लाइव टीवी
Elec-widget

मिनिमम बैलेंस नहीं होने पर आपके खाते से पैसे काटकर बैंकों ने कमाए 1996 करोड़ रुपये


Updated: November 26, 2019, 2:07 PM IST
मिनिमम बैलेंस नहीं होने पर आपके खाते से पैसे काटकर बैंकों ने कमाए 1996 करोड़ रुपये
सांकेतिक तस्‍वीर (Photo: Reuters)

बेसिक सेविंग्‍स बैंक डिपॉजिट (BSBD Accounts) और प्रधानमंत्री जनधन योजना के तहत खाता (PMJDY Accounts) पर मिनिमम बैलेंस (Minimum Balance) की अनिवार्यता लागू नहीं होती है.

  • Share this:
नई दिल्ली. सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों (Public Sector Banks) को पिछले वित्त वर्ष 2018-19 (Financial Year 2018-19) में खाते में मिनिमम मंथली बैलेंस (Minimum Monthly Balance) नहीं रख पाने पर पेनल्टी (Penalty) के तौर पर 1,996.46 करोड़ रुपये हासिल हुए हैं. यह जानकारी वित्त राज्यमंत्री (Minister of State for Finance) और हमीरपुर के सांसद अनुराग ठाकुर (Anurag Thakur) ने सोमवार को लोकसभा (Lok Sabha) में दी.

क्या है मामला- वित्त वर्ष 2017-18 में 18 सरकारी बैंकों को मिनिमम बैलेंस पेनल्टी के तौर पर 3,368.42 करोड़ रुपये मिले थे. वहीं वित्त वर्ष 2016-17 में सरकारी बैंकों ने खाताधारकों से 790.22 करोड़ रुपए की वसूली की.

एक लिखित जवाब में वित्त राज्यमंत्री ने लोकसभा में कहा कि सरकारी बैंकों को मिले मिनिमम बैलेंस पेनल्टी में पिछले वित्त वर्ष के मुकाबले में कमी आई है.

इसकी एक वजह स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआई) द्वारा बचत खाते में मिनिमम बैलेंस बरकरार न रखने पर 1 अक्टूबर 2017 से कम किया गया जुर्माना भी है.

बेसिक सेविंग्स बैंक डिपॉजिट खातों (BSBD) पर नहीं लगता है जुर्माना-ठाकुर ने बताया कि बेसिक सेविंग्स बैंक डिपॉजिट खातों (BSBD Accounts) में मिनिमम मंथली बैलेंस नहीं रखने पर बैंक कोई जुर्माना नहीं लेते हैं. इनमें प्रधानमंत्री जनधन योजना के तहत खुले खाते (PMJDY Accounts) भी शामिल हैं.

ये भी पढ़ें- SBI ने मिनिमम बैलेंस नहीं रखने पर पेनल्टी 75% तक घटाई, 25 करोड़ लोगों को लाभ

ये भी पढ़ें-खुशखबरी! एक बार फिर सोने की कीमतों में आई बड़ी गिरावट, जानें 10 ग्राम के रेट्स

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 26, 2019, 12:46 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...