लाइव टीवी

SBI Cards का IPO 2 मार्च को खुलेगा, प्राइस बैंड ₹750 से ₹755, पैसा लगाने से पहले जानिए सभी जरूरी बातें

News18Hindi
Updated: February 26, 2020, 12:20 PM IST
SBI Cards का IPO 2 मार्च को खुलेगा, प्राइस बैंड ₹750 से ₹755, पैसा लगाने से पहले जानिए सभी जरूरी बातें
फॉर्म 15G और फॉर्म 15H क्या है

एसबीआई कार्ड्स ने 19 शेयरों का लॉट साइज तय किया है. अगर आसान भाषा में कहें 755 रुपये के भाव पर अगर शेयर मिलते है तो कम से कम 14,345 रुपये का निवेश करना होगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 26, 2020, 12:20 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआई) की सहयोगी कंपनी एसबीआई कार्ड्स (SBI Cards IPO) का आईपीओ 2 मार्च को खुलेगा. वहीं, इसका प्राइस बैंड 750 से 755 रुपये तय किया गया है. एक्सपर्ट्स का मानना है कि इस आईपीओ से निवेशकों को बंपर रिटर्न की उम्मीद है. आईपीओ ला रही एसबीआई कार्ड्स एंड पेमेंट्स सर्विसेज का शेयर ग्रे मार्केट में 200-270 रुपये के प्रीमियम पर ट्रेड कर रहा है. अगर आसान शब्दों में कहें तो लिस्टिंग वाले दिन (बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज पर ट्रेडिंग शुरू होने वाला दिन) इस पर प्रति शेयर 270 रुपये का मुनाफा हो सकता है. इस लिहाजा से आईपीओ में पैसा लगाने वालों को 35-40 फीसदी मुनाफा एक हफ्ते में मिल जाएगा. मौजूदा समय में एक साल की एफडी पर 6 फीसदी तक ब्याज मिल रहा है.

पहली बार आए सरकारी कंपनी IRCTC पर भी ग्रे मार्केट में इतना ही प्रीमियम मिल रहा था. आपको बता दें कि आईपीओ के बाद से IRCTC का शेयर 100 फीसदी से ज्यादा का रिटर्न दे चुका है.

कितना लगाना होगा पैसा- एसबीआई कार्ड्स ने 19 शेयरों का लॉट साइज तय किया है. अगर आसान भाषा में कहें 755 रुपये के भाव पर अगर शेयर मिलते है तो कम से कम 14,345 रुपये का निवेश करना होगा.



कैसे करें निवेश-IPO में आप अपने स्तर पर सीधे पैसा लगा सकते हैं. इसके लिए आपके पास डीमैट अकाउंट होना जरूरी है. इसमें ब्रोकर के जरिए निवेश किया जा सकता है. हर ब्रोकरेज हाउस आईपीओ में निवेश के लिए अपनी वेबसाइट पर एक अलग सेक्शन रखता है.



जहां जाकर आप कुछ सूचनाएं भरने के बाद आईपीओ के लिए आवेदन कर सकते हैं. इन सूचनाओं में प्रमुख है कि आप कितने स्टॉक के लिए किस कीमत पर अप्लाई करना चाहते हैं. आपके आवेदन के हिसाब से उतनी रकम आईपीओ बंद होने से लिस्टिंग तक ब्लॉक कर दी जाती है.

ये भी पढ़ें: PF खाते से अपना पैसा निकालने पर देना होता है टैक्स, जानिए नियम को...

अच्छा आईपीओ चुनने के लिए सबसे पहले तो उस कंपनी की साख देखें जो अपना आईपीओ लेकर आ रही है. कई रेटिंग एजेंसियां उस आईपीओ को अपनी रेटिंग भी देती हैं, जिस पर नजर रखना जरूरी है.

अगर 2 या 2 से अधिक एजेंसियों की रेटिंग आईपीओ पर पॉजिटिव है तो उसमें निवेश किया जा सकता है. कंपनी के अच्छे बिजनेस के साथ साथ आईपीओ की कीमत भी देखें. ब्रोकर्स की रिपोर्ट को भी देखना चाहिए. बाजार प्रमोटर्स के अलावा दूसरे निवेशकों के बारे में भी जानकारी जुटाएं.

क्या करती है SBI कार्ड्स- एसबीआई कार्ड्स  के करीब 95 लाख ग्राहक हैं और एचडीएफसी बैंक के बाद कार्ड जारी करने वाली यह दूसरी सबसे बड़ी कंपनी है. क्रेडिट कार्ड की संख्या के संदर्भ में एसबीआई कार्ड की बाजार हिस्सेदारी 18 फीसदी है. कंपनी का फंसा कर्ज (एनपीए) दिसंबर 2019 में 2.47 फीसदी रहा जो मार्च 2019 में 2.44 फीसदी था.

आरबीआई के आंकड़ों के मुताबिक, पिछले तीन साल में भारत में क्रेडिट कार्ड से खर्च में सालाना 35.6 फीसदी की दर से बढ़ोतरी हुई है, जबकि क्रेडिट कार्ड बकाये में 25.6 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है.

कार्ड बिजनेस के लिए इंडस्ट्री एवरेज 3.5 फीसदी है. पिछले 6-7 सालों में एसबीआई कार्ड की रिटर्न ऑन इक्विटी (RoE) 25% से कम नहीं देखी गई है और इस दौरान यह लगभग 30 फीसदी के औसत में रहा है.

एसबीआई कार्ड के एमडी दिनेश खरे का कहा कि एसबीआई की कंपनी में 74 फीसदी हिस्सेदारी है. शेष हिस्सेदारी कार्लाइल ग्रुप के पास है.

इसमें 500 करोड़ रुपये के नए शेयर शामिल होंगे और इसके साथ प्रमोटर अपने करीब 13 करोड़ शेयर बिक्री के लिए रखेंगे. प्रमोटर्स  भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) और कार्लाइल ग्रुप क्रमश: 3.73 करोड़ शेयर और 9.32 करोड़ शेयर की बिक्री कर रहे हैं.

SBI कार्ड्स आईपीओ को मैनेज करने की जिम्मेदारी कोटक महिंद्रा कैपिटल कंपनी, SBI कैपिटल मार्केट्स, DSP Merrill Lynch, एक्सिस कैपिटल, HSBC सिक्योरिटीज और कैपिटल मार्केट्स नोमुरा फाइनेंशियल एडवाइजरी (Nomura Financial Advisory) और सिक्योरिटीज को दी गई है.

ये भी पढ़ें-1 अप्रैल 2020 से लागू होगा पेंशन का नया नियम, सरकार ने किया ऐलान

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए ऑनलाइन बिज़नेस से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 26, 2020, 11:54 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading