Home /News /business /

SBI ग्राहकों के लिए अलर्ट! बैंक ने बदल दिए पैसे जमा करने और निकालने से जुड़े 4 बड़े नियम

SBI ग्राहकों के लिए अलर्ट! बैंक ने बदल दिए पैसे जमा करने और निकालने से जुड़े 4 बड़े नियम

SBI) ने अपने ग्राहकों को एक बार फिर से झटका देते हुए फिक्स्ड डिपॉजिट (FD) पर ब्याज दरें कम कर दी हैं. SBI ने 2 करोड़ रुपये से कम की रिटेल डोमेस्टिक टर्म डिपॉजिट पर ब्याज 1-2 साल की अवधि पर 0.20 फीसदी तक घटा दी है. यानी, अब SBI की एफडी पर मिलने वाला फायदा कम हो गया है. नई ब्याज दरें 10 सितंबर 2020 से लागू हो गई हैं.  इससे पहले, SBI ने 27 मई को फिक्स्ड डिपॉजिट की ब्याज दरें घटाई थी. देश में पारंपरिक, सुरक्षित और निश्चित ब्याज इनकम के लिए बड़े पैमाने पर सावधि जमा (FD) में निवेश किया जाता है.SBI) ने अपने ग्राहकों को एक बार फिर से झटका देते हुए फिक्स्ड डिपॉजिट (FD) पर ब्याज दरें कम कर दी हैं. SBI ने 2 करोड़ रुपये से कम की रिटेल डोमेस्टिक टर्म डिपॉजिट पर ब्याज 1-2 साल की अवधि पर 0.20 फीसदी तक घटा दी है. यानी, अब SBI की एफडी पर मिलने वाला फायदा कम हो गया है. नई ब्याज दरें 10 सितंबर 2020 से लागू हो गई हैं.  इससे पहले, SBI ने 27 मई को फिक्स्ड डिपॉजिट की ब्याज दरें घटाई थी. देश में पारंपरिक, सुरक्षित और निश्चित ब्याज इनकम के लिए बड़े पैमाने पर सावधि जमा (FD) में निवेश किया जाता है.

SBI) ने अपने ग्राहकों को एक बार फिर से झटका देते हुए फिक्स्ड डिपॉजिट (FD) पर ब्याज दरें कम कर दी हैं. SBI ने 2 करोड़ रुपये से कम की रिटेल डोमेस्टिक टर्म डिपॉजिट पर ब्याज 1-2 साल की अवधि पर 0.20 फीसदी तक घटा दी है. यानी, अब SBI की एफडी पर मिलने वाला फायदा कम हो गया है. नई ब्याज दरें 10 सितंबर 2020 से लागू हो गई हैं. इससे पहले, SBI ने 27 मई को फिक्स्ड डिपॉजिट की ब्याज दरें घटाई थी. देश में पारंपरिक, सुरक्षित और निश्चित ब्याज इनकम के लिए बड़े पैमाने पर सावधि जमा (FD) में निवेश किया जाता है.SBI) ने अपने ग्राहकों को एक बार फिर से झटका देते हुए फिक्स्ड डिपॉजिट (FD) पर ब्याज दरें कम कर दी हैं. SBI ने 2 करोड़ रुपये से कम की रिटेल डोमेस्टिक टर्म डिपॉजिट पर ब्याज 1-2 साल की अवधि पर 0.20 फीसदी तक घटा दी है. यानी, अब SBI की एफडी पर मिलने वाला फायदा कम हो गया है. नई ब्याज दरें 10 सितंबर 2020 से लागू हो गई हैं. इससे पहले, SBI ने 27 मई को फिक्स्ड डिपॉजिट की ब्याज दरें घटाई थी. देश में पारंपरिक, सुरक्षित और निश्चित ब्याज इनकम के लिए बड़े पैमाने पर सावधि जमा (FD) में निवेश किया जाता है.

अगर आपका SBI में है अकाउंट (SBI Account-holders) तो ये खबर आपके लिए बहुत जरूरी है, क्योंकि इस हफ्ते SBI ने अपने कई नियमों में बदलाव (SBI changes many rules) किए हैं. आइए आपको अच्छे से समझाते हैं कि बैंक ने इन नियमों में क्या बदलाव किया है और इससे आप पर क्या असर होगा...

अधिक पढ़ें ...
    नई दिल्ली. अगर आपका SBI में है अकाउंट (SBI Account holders) तो ये खबर आपके लिए बहुत जरूरी है, क्योंकि इस हफ्ते SBI ने अपने कई नियमों में बदलाव (SBI changes many rules) किए हैं. ये रूल्स ATM लेन-देन, मिनिमम बैलेंस और SMS चार्जेज को लेकर हैं. आइए आपको अच्छे से समझाते हैं कि बैंक ने इन नियमों में क्या बदलाव किया है और इससे आप पर क्या असर होगा..

    1) भारतीय स्टेट बैंक (SBI) ने 1 जुलाई से अपने एटीएम निकासी नियमों (ATM Withdrawal Rules) में बदलाव किया है. अगर इन नियमों का पालन नहीं किया गया, तो ग्राहकों पर जुर्माना लगेगा. भारतीय स्टेट बैंक (SBI) की आधिकारिक वेबसाइट sbi.co.in पर उपलब्ध जानकारी के मुताबिक, SBI मेट्रो शहरों में अपने नियमित बचत खाताधारकों (Saving Account Holders) को एटीएम से एक महीने में 8 मुफ्त लेनदेन करने की अनुमति देता है. मुफ्त ट्रांजैक्शन की लिमिट पार करने पर ग्राहकों से प्रत्येक लेनदेन पर चार्ज लिया जाता है.

    SBI की सुविधा! जरूरत पड़ने पर बैंक खाते के बैलेंस से ज्यादा निकाल सकेंगे पैसे

    2) SBI ने 18 अगस्त को आपने ग्राहकों को बड़ा तोहफा देते हुए जानकारी दी है कि अब बचत खाताधारकों से बैंक SMS चार्जेज नहीं लेगा. उसने ये शुल्क माफ कर दिया है.

    3) एसबीआई ने एटीएम से 10 हजार रुपये से अधिक नकद निकासी के नियमों में भी बदलाव किया है. अब अगर आप एसबीआई के एटीएम से 10 हजार रुपए से अधिक रकम निकालते हैं तो आपको ओटीपी (OTP) की जरूरत होगी. बैंक की इस सुविधा के तहत खाताधारकों को रात के 8 बजे से लेकर सुबह के 8 बजे तक SBI के एटीएम से कैश निकालने के लिए ओटीपी की जरूरत होगी. बैंक की ये सुविधा खाताधारकों को सिर्फ SBI के एटीएम में मिलेगी. अगर आप बाकी किसी दूसरे एटीएम से कैश निकालते हैं तो पहले की तरह आराम से निकाल सकते हैं. आपको किसी ओटीपी की जरूरत नहीं होगी.

    बड़ी खबर- बंद होने वाली है ये सरकारी कंपनी, जानिए क्या होगा कर्मचारियों का

    4) SBI ने बचत खाताधारकों से मासिक न्यूनतम राशि नहीं रखने पर भी (non-maintenance of monthly average balance) शुल्क नहीं लेगा. एसबीआई के 44 करोड़ से अधिक बचत खाताधारकों ये सुविधा मिलेगी. इस साल मार्च में, एसबीआई ने घोषणा की थी कि वह सभी बचत बैंक खातों के लिए औसत मासिक न्यूनतम राशि रखने की अनिवार्यता समाप्त कर दी है. इससे अब बैंक के सभी बचत खाताधारकों को जीरो बैलेंस की सुविधा मिलने लगेगी. बता दें कि उस समय बैंक मेट्रो शहरों में बचत खाताधारकों को न्यूनतम राशि के रूप में 3000 रुपये, कस्बों में 2000 रुपये और ग्रामीण इलाकों में 1000 रुपये खाते में रखने होते थे.

    Tags: Sbi, SBI Bank

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर