अपना शहर चुनें

States

SBI ने कोरोना लॉकडाउन में फिर किया करोड़ों ग्राहकों को अलर्ट! नए तरीके से पैसे चोरी होने की दी जानकारी

आखिर कोरोना के बाद क्यों आ रहा है भारतीयों की आदतों में बड़ा बदलाव? अब क्यूं लगा रहे हैं पैसा जमा करने पर ध्यान
आखिर कोरोना के बाद क्यों आ रहा है भारतीयों की आदतों में बड़ा बदलाव? अब क्यूं लगा रहे हैं पैसा जमा करने पर ध्यान

SBI ने ग्राहकों को ऑनलाइन बैंकिंग के लिए स्ट्रांग पासवर्ड बनाने की सलाह दी है. एसबीआई ने ट्वीट के जर‍िए पासवर्ड स्ट्रांग रखने की सलाह दी है. SBI ने ग्राहकों को अपने पासवर्ड अपडेट करने के लिए कहा है.

  • Share this:
नई दिल्ली. देश का सबसे बड़ा बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) ग्राहकों को अपने खाते को सुरक्षित रखने के लिए जानकारियां देता रहा है. हाल ही में SBI ने ग्राहकों को ऑनलाइन बैंकिंग के लिए स्ट्रांग पासवर्ड बनाने की सलाह दी है. एसबीआई ने ट्वीट के जर‍िए पासवर्ड स्ट्रांग रखने की सलाह दी है. SBI ने ग्राहकों को अपने पासवर्ड अपडेट करने के लिए कहा है. ट्वीट के जरिए SBI ने स्ट्रांग पासवर्ड बनाना सिखाया है. साथ ही यह भी ध्यान रखने को कहा कि वह परिवार के सदस्यों का नाम ना हो, क्योंकि इससे आपके अकाउंट की सुरक्षा खतरे में पड़ सकती है. इस तरह के पासवर्ड का अनुमान लगाना हैकर्स के लिए आसान होता है.



ये भी पढ़ें :- आम आदमी को बड़ा झटका! TV, फ़्रिज, AC और होंगे महंगे, नहीं मिलेगा डिस्काउंट
SBI ने ट्वीट के जरिए लोगों से किसी भी अनाधिकृत मोबाइल ऐप (unverified App) का इस्तेमाल नहीं करने की सलाह दी है. एसबीआई ने कहा है कि इस तरह के मोबाइल ऐप जालसाजों को आपके डिवाइस पर नियंत्रण रखने के साथ ही आपके कॉन्टैक्ट, पासवर्ड और फाइनेंशियल अकाउंट्स तक का ऐक्सेस दिला देते हैं.





 एटीएम कार्ड की क्लोनिंग
कोरोना काल में ऑनलाइन फ्रॉड, एटीएम और बैंकिंग फ्रॉड की संख्या बढ़ती जा रही है. हाल में एटीएम क्लोनिंग (ATM Cloning Fraud) की घटनाओं में इजाफा देखने को मिला है. इसको देखते हुए SBI (State Bank Of India) ने अपने कस्टमर्स को वार्निंग जारी करते हुए एटीएम कार्ड होल्डर्स (ATM Card Holders) को क्लोंनिंग फ्रॉड्स (Cloning Fraud) से बचने की सलाह दी है.





SBI ग्राहक इन टिप्स को ध्यान में रखेंगे तो नहीं होंगे ठगी का शिकार
>> अपने बैंक की वेबसाइट पर जाने के लिए आप सीधे एड्रेस बार पर बैंक की वेबसाइट का यूआरएल टाइप करें.

>> मोबाइल पर प्‍ले स्टोर, से कोई भी एप्लीकेशन डाउनलोड करते समय सतर्क रहें.

>> ये सभी कई तरह की ऑनलाइन बैंकिंग एप्लीकेशन ऑफर करते हैं. हो सके तो एप्लीकेशन डाउनलोड करने के बाद उसे अच्छे से जांच लें कि आपने ओरिजनल एप्लीकेशन ही डाउनलोड की है की नहीं.

>> अगर आपको किसी ने किसी ई मेल या मैसेज के जरिए बैंक का लिंक भेजा हो उस पर कभी न क्लिक करें. लिंक पर क्लिक करने पर आपका फोन या सिस्टम हैक किया जा सकता है.

>> एसबीआई किसी भी ग्राहक से फोन, मैसेज या मेल के जरिए कोई पर्सनल जानकारी नहीं मांगता है.

ये भी पढ़ें :- चेक बाउंस समेत ये मामले नहीं मानें जाएंगे अपराध, इनको मिलेगी राहत

>> ऐसे में अगर आपके पास इस तरह का कोई मेल, मैसेज या फोन आया हो तो आप इसका कोई जवाब न दें.

>> आप इसकी शिकायत तुरंत on report.phishing@sbi.co.in पर दें.

>> अगर आपको कोई इनाम जीतने की खबर मेल से मिलती है और आपसे आपकी पर्सनल जानकारी मांगी जाती है तो कभी न दें. इसके जरिए आपसे ठगी का प्रयास किया जा सकता है.

>> इस बात का ध्यान रखें की आपके सिस्टम में कोई फायर वॉल काम कर रही हो. आप अपना एंटीवायरस समय समय पर अपडेट करते रहे. अपने कंप्यूटर को नियमित तौर पर स्कैन करें. अगर कोई वायरस मिलता है तो तुरंत उसे सिस्टम से हटा दें.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज