कोरोना काल में मददगार बनी Samsung, कर्नाटक को दिए मेडिकल किट और ऑक्सीजन कंसंट्रेटर

प्रतीकात्मक तस्वीर

प्रतीकात्मक तस्वीर

सैमसंग इंडिया (Samsung India) ने कर्नाटक को 14 हजार मेडिकल किट, 24 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर और 150 ऑक्सीजन सिलिंडर दान में दिए हैं.

  • Share this:

नई दिल्ली. देश इस वक्त कोरोना वायरस की दूसरी लहर से जूझ रहा है. वहीं, दक्षिण कोरिया की इलेक्ट्रॉनिक्स कंपनी सैमसंग इंडिया (Samsung India) ने गुरुवार को कहा कि उसने कोविड-19 (Covid-19) के खिलाफ जारी लड़ाई में मदद के लिए कर्नाटक को 14 हजार मेडिकल किट, 24 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर और 150 ऑक्सीजन सिलिंडर दान में दिए हैं.

कंपनी ने एक बयान में कहा कि कर्नाटक सरकार के मुताबिक घरों में रहकर इलाज करा रहे कोविड-19 मरीजों को ये मेडिकल किट उपलब्ध कराए जाएंगे. सैमसंग अनुसंधान एवं विकास संस्थान, बेंगलुरु (SRI-B) दक्षिण कोरिया के बाहर कंपनी का सबसे बड़ा आरएंडडी केंद्र है और उसने कर्नाटक सरकार को चिकित्सा किट दान करने के लिए श्रीमद राजचंद्र सर्वमंगल ट्रस्ट के साथ गठबंधन किया है.

ये भी पढ़ें- Gold Price Today: फिर बढ़ गई सोना-चांदी की कीमतें, खरीदारी से पहले देखें 10 ग्राम गोल्‍ड का नया भाव

एसआरआई-बी ने कोविड राहत के लिए काम कर रहे धर्मार्थ अस्पतालों को 14 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर दिए हैं जबकि बाकी 10 कंसन्ट्रेटर कर्नाटक सरकार को सौंपे गए हैं. बयान में कहा गया है कि ये ऑक्सीजन कंसंट्रेटर सीधे दक्षिण कोरिया से विमान से यहां पहुंचे हैं और इनका इस्तेमाल समाज के गरीब तबके के मरीजों के इलाज में किया जाएगा.
अपने कर्मचारियों के लिए टीकाकरण की लागत वहन करेगी कंपनी

सैमसंग ने इससे पहले 100 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर, 3 हजार ऑक्सीजन सिलेंडर और दस लाख एलडीएस सिरिंज कुल मिलाकर 50 लाख डालर (37 करोड रुपये) केंद्र और राज्य सरकारों को उपलब्ध कराए हैं. दक्षिण कोरिया की यह प्रमुख कंपनी भारत में अपने 50 हजार कर्मचारियों और लाभार्थियों के टीकाकरण की लागत वहन करने की भी घोषणा की है.

देश में बीते 24 घंटों में आए कोरोना के 2.76 लाख मामले



गौरतलब है कि देश में कोरोना महामारी के हालात में धीरे-धीरे सुधार हो रहा है. स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा सुबह 8 बजे अपडेट किए गए आंकड़ों के अनुसार देश में बीते 24 घंटे में 2,76,110 नए मामले पाए गए. इस समयावधि में 3, 874 लोगों की मौत हुई. इसके साथ ही 3,69,077 लोग डिस्चार्ज और ठीक हुए.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज