Home /News /business /

SBI की नई पहल अगले 2 साल में बदल जाएंगे ATM

SBI की नई पहल अगले 2 साल में बदल जाएंगे ATM

देश का प्रमुख बैंक, भारतीय स्टेट बैंक (SBI) पूरे देश में लगभग 10,000 एटीएम सौर पैनल स्थापित करने के बारे में सोच रहा है.

देश का प्रमुख बैंक, भारतीय स्टेट बैंक (SBI) पूरे देश में लगभग 10,000 एटीएम सौर पैनल स्थापित करने के बारे में सोच रहा है.

देश का प्रमुख बैंक, भारतीय स्टेट बैंक (SBI) पूरे देश में लगभग 10,000 एटीएम सौर पैनल स्थापित करने के बारे में सोच रहा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
    देश का प्रमुख बैंक, भारतीय स्टेट बैंक (SBI) पूरे देश में लगभग 10,000 एटीएम सौर पैनल स्थापित करने के बारे में सोच रहा है. बैंक के एक वरिष्ठ अधिकारी ने मंगलवार को यह जानकारी दी है. मौजूदा समय में, बैंक के लगभग 1,200 एटीएम केन्द्र सौर ऊर्जा से चल रहे हैं.

    बैंक के मुख्य वित्त अधिकारी प्रशांत कुमार ने बताया कि हम अगले दो साल में इस (सौर पैनलों) संख्या को 10,000 एटीएम तक करने जा रहे हैं. एसबीआई ने पूरे देश में अपने 150 भवनों पर रूफटॉप सौर पैनल स्थापित किया है और ऐसे ही अन्य स्थानों की पहचान करने की प्रक्रिया में है.

    इस योजना में लगाएं 200 रुपए रोजाना, 20 साल बाद मिलेंगे 34 लाख रुपये

    उनका कहना है कि हमारा लक्ष्य है कि अगले वर्ष तक, बैंक की करीब 250 इमारतों पर सौर पैनल लगे होंगे. बैंक वर्ष 2030 तक अपने सभी वाहनों को इलेक्ट्रिक वाहनों में बदलने की भी योजना बना रहा है.

    ये भी पढ़ें: सरकार दे रही है 600 रुपए में ट्रेनिंग, मिलेगी हजारों रुपए महीने की जॉब

    SBI की नई सुविधा: एसबीआई ने ग्राहकों के लिए दो नई सुविधाएं शुरू की हैं. पहले दूसरे ब्रांच से कैश डिपॉजिट की 30 हजार रुपये लिमिट तय थी, जिसको खत्म कर SBI ने लोगों की सुविधा के लिए एक नई स्कीम शुरू की है. इस स्कीम के अंतर्गत ग्राहक किसी भी SBI ब्रांच में बिना किसी असुविधा के पैसे जमा कर सकेंगे. इसके लिए उन्हें कोई भी अतिरिक्त शुल्क नहीं देना होगा.

    Tags: Sbi, SBI Bank, SBI loan, SBI Quick, Sbi share price

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर