• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • लॉकडाउन के बीच SBI की इस योजना से 5 लाख किसानों को मिली लाखों रुपये की मदद, जानें इसके बारे में सबकुुछ

लॉकडाउन के बीच SBI की इस योजना से 5 लाख किसानों को मिली लाखों रुपये की मदद, जानें इसके बारे में सबकुुछ

भारतीय स्टेट बैंक (प्र​तीकात्मक तस्वीर)

भारतीय स्टेट बैंक (प्र​तीकात्मक तस्वीर)

कोरोना वायरस (Covid19) महामारी से निपटने के लिए जारी लॉकडाउन (Lockdown Part 2) में देश का सबसे बड़ा सरकारी बैंक SBI (State Bank of India) किसानों की मदद के लिए खास स्कीम चला रहा है. इसमें से एक कषि गोल्ड लोन है. आइए जानें इसके बारे में...

  • Share this:
    नई दिल्ली. लॉकडाउन में किसानों की मदद के लिए देश का सबसे बड़ा सरकारी बैंक SBI (State Bank of Inida) किसानों के लिए एग्री गोल्ड लोन स्कीम चला रहा है. इसके तहत लॉकडाउन के बीच 5 लाख किसानों ने इसका फायदा उठाया है. अगर आप  भी इस स्कीम के तहत लोन लेना चाहते है तो आपको बता दें कि इस योजना के तहत कोई भी किसान अपनी कृषि भूमि की फर्द की प्रतिलिपि के साथ बैंक में सोने के जेवर देकर अपनी जरूरत के मुताबिक लोन ले सकता है.

    एसबीआई की इस योजना का नाम ‘एग्री गोल्ड लोन’ रखा है. इस योजना के तहत कोई भी किसान बैंक में सोने के गहने जमा करवा कर अपनी इच्छा मुताबिक लोन ले सकता है. बशर्ते उस किसान के नाम कृषि भूमि होनी चाहिए. उस कृषि भूमि की फर्द की कॉपी बैंक में देनी होती है. उस पर 9.95 फीसदी ब्याज छहमाही के रूप में वसूला जाएगा.

    स्कीम के फायदें- SBI की वेबसाइट पर दी गई जानकारी के मुताबिक, इस स्कीम में कोई और अन्य चार्ज नहीं देना होगा. इसके अलावा अन्य प्राइवेट बैंकों के मुकाबले सबसे कम ब्याज लिया जा रहा है. किसी भी ग्रामीण शाखा पर जाकर इसे अप्लाई किया जा सकता है. YONO ऐप से भी अप्लाई हो सकता है.

    अधिक जानकारी के लिए SBI की वेबसाइट https://sbi.co.in/hi/web/agri-rural/agriculture-banking/gold-loan/multi-purpose-gold-loan पर जाकर ज्यादा जानकारी हासिल कर सकते हैं



    योजना में यह भी सुविधा दी गई है कि अगर किसी किसान के नाम कृषि भूमि नहीं है लेकिन उसके नाम ट्रैक्टर है तो उस ट्रैक्टर के आधार पर ही जेवर बैंक में जमा करवा कर लोन लिया जा सकता है. ट्रैक्टर की आरसी उस किसान के नाम होनी चाहिए.

    इस योजना के तहत जो भी किसान बैंक से लोन लेने के लिए सोने के आभूषण जमा करवाएगा तो उन आभूषणों की जांच बाजार में किसी योग्य स्वर्णकार से करवाई जाएगी.जांच में जितना शुद्ध सोना बताया जाएगा उसके मुताबिक ही लोन की राशि तय की जाएगी.

    हालांकि गोल्ड लोन की योजना विभिन्न निजी कंपनियों ने भी शुरू की हुई है लेकिन उसका ब्याज दर 14 फीसदी से ज्यादा है जबकि एसबीआई की ब्याज दर सिर्फ 9.95 फीसदी है.

    ये भी पढ़ें-बचत खाते पर SBI से भी ज्यादा ब्याज मिल रहा, सिर्फ 20 रुपये में खुलवाएं खाता

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज