SBI ग्राहकों को भेज रहा है ये खास SMS! नहीं मानने पर बंद हो सकता है अकाउंट

सरकारी बैंक भारतीय स्‍टेट बैंक (SBI) ने पिछले कुछ दिनों में अपने ग्राहकों के मोबाइल फोन पर एसएमएस भेजकर केवाईसी पूरा करने के लिए कहा है.

News18Hindi
Updated: December 8, 2018, 7:52 AM IST
SBI ग्राहकों को भेज रहा है ये खास SMS! नहीं मानने पर बंद हो सकता है अकाउंट
प्रतीकात्मक तस्वीर
News18Hindi
Updated: December 8, 2018, 7:52 AM IST
भारतीय स्‍टेट बैंक (SBI) ने पिछले कुछ दिनों में अपने ग्राहकों के मोबाइल फोन पर एसएमएस भेजकर केवाईसी (Know Your Customer) अपडेट करने के लिए कहा है. अगर कोई ग्राहक ये नहीं करवाता तो वह अपने बैंक अकाउंट से ट्रांजेक्शन (लेन-देन) नहीं कर पाएगा. आपको बता दें कि आरबीआई (रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया) ने सभी बैंक अकाउंट के लिए केवाईसी को जरूरी बना दिया है. (ये भी पढ़ें-SBI का केरल को तोहफा, नहीं देना होगा इन बैंकिंग सर्विसेज पर कोई चार्ज)

बैंक ने अपने ग्राहकों को भेज रहा है ये SMS- भारतीय रिजर्व बैंक के दिशा-निर्देशों के अनुसार आपके खाते में केवाईसी दस्तावेजों को अपडेट किया जाना है. कृपया नवीनतम केवाईसी दस्तावेजों के साथ अपनी एसबीआई शाखा में जाकर संपर्क करें. केवाईसी पूरी नहीं किए जाने की स्थिति में आपके खाते में भविष्य में किए जाने वाले लेन-देन पर रोक लगाई जा सकती है. (ये भी पढ़ें-जानिए, इन 5 सर्विसेज के लिए कितनी फीस वसूलता है SBI)

KYC यानी (Know Your Customer) को साधारण हिंदी में परिभाषित करें तो कहेंगे कि कस्टमर के बारे में पूरी जानकारी. केवाईसी कराना सभी के लिए जरूरी है. एक तरह से बैंक और ग्राहक के बीच KYC रिश्ते को मजबूत करता है. बिना केवाईसी निवेश मुमकिन नहीं है, इसके बगैर बैंक खाता भी खोलना आसान नहीं है. (ये भी पढ़ें-SBI ATM कार्ड यूज करने पर कब-कब अकाउंट से कटते हैं पैसे, जानिए)

बैंक में खाता खुलवाना, म्यूचुअल फंड में निवेश, बैंक लॉकर्स लेने पर, या फिर पुरानी कंपनी की पीएफ राशि निकालनी हो तो ऐसे वित्तीय लेन-देन में केवाईसी के बारे में पूछा जाता है. केवाईसी के जरिए यह सुनिश्चित किया जाता है कि कोई बैंकिंग सेवाओं का दुरुपयोग तो नहीं कर रहा है.

केवाईसी (अपने ग्राहक को जानें) दस्तावेज़ – एसबीआई की वेबसाइट पर दी गई जानकारी के मुताबिक, केवाईसी के लिए

व्यक्तियों के लिए (पहचान पत्र – जिसमें वही पता दिया हो जो पता खाता खोलने के फार्म मे दिया हुआ है)
पासपोर्ट
Loading...

मतदाता पहचान पत्र
ड्राइविंग लाइसेंस
आधार पत्र/कार्ड
नरेगा (एनआरईजीए) कार्ड
पेंशन भुगतान आदेश
डाकघरों द्वारा जारी पहचान पत्र
ऐसे जन प्राधिकरण संस्थाओं द्वारा जारी पहचान पत्र जो अपने द्वारा जारी पहचान पत्रों का रिकॉर्ड रखती हैं.



पहचान पत्र का प्रमाण (सूची-1)
पासपोर्ट
मतदाता पहचान पत्र
ड्राइविंग लाइसेंस
आधार पत्र/कार्ड
नरेगा (एनआरईजीए) कार्ड
पेंशन भुगतान आदेश
डाकघरों द्वारा जारी पहचान पत्र
पैन (पी ए एन) कार्ड
जन प्राधिकरण द्वारा जारी पहचान पत्र
यूजीसी/एआईसीटीई द्वारा मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय द्वारा जारी प्रमाण पत्र जिसपर फोटो लगा हो.
सरकार/सेना का पहचान पत्र.
विश्वसनीय नियोक्ताओं द्वारा जारी पहचान पत्र.



पते का प्रमाण (सूची-2)
टेलीफोन बिल (जो 3 महीने से अधिक पुराना न हो)
बैंक खाता विवरण (जो 3 महीने से अधिक पुराना न हो)
मान्यता प्राप्त सरकारी प्राधिकारी द्वारा जारी पत्र
बिजली का बिल (जो 6 महीने से अधिक पुराना न हो)
राशन कार्ड
विश्वसनीय नियोक्ताओं द्वारा जारी पहचान पत्र
आयकर/सम्पदा कर मूल्यांकन आदेश
क्रेडिट कार्ड स्टेटमेंट (जो 3 महीने से अधिक पुराना न हो)
पंजीकृत लीव & लाइसेन्स करार /सेल डीड/लीज एग्रीमेंट की प्रतियां
विश्वविद्यालय/संस्था के हास्टल वार्डेन द्वारा, अपने यहाँ रहने वाले छात्र को जारी पत्र, जिसे रजिस्ट्रार, प्रिंसपल/ डीन –छात्र कल्याण द्वारा प्रति हस्ताक्षरित किया गया हो.
छात्रों के मामले मे, यदि वे अपने नजदीकी संबंधी के साथ रह रहे हों तो उस संबंधी की घोषणा के साथ उनका पहचान पत्र और पता प्रमाण पत्र.

अवयस्क (नाबालिग)
अगर अवयस्क 10 वर्ष से कम आयु का है तो खाता परिचालित करने वाले व्यक्ति का पहचान पत्र लिया जाएगा.
अगर अवयस्क स्वयम खाता परिचालित करने लायक है तो पहचान पत्र तथा पता सत्यापन की वही प्रक्रिया जो किसी अन्य व्यक्ति के मामले मे लागू होती है.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर