लाइव टीवी

SBI ऐसे बढ़ाएगा आपके बैंक खाते में रखा पैसा! शुरू की नई स्कीम

News18Hindi
Updated: November 12, 2018, 3:47 PM IST
SBI ऐसे बढ़ाएगा आपके बैंक खाते में रखा पैसा! शुरू की नई स्कीम
देश का सबसे बड़ा सरकारी बैंक भारतीय स्टेट बैंक (SBI) अपने ग्राहकों के लिए पैसे से पैसा बनाने की तरकीब लेकर आया है.

देश का सबसे बड़ा सरकारी बैंक भारतीय स्टेट बैंक (SBI) अपने ग्राहकों के लिए पैसे से पैसा बनाने की तरकीब लेकर आया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 12, 2018, 3:47 PM IST
  • Share this:
देश का सबसे बड़ा सरकारी बैंक भारतीय स्टेट बैंक (SBI) अपने ग्राहकों के लिए पैसे से पैसा बनाने की तरकीब लेकर आया है. बैंक ने ओडिशा की राजधानी भुवनेश्वर में अपना 95 वां वेल्थ सेंटर खोला है. आइए जानें इसके बारे में...

क्या है स्कीम- बैंक ने अपने ट्विटर हैंडल से जानकारी दी है कि बैंक ‘SBI Wealth’ के तहत बैंक दो लाख नए कस्टमर्स को कवर करने की योजना बना रहा है. अगले दो साल में बैंक इस योजना को बड़े पैमाने पर लांच करेगा और लाखों लोग इसका फायदा उठा सकेंगे.

इस योजना के तहत ग्राहकों को बेस्ट-इन-क्लास बैंकिंग और इंवेस्टमेंट सर्विस मुहैया कराई जाएगी. इसके लिए रिलेशनशिप मैनेजर्स की एक टीम काम करेगी. ग्राहकों को फंड देने वाली सभी प्रमुख कंपनियों के सबसे बेहतर ऑफर्स दिए जाएंगे. ग्राहकों के पास इंटरनेट बैंकिंग, मोबाइल और रिमोट रिलेशनशिप मॉडल के जरिए निवेश करने, लेनदेन करने और अपना पोर्टफोलियो देखने की सहूलियत होगी. आपको बता दें कि अब तक बैंक सिर्फ बड़े निवेशकों (High Net-worth Individuals) के लिए स्कीम चलाता था.

बैंक का लक्ष्य है 2020 तक 2 लाख से ज्यादा नए ग्राहकों को जोड़ने का है. यह आंकड़ा मौजूदा कस्टमर बेस से छह गुना अधिक होगा. फिलहाल 35,000 ग्राहक इस योजना का लाभ उठा रहे हैं.




News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पैसा बनाओ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 12, 2018, 3:47 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर

भारत

  • एक्टिव केस

    5,709

     
  • कुल केस

    6,412

     
  • ठीक हुए

    503

     
  • मृत्यु

    199

     
स्रोत: स्वास्थ्य मंत्रालय, भारत सरकार
अपडेटेड: April 10 (08:00 AM)
हॉस्पिटल & टेस्टिंग सेंटर

दुनिया

  • एक्टिव केस

    1,151,685

     
  • कुल केस

    1,604,072

    +788
  • ठीक हुए

    356,656

     
  • मृत्यु

    95,731

    +38
स्रोत: जॉन हॉपकिंस यूनिवर्सिटी, U.S. (www.jhu.edu)
हॉस्पिटल & टेस्टिंग सेंटर