SBI ने अपने ग्राहकों को किया अलर्ट! एक SMS खाली कर सकता है आपका बैंक अकाउंट, रहें सावधान

देश के सबसे बडे कर्जदाता एसबीआई ने अपने ग्राहकों को अलर्ट जारी किया है कि ऑनलाइन धाोखाधड़ी करने वाले एक मैसेज भेजकर उनका अकाउंट खाली कर सकते हैं.
देश के सबसे बडे कर्जदाता एसबीआई ने अपने ग्राहकों को अलर्ट जारी किया है कि ऑनलाइन धाोखाधड़ी करने वाले एक मैसेज भेजकर उनका अकाउंट खाली कर सकते हैं.

स्‍टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) ने अपने ग्राहकों को मैसेज भेजकर और सोशल मीडिया के जरिये संभावित साइबर अटैक को लेकर चेतावनी जारी की है. एसबीआई ने कहा है कि ईमेल एड्रेस ncov2019@gov.in से आने वाली किसी भी ईमेल को क्लिक न करें.

  • Share this:
नई दिल्‍ली. कोरोना संकट के बीच महामारी के नाम पर ऑनलाइन धोखाधड़ी (Online Fraud) के जरिये लोगों को लाखों की चपत लगाने के कई मामले सामने आ चुके हैं. इस बीच स्‍टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) ने अपने ग्राहकों को संदेश भेजकर साइबर अटैक (Cyber Attack) के बारे में चेतावनी जारी की है. एसबीआई ने सोशल मीडिया पर पोस्ट और व्‍यक्तिगत संदेश के जरिये कई शहरों के ग्राहकों को फर्जी ई-मेल (Fake E-Mails) से बचने की सलाह दी है. इससे पहले भारत सरकार ने भी एडवायजरी जारी कर बड़े साइबर अटैक की आशंका जताते हुए आम लोगों और संस्थानों को चेताया था.

इस ई-मेल एड्रेस से आने वाले ई-मेल को ना करें क्लिक
एसबीआई ने ट्वीट और मैसेज के जरिये अपने ग्राहकों से कहा, 'हमारी जानकारी में आया है कि देश के कई शहरों में बड़ा साइबर हमला होने वाला है. आप अपने पास मुफ्त कोविड-18 टेस्टिंग (Free Covid-19 Testing) को लेकर ईमेल एड्रेस ncov2019@gov.in से आने वाली किसी भी ईमेल को क्लिक न करें. एसबीआई ने मैसेज में बताया है कि हैकर्स (Hackers) ने 20 लाख भारतीयों के ई-मेल एड्रेस हासिल कर लिए हैं. वे उन्‍हें फ्री कोरोना टेस्ट के नाम पर ई-मेल भेजकर उनकी व्यक्तिगत और बैंक संबंधी जानकारी (Personal and Bank Details) हासिल करने की कोशिश कर रहे हैं.

ये भी पढ़ें- Cyber Attack की चेतावनी के बाद टेलीकॉम कंपनियों ने बढ़ाई सतर्कता, जानें कैसे करें बचाव



ऐसे बैंक अकाउंट का एक्‍सेस हासिल कर लेते हैं हैकर्स
स्‍टेट बैंक के मुताबिक, हैकर्स के निशाने पर खासतौर से दिल्ली, मुंबई, हैदराबाद, चेन्नई और अहमदाबाद के लोग हैं. हैकर्स की ओर से ncov2019@gov.in से भेजे गए ई-मेल को क्लिक करने पर यूजर किसी फर्जी वेबसाइट (Fake Website) पर पहुंच जाते हैं. इसके बाद इस फर्जी वेबसाइट पर निजी या बैंक अकाउंट की जानकारी देने पर उन्हें भारी आर्थिक नुकसान (Financial Loss) झेलना पड़ सकता है. दरअसल, जब यूजर हैकर्स को अपनी निजी जानकारी दे देता है तो उन्‍हें उनके बैंक अकाउंट का एक्‍सेस हासिल करने में आसानी हो जाती है. ऐसे में यूजर का बैंक अकाउंट (Bank Account) खाली भी हो सकता है.



ये भी पढ़ें- भारत दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बने रहने में हुआ सफल, ग्‍लोबल GDP में 8,051 अरब डॉलर की हिस्‍सेदारी

CERT-In जारी कर चुका है साइबर अटैक का अलर्ट
भारतीय कंप्‍यूटर इमरजेंसी रिस्पॉन्स टीम (CERT-In) ने भी इससे पहले शनिवार को हर सरकारी विभाग, संस्थानों और नागरिकों को चेतावनी दी थी कि जल्‍द ही कोई बड़ा साइबर अटैक हो सकता है. चेतावनी में कहा गया था कि फ्री Covid-19 टेस्ट के नाम पर ये हैकर्स साइबर हमला करने के प्रयास में हैं. इससे पहले 2016 में देश के बैंकिंग संस्थानों को साइबर अटैक का सामना करना पड़ा था. इसमें हैकर्स ने कई ग्राहकों के डेबिट कार्ड के पिन समेत कई गोपनीय जानकारियां चुरा ली थीं. इसके बाद एसबीआई ने अपने ग्राहकों को 6 लाख नए डेबिट कार्ड जारी किए थे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज