बिना KYC के भी SBI में खोलें ये सेविंग्स अकाउंट, बिल्कुल फ्री में मिलती हैं कई सुविधाएं

एसबीआई में यह अकाउंट बिना किसी चार्ज के भी खोला जा सकता है.
एसबीआई में यह अकाउंट बिना किसी चार्ज के भी खोला जा सकता है.

अगर किसी व्यक्ति के पास KYC डाक्युमेंट्स नहीं है तो वो बैंक अकाउंट खोल सकता है. ऐसे लोगों के SBI बेसिक सेविंग्स बैंक डिपॉजिट स्मॉल अकाउंट की सुविधा देता है. इस अकाउंट पर कोई चार्ज या फीस नहीं देना होता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 30, 2020, 5:52 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. अगर आपके पास कोई केवाईसी डॉक्युमेंट (KYC Document) नहीं है, जिसकी वजह से बैंक अकाउंट नहीं खुलवा पा रहे तो चिंता न करें. भारतीय स्टेट बैंक (SBI - State Bank of India) 18 साल से ज्यादा उम्र के लोगों के लिए एक ऐसा बेसिक सेविंग्स डिपॉजिट स्मॉल अकाउंट (SBI Basic savings Deposit Small Account) की सुविधा देता है, जिसमें केवाईसी डॉक्युमेंट की चिंता नहीं होगी. SBI की यह सुविधा उन लोगों के लिए मददगार होगी जो समाज के गरीब वर्ग से ​आते हैं और उनके पास कोई डाक्युमेंट नहीं है. ऐसे लोगों को बिना किसी अतिरिक्त चार्ज या फीस के ही बैंक अकाउंट की सुविधा मिलती है ताकि वो कुछ बचत कर सकेंगे.

KYC नियमों में छूट की वजह से इस अकाउंट पर कई तरह सीमा भी होती है, जिसका ख्याल रखना होगा. हालांकि, अगर बाद में आप केवाईसी डॉक्युमेंट्स सबमिट करते हैं तो इसे रेगुलर सेविंग्स अकाउंट (Regular Savings Account) में तब्दील कर दिया जाएगा. आइए जानते हैं एसबीआई की इस बेसिक सेविंग्स बैंक डिपॉजिट स्मॉल अकाउंट के बारे में...

योग्यता: अगर कोई भी व्यक्ति बैंक अकाउंट खोलने के लिए योग्य है तो वो एसबीआई की इस सुविधा लाभ उठाकर अपना खाता खुलवा सकता है. इस अकाउंट को व्यक्तिगत, ज्वाइंट बैंक अकाउंट के तौर पर खुलवाया जा सकता है.



यह भी पढ़ें: WhatsApp भी खाली करा सकता है आपका बैंक अकाउंट, SBI ने करोड़ों ग्राहकों को किया अलर्ट
कहां खुलेगा ये बैंक अकाउंट: इस बैंक अकाउंट को खुलवाने का विकल्प सभी एसबीआई ब्रांच में उपलब्ध है. हालांकि, एसबीआई की कुछ स्पेशलाइज्ड ब्रांच - जैसे पसर्नल बैंकिंग ब्रांचेज(PBBs)/स्पेशल पर्सनलाइज बैंकिंग(SPB)/मिड कॉरपोरेट ग्रुप(MCG)/कॉरपोरेट अकाउंट ग्रुप (CAG) ब्रांचों यह सुविधा नहीं मिलती है.

बैलेंस लिमिट: एसबीआई के मुताबिक, इस अकाउंट में किसी भी समय में कुल बैलेंस 50,000 रुपये से ज्यादा नहीं होना चाहिए. साथ ही किसी एक महीने में कुल​ निकासी या ट्रांसफर की रकम 10,000 रुपये से ज्यादा नहीं होनी चाहिए. आपको यह भी ध्यान देना होगा कि किसी एक वित्तीय वर्ष में कुल क्रेडिट रकम 1 लाख रुपये से ज्यादा नहीं चाहिए.

अगर किसी भी समय अकाउंट में कुल बैलेंस 50,000 रुपये या एक वित्तीय वर्ष में कुल क्रेडिट 1 लाख रुपये से ज्यादा होता है तो इस अकाउंट से कोई लेनदेन नहीं सकेगा. हां, अगर आपने बैंक को केवाईसी डॉक्युमेंट उपलब्ध करा​ दिया है तो सेवांए शुरू हो जाएंगी.

यह भी पढ़ें: कोरोना संकट के बीच इन कर्मचारियों के लिए बड़ी खुशखबरी! दिसंबर से बढ़ जाएगी सैलरी

पैसे निकालने की अनुमति: इस बैंक अकाउंट के जरिए एक महीने में केवल 4 बार ही पैसे निकाले जा सकते हैं. इसमें एसबीआई या किसी अन्य बैंक के एटीएम से निकाली जाने वाली रकम भी होगी. अगर किसी अन्य माध्यम जैसे RTGS/NEFT/क्लियरिंग/ब्रांच कैश विड्रॉल/ट्रांसफर/इंटरनेट बैंकिंग डेबिट/ईएमआई आदि भी शामिल किया जाएगा. एक महीने में 4 बार निकासी के बाद फिर अगली निकासी के लिए अगले महीने का इंतजार करना होगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज