अब आपका घर दिलाएगा आपको घर बैठे पेंशन, जानें SBI की खास स्कीम के बारे में सबकुछ

आज हम आपको एक ऐसे प्लान के बारे में बता रहे हैं जिसको जानने के बाद आपको रिटायरमेंट के बाद की टेंशन खत्म हो जाएगी. SBI में अगर आपका अकाउंट है तो रिटायरमेंट के बाद आपके घर से ही आपकी पेंशन का इंतज़ार हो जाएगा.

News18Hindi
Updated: August 9, 2019, 8:18 AM IST
अब आपका घर दिलाएगा आपको घर बैठे पेंशन, जानें SBI की खास स्कीम के बारे में सबकुछ
आज हम आपको एक ऐसे प्लान के बारे में बता रहे हैं जिसको जानने के बाद आपको रिटायरमेंट के बाद की टेंशन खत्म हो जाएगी. SBI में अगर आपका अकाउंट है तो रिटायरमेंट के बाद आपके घर से ही आपकी पेंशन का इंतज़ार हो जाएगा.
News18Hindi
Updated: August 9, 2019, 8:18 AM IST
घर खरीदने में लोगों की पूरी जमा पूंजी लग जाती है. जिसके बाद उनके पास रिटायरमेंट (Retirement) के बाद घर चलाने के पैसे भी पूरे नहीं हो पाते हैं. यह समस्य खास कर उन लोगों के लिए उत्पन्न होती है जो प्राइवेट नौकरी (Private Job) कर रहे होते हैं और अपने भविष्य को लेकर चिंतित होते हैं. आज हम आपको एक ऐसे प्लान के बारे में बता रहे हैं जिसको जानने के बाद आपको रिटायरमेंट के बाद की टेंशन खत्म हो जाएगी. SBI में अगर आपका अकाउंट है तो रिटायरमेंट के बाद आपके घर से ही आपकी पेंशन का इंतजाम हो जाएगा. जानें कैसे आपको पेंशन दिलाएगा SBI.

रिटायरमेंट के बाद आपका घर भी आपके लिए पेंशन के तौर पर हर माह एक नि‍श्चित रकम का इंतजाम कर सकता है. भारतीय स्‍टेट बैंक यानी SBI बैंक मोर्गेज स्‍कीम के तहत आपको हर माह एक निश्चित रकम का विकल्‍प देती है. आइए आपको बताते हैं क्या है ये स्कीम और कैसे ले सकते हैं आप इसका फायदा.



रिवर्स मोर्गेज स्‍कीम क्या है?

बैंकों की रिवर्स मोर्गेज स्‍कीम 60 वर्ष से अधिक उम्र के व्‍यक्तियों को नियमित इनकम का विकल्‍प देती है. इसके लिए उनके पास अपना घर होना चाहिए. इस स्‍कीम के तहत बैंक घर के ओनर को रेजीडेंशियल प्रॉपर्टी अगेंस्‍ट हर माह एक तय रकम देता एक तय समय तक देता है. इसके बदले में रेजीडेंसियल प्रॉपर्टी बैंक के पास गिरवी रहती है.

ये भी पढ़ें: बड़ी खबर! अब 4 घंटे पहले पहुंचना होगा एयरपोर्ट, जानिए क्यों

इस स्‍कीम के तहत मालिक को बैंक को यह पैसा वापस नहीं करना होता है. बैंक रेजीडेंसियल प्रॉपर्टी गिरवी रखने पर हर माह कितना पैसा देगा, यह प्रॉपर्टी की कीमत पर निर्भर करता है. इसके अलावा मालिक अपने घर में रह सकता है. रिवर्स मोर्गेज स्‍कीम के तहत अपना घर गिरवी रखने वाले व्‍यक्ति की मृत्‍यु के बाद घर बैंक का हो जाता है. अगर उस व्‍यक्ति के परिवार वाले चाहें तो बैंक को घर की कीमत चुका कर घर खरीद सकते हैं.
Loading...

कौन उठा सकता है स्कीम का फायदा
कोई भारतीय जिसकी उम्र 60 वर्ष है इस स्कीम के के तहत अपना घर गिरवी रखने के लिए आवेदन कर सकता है. अगर पति और पत्नी मिल कर स्कीम के तहत आवेदन कर रहे हैं तो पत्नी की उम्र कम से कम 58 साल होनी चाहिए. इस स्कीम के तहत बैंक 10 से 15 साल के लिए आवेदक को हर माह एक तय रकम देता है. एबीआई इस स्कीम के तहत 3 लाख रुपए से 1 करोड़ रुपए तक का लोन देता है. महिलाओं ओर अन्य लोगों को एसबीआई इस स्कीम के तहत 11 फीसदी ब्याज दर पर लोन देता है. वहीं एसबीआई पेंशनर्स को सालाना 10 फीसदी ब्याज दर पर यह लोन मिलता है.

किसके लिए फायदेमंद
अगर किसी के पास रिटायरमेंट के बाद अपनी जरूरतों को पूरा करने के लिए इनकम का कोई स्रोत नही है और उसके पास अपना घर है तो उस व्यक्ति के लिए यह स्कीम काम की हो सकती है. वह व्यक्ति इस स्कीम के तहत अपना घर गिरवी रख कर बैंक से हर माह एक तय रकम ले सकता है और रिटायरमेंट के बाद आराम की जिंदगी जी सकता है. उस व्यक्ति को अपनी न्यूनतम जरूरतें पूरी करने के लिए मुश्किलों का सामना नहीं करना होगा.

ये भी पढ़ें: FD नहीं पोस्ट ऑफिस की स्कीम में करें निवेश मिलगा डबल ब्याज
First published: August 9, 2019, 7:02 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...