होम /न्यूज /व्यवसाय /पिछले 10 साल में कृषि बजट 11 गुणा बढ़कर 1.34 लाख करोड़ रुपये हुआ: संतोष गंगवार

पिछले 10 साल में कृषि बजट 11 गुणा बढ़कर 1.34 लाख करोड़ रुपये हुआ: संतोष गंगवार

कृषि बजट बढ़कर 1.34 लाख करोड़ रुपये पहुंच गया है.

कृषि बजट बढ़कर 1.34 लाख करोड़ रुपये पहुंच गया है.

2009-10 के बाद से अब तक कृषि बजट (Agricultural Budget) में करीब 11 गुणा से ज्यादा का इजाफा हुआ है. श्रम मंत्री संतोष गं ...अधिक पढ़ें

    नई दिल्ली. श्रम मंत्री संतोष गंगवार (Santosh Gangwar) ने शनिवार को बताया कि 2009-10 के बाद से कृषि मंत्रालय (Ministry of Agriculture) का बजट 11 गुणा बढ़कर 1.34 लाख करोड़ रुपये पहुंच गया है. 2009-10 में यह करीब 12,000 करोड़ रुपये था. उन्होंने कहा कि यह दर्शाता है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) किसानों के कल्याण के लिए कितना प्रतिबद्ध हैं. किसानों के लिए नये कानून (New Farm Laws) के बाद केंद्र सरकार के खिलाफ विरोध का दौर जारी है. इस कानून के तहत किसानों को अपनी फसल बेचने के लिए बाजार को लेकर आजादी है. हालांकि, इस बात की भी आशंका है कि नये कानून के तहत किसानों को उनके उत्पाद के लिए सुनिश्चित न्यूनतम समर्थन मूल्य  (MSP - Minimum Support Price) नहीं मिल पाएगा.

    क्या है कृषि बजट में इजाफे का मतलब?
    कृषि मंत्रालय के बजट में इजाफा होना इस बात का संकेतक है कि अनाज समेत अन्य कृषि उत्पादों की सरकारी खरीद बढ़ी है. MSP के तहत किसानों को बाजार में कृषि उत्पादों के भाव में उतार-चढ़ाव से निपटने में मदद मिलती है. संतोष गंगवार ने कहा, 'साल 2014 से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई वाली सरकार के दौर में गांव, किसान, गरीब और कृषि क्षेत्र में उन्नती हुई है'

    यह भी पढ़ें: नए कानून के बाद महिलाओं को मिलेगी पुरुषो के समान सैलरी और आगे बढ़ने के मौके, पीएम मोदी ने खुद दी जानकारी

    गंगवार ने बताया, 'साल 2009-10 में कृषि मंत्रालय का बजट 12,000 करोड़ रुपये था, जोकि अब करीब 11 गुणा बढ़कर 1.34 लाख करोड़ रुपये पर पहुंच गया है. यह पीएम मोदी के किसानों और कृषि क्षेत्र के प्रति प्रतिबद्धता की वजह हुआ है.'

    नये कानून से MSP सुविधा नहीं होगी खत्म
    उन्होंने कहा कि नये कृषि कानून से किसानों को बहुत फायदा होगा. अब उनके पास मौका होगा कि दूसरे राज्यों में भी जाकर अच्छी दर पर अपने कृषि उत्पाद को बेच सकेंगे. एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उन्होंने इस बात को भी नकार दिया कि MSP सुविधा खत्म हो जाएगी. UPA सरकार की तुलना में फसलों की समर्थन मूल्य में ज्यादा इजाफा हुआ है.

    यह भी पढ़ें: एक छोटी सी गलती और रद्द हो जाएगा आपका ड्राइविंग लाइसेंस, जानें नए मोटर व्‍हीकल रूल्‍स

    तीन लेबर कोड को राष्ट्रपति की अनुमति
    इस दौरान उन्होंने तीन प्रमुख लेबर कोड के बारे में भी जानकारी दी. ये कोड ​सुरक्षा, इंडस्ट्रियल रिलेशन, रोजगारी सुरक्षा और कार्म करने की बेहतर शर्त के बारे में है, जिसे हाल ही में संसद से पारित किया गया है. उन्होंने कहा ​कि इन रिफॉर्म्स की वजह से आने वाले दिनों में कामगारों को आत्मनिर्भर बनने में मदद मिलेगी. उन्होंने यह भी बताया कि इन तीनों कोर्ड पर राष्ट्रपति की अनुमति मिल गई है.

    Tags: Agriculture Law, Agriculture producers, Farmers Protest, Santosh Gangwar

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें