सऊदी की पेट्रोलियम कंपनी ला रही है दुनिया का सबसे बड़ा IPO, जानिए इससे जुड़ी 6 बड़ी बातें

News18Hindi
Updated: September 10, 2019, 5:56 PM IST
सऊदी की पेट्रोलियम कंपनी ला रही है दुनिया का सबसे बड़ा IPO, जानिए इससे जुड़ी 6 बड़ी बातें
सऊदी की पेट्रोलियम कंपनी ला रही है दुनिया का सबसे बड़ा IPO, जानिए इससे जुड़ी 6 बड़ी बातें

दुनिया भर में अपनी कमाई को लेकर चर्चित इस अरामको (Saudi Aramco) की स्थापना अमरिकी तेल कंपनी ने की थी. अरामको यानी 'अरबी अमरिकन ऑइल कंपनी' का सऊदी अरब ने 1970 के दशक में राष्ट्रीयकरण कर दिया था. आइए जानें इसके IPO से जुड़ी 6 बड़ी बातें...

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 10, 2019, 5:56 PM IST
  • Share this:
रियाद. दुनिया की सबसे बड़ी ऑयल कंपनी (Saudi Aramco) अरामको IPO (Initial Public Offering) लाने जा रही है. सऊदी अरब की अरामको इसके लिए पूरी तरह से तैयार है. कंपनी की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि आईपीओ का समय सऊदी सरकार तय करेगी. यह आईपीओ दो फेस में आएगा. आपको बता दें कि सऊदी अरब की तेल कंपनी सऊदी अरामको (Saudi Aramco) दुनिया की सबसे ज्यादा मुनाफे वाली कंपनी है. हाल ही में कंपनी ने पहली बार अपने फाइनेंशियल डाटा का बॉन्ड इन्वेस्टर्स के सामने खुलासा किया है. अरामको का 2018 में प्रॉफिट 111.1 अरब डॉलर रहा, जो इस पृथ्वी पर किसी भी तरह के बिजनेस से जुड़ी किसी भी अन्य कंपनी का नहीं है. इससे पहले

(1) अरामको का इतिहास- दुनिया भर में अपनी कमाई को लेकर चर्चित इस कंपनी की स्थापना अमरिकी तेल कंपनी ने की थी. अरामको यानी 'अरबी अमरीकन ऑइल कंपनी' का सऊदी अरब ने 1970 के दशक में राष्ट्रीयकरण कर दिया था. हालांकि यह कंपनी पारदर्शिता को लेकर विवादों में भी रही है.



(2) दुनिया का सबसे बड़ा IPO- CNBC के मुताबिक, इस आईपीओ के तहत कंपनी के शेयर स्थानीय बाजार में लिस्ट होंगे, लेकिन हम विदेशी बाजार में लिस्टिंग के लिए भी तैयार हैं.

ये भी पढ़ें-जैक मा ऐसे बने 3 लाख करोड़ रुपए के मालिक, अब चेयरमैन पद से हुए रिटायर

(3) पिछले एक हफ्ते पहले वॉल स्ट्रीट जर्नल में छपी खबर में बताया गया था कि अरामको स्थानीय शेयर बाजार में पहली बार लिस्ट होगी और इसके बाद वह विदेशी बाजार में भी लिस्ट होगी. माना जा रहा है कि जापान में इसकी लिस्टिंग हो सकती है.

(4) अरामको की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि साल 2020 या 2021 में सरकारी कंपनी के 5 फीसदी शेयरों की लिस्टिंग होगी. यह दुनिया का सबसे बड़ा शेयर सेल होगा.
Loading...



(5) आपको बता दें कि यह आईपीओ सऊदी अरब के शासक क्राउन प्रिंस मुहम्मद बिन सलमान के सुधार कार्यक्रम का एक अहम हिस्सा है.

(6) इससे पेट्रोलियम तेल पर सऊदी अर्थव्यवस्था की निर्भरता कम करने की योजना है. कंपनी अपने दो लाख करोड़ डॉलर मूल्य के आधार पर 100 अरब डॉलर तक इस आईपीओ से जुटाना चाहती है. निवेशक हालांकि कंपनी के इस मूल्य पर सवाल उठाते रहे हैं.

ये भी पढ़ें-कभी विजय शेखर के पास नहीं थे खाने के पैसे, ऐसे खड़ी हुई 1 लाख करोड़ की Paytm

क्‍या होता है IPO- आईपीओ का मतलब इनीशियल पब्लिक ऑफर्स होता है. इसके लिए कंपनियां बाकायदा स्टॉक मार्केट में खुद को लिस्ट कराकर अपने स्टॉक्स इन्‍वेस्‍टर्स को बेचने का प्रस्ताव लाती हैं. स्टॉक मार्केट में लिस्टेड होने के लिए कंपनी को अपने बारे में तमाम जानकारियां सार्वजनिक करनी होती हैं. यदि हम इसे आसान शब्‍दों में कहें तो कंपनी आईपीओ के माध्यम से अपने स्टॉक्स जारी करती है. दरअसल आईपीओ के जरिए कंपनियों के प्रमोटर पूंजी जुटाने के लिए अपनी कंपनी की कुछ हिस्‍सेदारी को बेचते हैं.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 10, 2019, 5:32 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...