एसबीआई कार्ड रखते हैं तो जान लें ये बात, नहीं किया है पेमेंट तो अब कंपनी उठाएगी ये कदम

एसबीआई कार्ड रखते हैं तो जान लें ये बात, नहीं किया है पेमेंट तो अब कंपनी उठाएगी ये कदम
एसबीआई कार्ड

SBI Card: मोरेटोरियम की दूसरी अ​वधि में पेमेंट नहीं करने वाले ग्राहकों का रिस्ट्रक्चरिंग प्लान (Restructuring Plan) के तहत इनरोलमेंट किया जाएगा. इन्हें रिपेमेंट के लिए ज्यादा समय और बेहतर ब्याज की पेशकश की जाएगी. जो ग्राहक RBI रिस्ट्रक्चरिंग प्लान की जगह SBI रिपेमेंट प्लान चुनेंगे, उन्हें एक खास लाभ भी मिलेगा.

  • Share this:
नई दिल्ली. एसबीआई कार्ड (SBI Card) अपने 'दोषी' ग्राहकों के लिए रिस्ट्रक्चरिंग प्लान (Restructuring Plan) के तहत इनरोलमेंट प्रक्रिया शुरू करने जा रही है. इसमें वो ग्राहक शामिल होंगे जिन्होंने मोरेटोरियम (Loan Moratorium) खत्म होने के बाद कोई पेमेंट नहीं किया है. इन्हें आरबीआई के रिस्ट्रक्चरिंग स्कीम (RBI Restructuring Scheme) या बैंक के रिपेमेंट प्लान के तहत शामिल किया जाएगा ताकि उन्हें रिपेमेंट के लिए अधिक समय मिल सके. एसबीआई कार्ड के एक वरिष्ठ अधिकारी ने इस बारे में जानकारी दी है.

एसबीआई कार्ड के प्रबंध निदेशक और सीईओ ​अश्वि​नी कुमार तिवारी ने कहा कि मोरेटोरियम की वजह से पहले तीने महीने में बड़े स्तर पर ग्राहकों ने पेमेंट नहीं किया और कंपनी ने इन्हें स्टैंडर्ड अकांउट (Standard Account) ही माना. इसके बाद मोरेटोरियम की दूसरी अवधि में कंपनी ने ग्राहकों के लिए इनरोलमेंट प्रक्रिया शुरू की. इसमें बहुत सारे कस्टमर्स ने खुद को रजिस्टर नहीं कराया. यही कारण रहा कि बड़ी संख्या में ग्राहक मोरेटोरियम के दायरे में नहीं आ सके. इसमें से कुछ ने रिपेमेंट किया और कुछ ने नहीं किया. जिन्होंने रिपेमेंट नहीं किया, उन्हें ही हम दोषी ग्राहक मान रहे हैं.

यह भी पढ़ें: लगातार पांचवें महीने बढ़ा Gold ETF में निवेश, मिलता है एफडी से ज्यादा मुनाफा!



बकाया चुकाने के लिए ज्यादा समय और बेहतर ब्याज दर
पिछले महीने ही अपना पदभार संभालने वाले तिवारी ने न्यूज एजेंसी PTI को एक इंटरव्यू में कहा, 'हम अब इन दोषी ग्राहकों को आरबीआई रिस्ट्रक्चरिंग स्कीम या अपने रिपेमेंट प्लान के तहत इनरोल कर रहे हैं ताकि उन्हें ज्यादा समय और बेहतर ब्याज दर के आधार पर अपना बकाया चुकाने का मौका मिल सके.' कंपनी के मुताबिक, उसके पास मई में 7,083 करोड़ रुपये थे जोकि जून में घटरक 1,500 करोड़ रुपये रह गये.

एसबीआई रिपेमेंट प्लान के तहत मिलेगा फायदा
जो ग्राहक आरबीआई रिस्ट्रक्चरिंग स्कीम का लाभ न लेकर एसबीआई कार्ड के रिपेमेंट प्लान को चुनेंगे, उन्हें एक खास लाभ मिलेगा. एसबीआई कार्ड ऐसे ग्राहकों की रिपोर्ट क्रेडिट स्कोरिंग एजेंसी सिबिल को नहीं भेजेगी.

तिवारी ने कहा कि रिस्ट्रक्चरिंग प्रक्रिया चल रही है और अभी बहुत अकाउंट्स को इनरोल किया जाना है. आरबीआई की गाइडलाइंस के अनुसार कंपनी इस पर 10 फीसदी प्रोविजनिंग लेगी. इसके अलावा, कुछ ऐसे भी अकाउंट्स हैं जो महामारी के चलते एनपीए बन गये हैं. इनके लिए अतिरिक्त प्रोविजनिंग की जाएगी. दूसरी और ​तीसरी तिमाही में स्थिति सुधरने की उम्मीद है.

यह भी पढ़ें: 20 लाख करोड़ के राहत पैकेज में कहां कितना हुआ खर्च, सरकार ने दिया हिसाब

पहली तिमाही में 393 करोड़ रुपये का शुद्ध मुनाफा
एसबीआई कार्ड को अप्रैल-जून तिमाही में 393 करोड़ रुपये का शुद्ध मुनाफा हुआ था. हालांकि, इस दौरान कंपनी की इनकम 2,304 करोड़ रुपये से घटकर 2,196 करोड़ रुपये पर आ गया था. लेकिन, अब एनपीए की बढ़ती संख्या को देखते हुए कहा जा सकता है कि दूसरी तिमाही एसबीआई के लिए चुनौतीपूर्ण होगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज