लाइव टीवी

SBI ने सरकार को दिया सुझाव, सीनियर सिटीजन स्कीम में अर्जित ब्‍याज टैक्स फ्री की जाए

भाषा
Updated: September 24, 2019, 8:23 PM IST
SBI ने सरकार को दिया सुझाव, सीनियर सिटीजन स्कीम में अर्जित ब्‍याज टैक्स फ्री की जाए
सीनियर सिटीजन स्कीम में अर्जित ब्‍याज टैक्स फ्री करने की जरूरत

एसबीआई इकोरैप (SBI Ecowrap) की रिपोर्ट में कहा गया है कि उचित यह होगा कि सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम में पूरी तरह टैक्स छूट दी जाए.

  • भाषा
  • Last Updated: September 24, 2019, 8:23 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. ब्याज दरों (Interest Rates) में गिरावट के बीच सरकार (Government) को सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम (SCSS) पर अर्जित ब्याज (Interest) को पूरी तरह इनकम टैक्स (Income Tax) से मुक्त करने पर विचार करना चाहिए. एसबीआई (SBI) की एक रिपोर्ट में यह सुझाव दिया गया है. इसमें कहा गया है कि एससीएसएस (SCSS) को पूरी तरह टैक्स फ्री (Tax Free) करने की वित्तीय लागत काफी कम बैठेगी.

कितना कर सकते हैं जमा
SCSS के तहत कोई वरिष्ठ नागरिक 15 लाख रुपये तक जमा कर सकता है और इसपर मौजूदा ब्याज दर 8.6 फीसदी है. इस योजना की अवधि 5 साल की है. इसे तीन और साल के लिए बढ़ाया जा सकता है. हालांकि, SCSS के ब्याज पर पूरा टैक्स लगता है जो इस योजना की सबसे बड़ी अड़चन है. इस योजना में 5 साल के लिए 1 लाख रुपये की जमा पर 51,000 रुपये ब्याज बनता है. यह ब्याज इनकम टैक्स के दायरे में आती है.

योजना में पूरी तरह टैक्स छूट दी जाए

एसबीआई इकोरैप (SBI Ecowrap) की रिपोर्ट में कहा गया है कि उचित यह होगा कि इस योजना में पूरी तरह टैक्स छूट दी जाए. इससे सरकार को सिर्फ 3,092 करोड़ रुपये के राजस्व का नुकसान होगा. इसका सरकार के राजकोषीय घाटे पर मामूली 0.02 फीसदी का प्रभाव पड़ेगा.

एसबीआई सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम के फायदे-

>> पात्रता- 60 साल या उससे अधिक उम्र का व्यक्ति एसबीआई में एससीएसएस अकाउंट खोल सकता है. 55 साल या उससे अधिक लेकिन 60 साल से कम उम्र के व्यक्ति जो रिटायर हुए हैं, वह भी यह अकाउंट खुलवा सकते हैं.
Loading...

>> ब्याज दरें- एससीएसएस में जमा राशि पर 8.60 फीसदी प्रति वर्ष की दर से ब्याज मिल रहा है जो कि जमा होने की तारीख से एक साल पूरा होने के बाद मिलता है. अमाउंट प्रत्येक कैलेंडर तिमाही यानी 31 मार्च, 30 जून, 30 सितंबर और 31 दिसंबर को मिलता है.

>> डिपॉजिट मोड- इसमें जमा नकद में किया जा सकता है, अगर जमा की राशि 1 लाख रुपये से कम है.

>> अकाउंट का रिन्‍युअल- एक अकाउंट होल्डर 5 साल की मैच्योरिटी अवधि पूरी होने के बाद 3 साल के लिए एससीएसएस अकाउंट का बढ़ा सकता है.
> अन्य सुविधाएं- इस स्कीम में नॉमिनेशन फैसिलिटी भी मिलती है. अकाउंट होल्डर एक या उससे अधिक लोगों को अकाउंट का नॉमिनी बना सकता है. अगर बीच में पैसे निकालने हैं तो एससीएसएस से एक साल बाद पैसे निकाले जा सकते हैं, लेकिन उसके लिए पेनल्टी देनी पड़ती है.

ये भी पढ़ें: 

सरकार ने दिया तोहफा, अब किश्तों में हेल्थ इंश्योरेंस प्रीमियम का भुगतान करें

सरकार ने किया पेंशन नियमों में बदलाव, अब इन लोगों को मिलेंगे ज्यादा पैसे

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 24, 2019, 8:23 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...