कोरोना काल में कम हो गई विदेशी शराब की बिक्री, सितंबर तिमाही में सेल 9 फीसदी गिरी

सांकेतिक तस्वीर
सांकेतिक तस्वीर

चालू वित्त वर्ष की सितंबर तिमाही में भारत निर्मित विदेशी शराब (Indian Made Foreign Liquor) की बिक्री 8.98 प्रतिशत कम होकर 780 लाख पेटियों पर आ गई.

  • Share this:
नई दिल्ली. चालू वित्त वर्ष की सितंबर तिमाही में भारत निर्मित विदेशी शराब (Indian Made Foreign Liquor) की बिक्री 8.98 प्रतिशत कम होकर 780 लाख पेटियों पर आ गई. शराब बनाने वाली कंपनियों के संगठन कंफेडरेशन ऑफ इंडियन अल्कोहलिक बेवरेज इंडस्ट्री (Confederation of Indian Alcoholic Beverage Companies) के आंकड़ों में यह पता चला है.

पिछले साल की सितंबर तिमाही में 857 लाख पेटी की बिक्री
सीआईएबीसी के मुताबिक, पिछले साल की समान तिमाही में 857 लाख पेटी आईएमएफएल की बिक्री हुई थी. एक पेटी का मतलब नौ लीटर शराब है. सीआईएबीसी भारतीय मादक पेय पदार्थ उद्योग का शीर्ष निकाय है.

जून तिमाही की तुलना में सुधार 
हालांकि सितंबर तिमाही के दौरान शराब की बिक्री में जून तिमाही की तुलना में सुधार आया है. आंकड़ों के अनुसार, चालू वित्त वर्ष के दौरान यानी अप्रैल से सितंबर तक देश भर में आईएमएफएल की बिक्री 1,220 लाख पेटी रही है. यह साल भर पहले की समान अवधि के 1,720 लाख पेटी की तुलना में 29.06 प्रतिशत कम है.



ये भी पढ़ें- LTC Cash Voucher Scheme: क्या परिवार के सदस्यों को भी मिलेगा इस योजना का लाभ? जानिए क्या है सरकार का कहना

उद्योग संगठन का कहना है कि दूसरी तिमाही में शराब की बिक्री में कुछ सुधार हुआ है, लेकिन पहली तिमाही ने असल नुकसान किया है. पहली तिमाही के दौरान लॉकडाउन के चलते कुछ समय देश भर में शराब की बिक्री बंद रही थी.

ये भी पढ़ें- कोरोना संकट के बीच जुलाई से अब तक 1 करोड़ लोगों को मिला रोजगार, 4 महीने में 11 लाख MSMEs का हुआ रजिस्‍ट्रेशन

सीआईएबीसी के अनुसार, आंध्र प्रदेश, छत्तीसगढ़, जम्मू-कश्मीर, पश्चिम बंगाल और राजस्थान जैसे राज्यों में शराब की बिक्री में अधिक गिरावट देखने को मिली. इसका कारण है कि इन राज्यों ने लॉकडाउन के बाद शराब की बिक्री शुरू होने पर कोरोना कर लगाया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज