Samsung की चेतावनी: अर्थव्यवस्था की रफ्तार पड़ सकती है सुस्त! ये है बड़ी वजह

economy

economy

कोरोनावायरस महामारी (Coronavirus Pandemic) के बाद भारत समेत दुनियाभर की अर्थव्यस्था धीमी हो गई. हालांकि, अब काफी राहत है और धीरे-धीरे इंडस्ट्री कोरोना से पहले वाली गति को पकड़ रही है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 18, 2021, 11:50 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोनावायरस महामारी (Coronavirus Pandemic) के बाद भारत समेत दुनियाभर की अर्थव्यस्था धीमी हो गई. हालांकि, अब काफी राहत है और धीरे-धीरे इंडस्ट्री कोरोना से पहले वाली गति को पकड़ रही है. दुनियाभर में कम्प्यूटर चिप बनाने वाली सबसे बड़ी कंपनी सैमसंग (Samsung) ने चेतावनी दी है कि सेमी-कंडक्टर इंडस्ट्री में गंभीर असंतुलन है. जिसके चलते अर्थव्यवस्था में सुधार की रफ्तार धीमी पड़ सकती है. मार्केट में सेमी-कंडक्टर की कमी के चलते उत्पादन प्रभावित हो रही है. सैमसंग का कहना है कि सेमी-कंडक्टर की कमी के कारण उसे अपने अगले गैलेक्सी नोट स्मार्टफोन को बाज़ार में उतारने में देरी हो सकती है.

चिप की डिमांड और सप्लाई प्रभावित

बीबीसी न्यूज के मुताबिक, सैमसंग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने शेयरहोल्डर्स की मीटिंग में कहा है कि कोरोना महामारी के बाद दुनियाभर के आईटी सेक्टर (IT Sector) में चिप की डिमांड और सप्लाई प्रभावित हुई है. चिप की डिमांड को पूरा करने के लिए सैमसंग अपने विदेशी साझेदारों के साथ मिलकर काम कर रहा है. अभी भी मुद्दा हल नहीं हुआ है. बता दें कि कोरोना महामारी के बढ़ने के साथ सेमी-कंडक्टर्स में कमी की शुरुआत हुई और बिक्री में जबरदस्त गिरावट आई.

ये भी पढ़ें- Jio का सबसे सस्ता प्लान! सिर्फ 3.5 रु में 1 GB डेटा और भी कई बेनिफिट्स, जानें डिटेल्स..
कार कंपनियों ने कम दिए ऑर्डर

कोरोना के चलते कार बनाने वाली कंपनियों ने कंप्यूटर चिप बनाने वाले चीन के कारखानों को बहुत कम ऑर्डर दिए. चीन के कारखानों से चिप की आपूर्ति अधिक डिमांड वाले अन्य सैक्टर्स में होने लगी. ऐसे में जब कारों की मांग बढ़ी तो कार बनाने वाली कंपनियां अपने रद्द हो चुके ऑर्डर्स को बहाल नहीं करा पाईं. इस वजह से होंडा, टोयोटा और जनरल मोटर्स जैसी कंपनियों को अपने उत्पादन में कटौती करना पड़ी.

काउंटरपॉइंट की एक रिसर्च के मुताबिक, कुछ उत्पादों की कमी कई महीनों तक बनी रहेगी जो साल 2022 तक जारी रह सकती है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज