SBI fixed deposits vs Post Office deposits: जानिए कहां मिलेगा निवेश करने पर ज्यादा मुनाफा

आरबीआई द्वारा नीतिगत ब्याज दरों में लगातार कटौती के बाद उन्हें यह फैसला लेना पड़ा है.
आरबीआई द्वारा नीतिगत ब्याज दरों में लगातार कटौती के बाद उन्हें यह फैसला लेना पड़ा है.

सुरक्षित निवेश और निश्चित रिटर्न के लिए एफडी को सबसे बेहतर निवेश विकल्प माना जाता है. वरिष्ठ नागरिको में यह खास पॉपुलर है. लेकिन आरबीआई द्वारा नीतिगत ब्याज दरों में कटौती के बाद बैंकों ने एफडी ब्याज दरों को घटाया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 6, 2020, 5:48 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. क्या आपके लिए भी बचत का सबसे बेहतरीन साधन फिक्स्ड डिपॉजिट है? कम से कम सुरक्षित निवेश के साथ बेहतर​ रिटर्न के लिए एफडी तो सबसे बेहतर विकल्प माना जाता है, खासतौर से वरिष्ठ नागरिकों के लिए. भारतीय स्टेट बैंक समेत लगभग सभी टॉप बैंकों ने बीते कुछ समय में एफडी पर ब्याज दरों को घटाया है. आरबीआई द्वारा नीतिगत ब्याज दरों में लगातार कटौती के बाद उन्हें यह फैसला लेना पड़ा है. लेकिन, बैंकों द्वारा ब्याज दरों में कटौती के बाद निवेशकों का रुझान अब पोस्ट ऑफिस टाइम डिपॉजिट की तरफ बढ़ा है. इसकी ब्याज दरों में हर तीन महीने बाद रिवाइज किया जाता है. अंतिम बार पोस्ट ऑफिस टाइम डिपॉजिट पर ब्याज दरों को 1 अप्रैल को रिवाइज किया गया था.

पोस्ट ऑफिस टाइम डिपॉजिट
पोस्ट ऑफिस टर्म डिपॉजिट स्कीम्स बैंक एफडी की तरह ही होते हैं. पोस्ट ऑफिस में टर्म डिपॉजिट 1 साल से लेकर 5 साल के​ लिए होता है. बैंक एफडी की तरह ही निवेशकों को पीओ टर्म डिपॉजिट पर निश्चित रिटर्न मिलता है. 1 अप्रैल 2020 को पोस्ट ऑफिस टर्म डिपॉजिट पर ब्याज दरों को रिवाइज किया गया था. एक साल की पीओ टर्म डिपॉजिट पर 5.5 फीसदी की दर से ब्याज मिल रहा है. दो साल और तीन साल के लिए डिपॉजिट पर भी यह ब्याज दर 5.5 फीसदी ही है. लेकिन, 5 साल के पोस्ट ऑफिस टर्म डिपॉजिट पर 6.7 फीसदी की दर से ब्याज मिलता है.

यह भी पढ़ें:  1200 रुपये सस्ता होने के बाद आज फिर बढ़ गये सोने के दाम, जान लीजिए नई कीमत



एसबीआई फिक्स्ड डिपॉजिट्स
भारतीय स्टेट बैं की एफडी की बात करें तो यह 7 दिनों से लेकर 10 साल तक के लिए होता है. यह भी इन्वेस्टमेंट के लिए जरूरत पर निर्भर करता है कि निवेशक छोटी अवधि के लिए इसमें निवेश करता है या 10 साल जैसी बड़ी अवधि के लिए. एसबीआई एफडी पर मिलने वाला ब्याज 2.9 फीसदी से लेकर 5.4 फीसदी तक है.

2 करोड़ रुपये से कम की एफडी पर 7 से 45 दिन के लिए 2.9 फीसदी, 46 से 179 दिन के लिए 3.9 फीसदी ब्याज मिलता है. 180 से 210 दिन और 211 से 1 साल में एक दिन की अवधि के लिए यह ब्याज दर 4.4 फीसदी की है. 1 साल से लेकर 2 साल में एक दिन कम तक के लिए यह 4.9 फीसदी, 2 साल से लेकर 3 साल में एक दिन कम के लिए 5.1 फीसदी, 3 साल से लेकर 5 साल में एक दिन कम तक के लिए 5.3 फीसदी और 5 साल से लेकर 10 साल के लिए यह 5.4 फीसदी है. ये दरें 10 सितंबर से लागू हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज