सरल GST के लिए करना होगा और इंतजार, सॉफ्टवेयर नहीं है तैयार

सरल GST के लिए करना होगा और इंतजार, सॉफ्टवेयर नहीं है तैयार
1 अप्रैल से सरल जीएसटी पायलट प्रोजेक्ट की शुरुआत होनी थी जो अब तक नहीं हुई है. सरल जीएसटी को लेकर सॉफ्टवेयर भी अभी तक तैयार नहीं है.

1 अप्रैल से सरल जीएसटी पायलट प्रोजेक्ट की शुरुआत होनी थी जो अब तक नहीं हुई है. सरल जीएसटी को लेकर सॉफ्टवेयर भी अभी तक तैयार नहीं है.

  • Share this:
1 जुलाई से देश में सिंगल पेज सरल जीएसटी रिटर्न फॉर्म (GST Return Form) का लागू होना संभव नहीं लग रहा है. इसके लिए कारोबारियों को कम से कम तीन से चार महीने का इंतजार और करना पड़ेगा. लोकसभा चुनाव की वजह से सरल GST में देरी होगी. लोकसभा चुनाव के बाद बजट की तैयारियों के चलते भी सरल GST  में और देरी हो सकती है. मई में प्रस्तावित बैठक में नई तारीखों का ऐलान होगा. बता दें कि 1 अप्रैल से सरल जीएसटी पायलट प्रोजेक्ट की शुरुआत होनी थी जो अब तक नहीं हुई है. सरल जीएसटी को लेकर सॉफ्टवेयर भी अभी तक तैयार नहीं है. सरल जीएसटी को लेकर सीबीआईसी ने पिछले साल जुलाई में मसौदा जारी किया था. (ये भी पढ़ें: SBI ने ग्राहकों को किया अलर्ट! ATM यूज करते वक्त हमेशा ध्यान रखें ये 12 बातें)

नए सिस्टम के तहत मल्टीपल जीएसटी रिटर्न की जगह हर महीने एक रिटर्न भरना होगा जिसमें जीरो ट्रांजैक्शन कारोबारी को तिमाही में रिटर्न सुविधा मिलेगी. ऐसे कारोबारी एक SMS के जरिए रिटर्न भर सकता था. 5 करोड़ रुपये सालाना इनकम वाले कारोबारी के लिए तिमाही रिटर्न भरना होगा.





अप्रैल में हुआ अब तक का रिकॉर्ड GST कलेक्शन
मार्च के बाद अप्रैल में भी गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स (GST) कलेक्शन 1 लाख करोड़ रुपये के पार पहुंच गया है. नए आंकड़ों के मुताबिक, अप्रैल महीने में जीएसटी कलेक्शन 1 लाख 13 हजार 865 करोड़ रुपये रहा है. जीएसटी लागू होने के बाद से किसी एक महीने में हुआ अभी तक का सबसे ज्यादा कलेक्शन है. वहीं, मार्च महीने में 1.06 लाख करोड़ रुपये रहा. पिछले फाइनेंशियल ईयर (2018-19) में सिर्फ 4 महीने ऐसे थे जिनमें GST कलेक्शन 1 लाख करोड़ रुपये से ज्यादा रहा है. एक्सपर्ट्स का कहना है कि टैक्स चोरी पर सख्ती का असर कलेक्शन पर दिख रहा है.

ये भी पढ़ें: जून महीने में घूम आएं भूटान, IRCTC दे रहा है खास ऑफर

अप्रैल में बना नया रिकॉर्ड
>> जीएसटी कलेक्शन ऑल टाइम हाई पर पहुंचा गया है.
>> अप्रैल महीने में जीएसटी कलेक्शन 1 लाख 13 हज़ार 865 करोड़ रुपये हुआ है.
>> अप्रैल महीने में IGST कलेक्शन 50,400 करोड़ रुपये से बढ़कर 54700 करोड़ रुपये हो गया है.
>> सेंट्रल जीएसटी कलेक्शन 20400 करोड़ रुपये से बढ़कर 21200 करोड़ रुपये रहा है.
>> स्टेट जीएसटी कलेक्शन 27500 करोड़ रुपये से बढ़कर 28800 करोड़ रुपये.
>> जीएसटी जब से लागू हुआ तब से सबसे ज्यादा जीएसटी कलेक्शन हुआ.

ये भी पढ़ें: खुशखबरी! जल्द घटेंगे पेट्रोल-डीजल के दाम, जानिए क्या है वजह

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज