• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • अब खेती की जमीन खरीदने में भी मदद करेगा SBI, देगा 85% तक लोन, बस पूरी करनी होंगी ये शर्तें

अब खेती की जमीन खरीदने में भी मदद करेगा SBI, देगा 85% तक लोन, बस पूरी करनी होंगी ये शर्तें

इस साल धान खरीदने के लिए पीपी बैग्स की छूट दी गई है.

इस साल धान खरीदने के लिए पीपी बैग्स की छूट दी गई है.

स्‍टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) ने छोटे और भूमिहीन किसानों को जमीन खरीदने के लिए आर्थिक मदद देने को लैंड पर्चेस स्‍कीम (SBI Land Purchase Scheme) शुरू की है. इसके तहत भूमिहीन कृषि श्रमिकों को जमीन खरीदने के लिए अधिकतम 5 लाख रुपये तक कर्ज (Loan) मिलेगा.

  • Share this:
    नई दिल्‍ली. कोरोना वायरस (Coronavirus Crisis) फैलने के बाद बड़ी संख्‍या में लोग गांव-कस्‍बों की ओर लौट गए हैं. इसके बाद दिनों-दिन बिगड़ते हालात के बीच शहर लौटना भी नहीं चाहते हैं. वहीं, लॉकडाउन (Lockdown) के कारण ठप हुई आर्थिक गतिवि‍धियों के कारण लाखों-करोड़ों लोगों का रोजगार भी छिन गया है. ऐसे में अगर आप शहरों से लौटकर गांव में खेती करना चाहते हैं तो देश का सबसे बड़ा कर्जदाता स्‍टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) आपकी मदद करेगा. बैंक ने इसके लिए एसबीआई लैंड पर्चेस स्‍कीम (SBI Land purchase scheme) शुरू की है. स्कीम के तहत आपको खेती योग्य जमीन (Agriculture Land) खरीदने के लिए बैंक 85 फीसदी तक लोन (Loan) उपलब्‍ध कराएगा यानी आपको कुल कीमत का सिर्फ 15 फीसदी हिस्‍सा ही चुकाना होगा.

    कर्ज चुकाने की अवधि 7-10 साल, इसके बाद ही मिलेगा भूमि का मालिकाना हक
    एसबीआई की इस स्‍कीम के तहत आपको 7 से 10 साल में कर्ज चुकाना (Repayment) होगा. इसके बाद जमीन पर आपका मालिकाना अधिकार हो जाएगा. स्कीम का मकसद छोटे व सीमांत किसानों और भूमिहीन कृषि श्रमिकों को खेती योग्‍य भूमि खरीदने के लिए लोन उपलब्‍ध कराना है. स्कीम के तहत लोन पाने की लिए अप्लाई करने वाले पर कोई भी कर्ज बकाया नहीं होना चाहिए. स्कीम के तहत किसान को खेती की जमीन खरीदने के लिए जमीन के निर्धारित मूल्य का 85 फीसदी लोन के तौर पर मिल जाता है, जो अधिकतम 5 लाख रुपये है. इस 85 फीसदी के लिए भूमि की कीमत बैंक ही तय करेगा.

    ये भी पढ़ें- देश की इन दो बड़ी कंपनियों ने किया विलय का ऐलान, बनेगी तीसरी सबसे बड़ी इंश्‍योरेंस कंपनी

    2.5 एकड़ से कम सिंचित भूमि वाले किसान लोन के लिए कर सकते हैं आवेदन
    स्‍कीम के तहत 2.5 एकड़ से कम सिंचित जमीन वाले किसान लोन के लिए आवेदन कर सकते हैं. इसके अलावा भूमिहीन किसान भी स्‍कीम के तहत कर्ज पाने के लिए आवेदन कर सकते हैं. योजना में 5 एकड़ से कम असिंचित भूमि वाले किसान भी आवेदन कर सकते हैं. वहीं, ये जरूरी है कि लोन के लिए अप्लाई करने वाले व्‍यक्ति का कर्ज चुकाने का रिकॉर्ड बेहतर होना चाहिए. लैड पर्चेस स्‍कीम के तहत आवेदन करने वाले का कम से कम 2 साल का लोन चुकाने का अच्छा रिकॉर्ड होना चाहिए. दूसरे बैंको के अच्छे उधारकर्ता भी आवदेन कर सकते हैं. हालांकि, इसके लिए वे दूसरे बैंकों का बकाया चुका चुके हों.

    ये भी पढ़ें- एक दिन में 83 करोड़ रुपये का सैनिटाइजर इस्‍तेमाल कर रहे हैं भारतीय, 5 महीने में 30 हजार करोड़ का हुआ बाजार

    एसबीआई की इस योजना में किसानों को मिलेगा 1-2 साल का फ्री टाइम
    स्कीम में आपको 1 से 2 साल का फ्री समय भी मिलता है. इस टाइम में आप अपनी जमीन को कृषि योग्य बना सकते हैं. स्कीम के तहत भूमि पर उत्पादन शुरू होने से लेकर अधिकतम 9-10 वर्ष तक किसान छमाही किस्तों में लोन का भुगतान कर सकते हैं. अगर भूमि पहले से विकसित है तो फ्री टाइम अधिकतम 1 वर्ष होगा. वहीं, जो भूमि खरीदे जाने के तुरंत बाद उत्पादन योग्य नहीं है यानी उत्पादन योग्य बनाना है, तो उसके लिए फ्री टाइम 2 साल होगा. भूमि पर उत्पादन शुरू होने से पहले के इस निर्धारित फ्री टाइम में किसान को कोई किस्त नहीं चुकानी होगी.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज