी प्रतिक्रिया दी है. सैमसंग इंडिया के प्रवक्ता ने कहा है कि मीडिया के एक हिस्से में सैमसंग के बारे में आज का लेख भ्रामक है. उन्होंने कहा, कंपनी भारतीय कारोबार के लिए प्रतिबद्ध है और सभी कारोबार में अच्छा निवेश करेगी.

इकोनॉमिक टाइम्स में छपी खबर के मुताबिक देश की सबसे बड़ी कंज्यूमर इलेक्ट्रॉनिक्स और मोबाइल फोन मेकर कंपनी सैमसंग को अपनी लागत को कम करने के लिए ये छंटनी करनी पड़ रही है. उन्होंने बताया कि सैमसंग अब तक अपने टेलीकॉम डिवीजन से 150 कर्मचारियों को नौकरी से निकाल चुकी है. अक्टूबर तक और भी लोगों की नौकरी जा सकती है.

यह भी पढ़ें- 8000 रुपये हो सकती है पीएम किसान सम्मान निधि की रकम

इन पोस्ट पर होगी छंटनी

कर्मचारियों की छंटनी की इस कवायद में सेल्स, मार्केटिंग, आरएंडडी, मैन्युफैक्चरिंग, फाइनेंस, एचआर, कॉरपोरेट रिलेशंस जैसे विभाग शामिल होंगे. यह पूरी कवायद सैमसंग के सियोल स्थ‍ित मुख्यालय के निर्देश में हो रहा है जिसका जोर भारत में रेवेन्यू की जगह मुनाफा बढ़ाने पर है. सैमसंग इंडिया में अप्रैल से ही भर्तियां बंद हैं.

पिछले वित्त वर्ष से शुरू हुई है समस्या
साल 2017-18 में सैमसंग इंडिया में समस्या शुरू हुई, जब उनके शुद्ध मुनाफे में गिरावट देखी गई. भारत में शाओमी और वन प्लस जैसे चीनी ब्रांड की ज्यादा लोकप्रियता से सैमसंग की बिक्री को चुनौती मिल रही है. इसकी वजह से कंपनी को अपने फोन और टीवी की कीमतों में 25 से 40 फीसदी तक की कटौती करनी पड़ी है. भारतीय स्मार्टफोन बाजार में शाओमी की हिस्सेदारी 29 फीसदी, सैमसंग की 23 फीसदी और विवो की 12 फीसदी है.
Loading...

सैमसंग की प्रतिक्रिया- सैमसंग इंडिया ने छंटनी की खबर पर अपनी प्रतिक्रिया दी है. सैमसंग इंडिया के प्रवक्ता ने कहा है कि मीडिया के एक हिस्से में सैमसंग के बारे में आज का लेख भ्रामक है. उन्होंने कहा, कंपनी भारतीय कारोबार के लिए प्रतिबद्ध है और सभी कारोबार में अच्छा निवेश करेगी. हमने नोएडा में दुनिया की सबसे बड़ी मोबाइल फोन फैक्ट्री स्थापित कर अपनी प्रतिबद्धता दिखाई है. लोकल आरएंडडी में निवेश किया है और हम 5जी नेटवर्क जैसे नए बिजनेस की खोज कर रहे हैं. पिछले एक साल में, हमने सैमसंग में 2,000 नई नौकरियों के अवसर पैदा किए हैं. सैमसंग इंडिया का बिजनेस लगतार बढ़ने के साथ विस्तार कर रहा है. इसलिए हम साल भर सभी बिजनेस वर्टिकल में ज्यादा टैलेंट हायर करेंगे.

यह भी पढ़ें- बैंकों में लावारिस पड़े हैं लोगों के 32000 करोड़ रुपए: Report
First published: July 2, 2019, 12:21 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...